Translate

दुनिया के सबसे अमीर और क्रांतिकारी आदमी एलन मस्क का जीवन परिचय

दुनिया के सबसे अमीर और क्रांतिकारी आदमी एलन मस्क का जीवन परिचय

Elon Musk Biography In Hindi | सदी के सबसे क्रांतिकारी आदमी एलन मस्क की जीवनी

Elon musk biography in hindi, elon musk,elon musk success story
एलन मस्क की जीवनी


खुद वो बदलाव बनिये जो आप दुनिया में देखना चाहते हैं। ये बात आज से बहुत सालों पहले महात्मा गांधी ने कहा था और इन वाक्यों को किसी ने हकीकत में बदला है तो वो एलन मस्क है।


आज हिंदी में एलन मस्क की जीवनी के बारे में बात करेंगे। साथियों उनके जैसे लोग सदियों में दो-चार लोग ही पैदा होते हैं। उनके जैसे लोग वे लोग होते हैं जो फ्यूचर को कंट्रोल करना जानते हैं।


एलन मस्क अफ्रीकी मूल के इन्वेस्टर, रॉकेट साइंटिस्ट और बिज़नेस मैन है। आज वे अपने दूरगामी सोच के वजह से पूरी दुनिया में एक अलग ही पहचान बनाई है। एलोन मस्क का सोच हमेशा से इंसानों के परेशानियों दूर करने पर ही केंद्रित रहा है। इसी सोच की वजह से आज एलन मस्क दुनियाभर के जीनियस बिज़नेस मैन के नाम से भी जाने जाते हैं।


साथियों उनके कम्पनी में कोई ये कभी नहीं बोल सकता है कि सर ये नहीं हो सकता है, ऐसा करना सम्भव नहीं है। जो ऐसा बोल देता है उसका कम्पनी में आखिरी दिन होता है। उनका यही कहना है कि जो करना होगा वो जरूर होगा, उसको करना ही है बस ये सोचो कि कैसे होगा। ये मत कहो कि नहीं होगा।


इन्होंने रॉकेट साइंस की औपचारिक रूप से कोई पढ़ाई नहीं की है। बल्कि किताबों को पढ़ पढ़ करके रॉकेट साइंस को समझा। बचपन से ही ये किताबें पढ़ने के बहुत शौकीन थे।


आज के समय में एलन मस्क फोर्ब्स के अनुसार बिल गेट्स को पछाड़ते हुए दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन गए हैं। लेकिन यहाँ एक बात कहना चाहूंगा कोई भी आदमी जन्म से ही अमीर नहीं होता। सफलता के जिस मुकाम पर एलन मस्क आज खड़े हैं, उस मुकाम को हासिल कर लेना सबके बस की बात नहीं है। सालों मेहनत करने पड़ते हैं तब जाकर के वो मुकाम हासिल होता है।


ठीक उसी तरह से एलन मस्क बचपन से ही काफी मेहनत और संघर्ष किये। आज उसी मेहनत और संघर्ष के बदौलत एलन मस्क लाखों युवाओं के लिए प्रेरणा बन चुके हैं। तो चलिए दोस्तों ऐसे एलन मस्क की जीवनी के बारे में पूरी विस्तार से जानने की कोशिश करते हैं।


Elon Musk Full Success History In Hindi | एलन मस्क के सफलता की कहानी

Elon musk history in hindi,elon musk success life story
Elon Musk


एलन मस्क की कहानी की शुरुआत होती है 1971 से। जब साउथ अफ्रीका के प्रिटोरिया शहर में 28 जून 1971 को एलन मस्क का जन्म हुआ था। एलन मस्क के पिता का नाम एरोल मस्क था और वे एक इंजीनियर होने के साथ-साथ एक पायलट भी थे। उनके माता का नाम मेई मस्क था जो कि एक मॉडल और आहार विशेषज्ञ थी।


एलन मस्क बचपन से ही पढ़ने में काफी दिलचस्पी रखते थे और हमेशा ही किताबों को पढ़ने में लगे रहते थे। बचपन से ही एलन मस्क इतनी किताबें पढ़ लिये थे कि जो शायद एक ग्रेजुएट आदमी भी नहीं पढ़ पाता है।


Elon Musk Education in Hindi | एलन मस्क की शिक्षा


इन्होंने अपनी शरुआती शिक्षा वाटरक्लूफ हाउस प्रिपरेटरी स्कूल, ब्र्याँस्टन हाई स्कूल, प्रीटिरिआ बॉयज हाई स्कूल से पूरी की।


साथियों सिर्फ 10 साल को उम्र में उनको कम्प्यूटर में भी काफी दिलचस्पी होने लगी थी और 12 साल की उम्र में उन्होंने घर बैठे-बैठे कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग सिख कर एक गेम बना डाली और उस गेम को एक ऑनलाइन कम्पनी को 500$ में बेच डाला।


बचपन से ही उनका सबसे ज्यादा फोकस इस बात पर रहता था कि सबसे बड़ी समस्या है उसका हल ढूँढना। ध्यान दीजियेगा एलन मस्क के विचार कहते हैं कि प्रॉब्लम्स कोई प्रॉब्लम नहीं है, बल्कि सबसे बड़ी प्रॉब्लम है उसका सलूशन ढूँढना।


ये भी पढ़ें:- महान संत स्वामी विवेकानंद की प्रेणादायक जीवनी


यहीं से एलन मस्क की प्रतिभा दिखने लगी थी। वो बचपन में Isaac Asimov की किताबें पढा करते थे और शायद यहीं से उनको टेक्नोलॉजी के प्रति इतना दिलचस्पी होने लगी थी। बचपन में स्कूल के दिनों में लड़के एलन मस्क को काफी परेशान करते थे।


एक बार तो स्कूल के सीढ़ियों से एलन मस्क को कुछ लड़के धक्का दे दिया और उनको मार कर बेहोश कर दिया। इसके लिए उन्हें कई दिनों तक हॉस्पिटल में भर्ती रहना पड़ा था। लेकिन दोस्तों एलन मस्क को बचपन में भले ही इतनी सारी परेशानियों का सामना करना पड़ा था, पर आगे चलकर उन्होंने आगे उन्होंने चलकर मानवता के हित में कई सारे सराहनीय कार्य किये।


एलन मस्क ने 17 साल की उम्र में क्वीन यूनिवर्सिटी से अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई शुरू की और दो साल पढ़ने के बाद वे यूनिवर्सिटी ऑफ पेन्सिलवेनिया में पढ़ने के लिए चले गए। जहाँ उन्होंने 1992 में फिजिक्स में बैचलर ऑफ साइंस की डिग्री हासिल की।


1995 में एलन मस्क पीएचडी करने के लिए कैलिफोर्निया चले गए। लेकिन वहाँ पर रिसर्च शुरू करने के बाद मात्र दो दिन के अंदर अपनी पढ़ाई छोड़ दी और बिज़नेस की तरफ अपना कदम बढ़ा लिया।


एलन मस्क के प्रेणादायक सफर की कहानी | Elon Musk Motivational Success Life Story in Hindi


1995 में एलन मस्क ने पहला कम्पनी अपने भाई के साथ Zip2 नामक एक सॉफ्टवेयर कम्पनी शुरू किये। जल्द ही Zip2 में इनको फंडिंग भी मिल गयी। शुरु में इन्होंने अपने पिता के पैसों से शुरू किया बाद में इनको बाहरी फंडिंग भी मिलने लगी। आगे चलकर बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स बढ़ते चले गए।


शुरू में इनके पास उतना अनुभव था नहीं इसलिए बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने सोचा कि ये सीईओ बनने के लायक नहीं है इसलिए इनको सीईओ पद से हटा दिया गया।


जिसे आगे चलकर Compaq ने 307 मिलियन डॉलर की बड़ी रकम देकर खरीद लिया। इसके बिक जाने के बाद Zip2 में अपने 7 प्रतिशत की शेयर के बदौलत एलन मस्क को 22 मिलियन डॉलर की हिस्सेदारी मिली।


ये चाहते तो इन पैसों को घर में रख करके अमीर आदमी के जैसा घूम सकते थे लेकिन एलन मस्क ने इन पैसों को आगे इन्वेस्टमेंट करते गए। दोस्तों फिर 1999 में इन पैसों में से उन्होंने 10 मिलियन डॉलर का इन्वेस्ट कर X.com की स्थापना किया, जो ऑनलाइन ट्रांजेक्शन की ऑनलाइन बैंकिंग कम्पनी थी।


एक साल बाद यह कम्पनी confinity नाम की एक कम्पनी से जुड़ गई। जो आगे चलकर PayPal नाम की कम्पनी से मशहूर हुआ। तभी से लेकर अब तक paypal पूरी दुनिया में मनी ट्रांसफर का काफी लोकप्रिय माध्यम बना हुआ है।


दुनिया में जिस paypal को आज लोग जानते हैं उसको इतना बड़ा रूप एलन मस्क ने ही दिया था। लेकिन एक बार उनके कम्पनी के CTO(Chief Technical Officer) के साथ उनकी बहसबाजी हो गयी। एलन मस्क उस समय उस कम्पनी के सीईओ थे और वो CTO था।


उस बहस के कारण CTO ने बाकी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को अपने साथ कर लिया। संयोगवश उसी समय एलोन मस्क की शादी हुई थी। जब एलन मस्क पति-पत्नी बाहर हनीमून पर गए थे उसी समय इनको कम्पनी से बाहर कर दिया गया।


साथियों 2002 में ebay ने Paypal को डेढ़ बिलियन डॉलर में खरीद लिया। जब एलन मस्क इस कम्पनी से अलग हुए तो उस समय इनका उस कम्पनी में शेयर काफी बढ़ चुका था और इनको 165 मिलियन डॉलर मिले।


ये भी पढ़ें:- दुनिया के सबसे बुद्धिमान व्यक्ति अल्बर्ट आइंस्टीन की कहानी

एलन मस्क यहीं पर रुकने वाले नहीं थे। इन्होंने फिर सोचा कि मंगल ग्रह पर पेड़ पौधों को उगाऊंगा और लोगों को एक दिन इस ग्रह पर लाऊंगा और जीवन बसाउंगा। इसके लिए वे रशिया चले गये। इन्होंने वहां जाकर कहा एक ऐसे रॉकेट की जरूरत है जिससे कि मंगल ग्रह पर जाया जा सकें। 


उस समय उनको 8 मिलियन डॉलर में एक रॉकेट मिल रहा था। अब ये सोचने लगे कि एक रॉकेट के लिए इतना पैसा ये तो बहुत महंगा है। ये सुनकर उन्होंने इस प्रोजेक्ट को रद्द कर दिया।


वापस आकर एलन मस्क सोचने लगें की क्यों न ऐसी कम्पनी खुद ही बना लूँ। इसके बाद उन्होंने फिर खुद से ही पढ़ना शुरू किया। उन्होंने 2002 में अपने जमा किये हुए पैसों में से 100 मिलियन डॉलर की बड़ी रकम के साथ एलन मस्क ने SpaceX कम्पनी को अपने दम पर खुद पढ़-पढ़कर बनाया।

एलन मस्क अभी भी रुकने वाले नहीं थे। इसके बाद उन्होंने इनके मन मे ये बैठ गया था कि जब गाड़ी कमर्शियल बन सकती है तो अंतरिक्ष में जाने के लिए ये क्यों नहीं कमर्शियल बन सकता है।


लेकिन इनके सामने एक बड़ी मुसीबत ये थी कि एक रॉकेट इतना महंगा हो रहा था। इसलिए उन्होंने सोचा कि क्यों न ऐसा रॉकेट बनाया जाए जिसको एक बार उपयोग में लाने के बाद उसको दोबारा उपयोग किया जा सके।


इनके महानता का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि रॉकेट साइंस की पढ़ाई इन्होंने नहीं की थी लेकिन इनको जानकर ये पता चलता है कि एक आदमी इंटरनेट पर या किताब को पढ़ कर खुद कुछ भी सिख सकता है और उन्होंने खुद ऐसा कर के दिखाया।


साथियों एलन मस्क का ये लक्ष्य ये नहीं था कि रॉकेट को कैसे ऑर्बिट में पहुंचाना है बल्कि उनका लक्ष्य ये था कि कम रुपये में कैसे रॉकेट को पहुंचाया जाए और फिर उसको दुबारा लेकर उपयोग के लायक बनाया जा सके। शुरू में तो इनपर किसी को विश्वास ही नहीं हुआ। सबने कहा कि ये सम्भव ही नहीं है कि एक प्राइवेट कम्पनी ऐसा कर सकती है।


ठीक हुआ भी वैसा ही जब इन्होंने पहला रॉकेट लांच किया तो शुरू में ही इंजन में आग लग गयी और इनको बहुत बड़ा नुकसान हुआ। दूसरी बार फिर से प्रयास किया लेकिन इनका रॉकेट स्पेस में तो चला गया पर ऑर्बिट में नहीं पहुंच पाया। तीसरी बार स्पेस में जाते ही रॉकेट गायब हो गया। तीन बार में इनका पूरा पैसा डूब गया था। कहीं से इनको पैसा मिल नहीं रहा था।


लेकिन एलन मस्क ने कहा एक बार और प्रयास करते हैं। इनके लक्ष्य के प्रति क्या पागलपन था ये बात हमें इनसे सीखना चाहिए। उन्होंने घोषणा कर दिया कि चौथा लांच जल्द ही होगा। इसके लिए एलन मस्क अपना घर ज्यादाद सब बेचकर किराये के रूम मे रहने लगें। बहुत लोगों से कर्जे लेकर उन्होंने इस काम को शुरू किया।


आखिरी बार प्रयास किया और इस बार एलन मस्क न केवल सफल हुये बल्कि डेढ़ बिलियन डॉलर का नासा से प्रोजेक्ट भी ले लिया और नासा ने कहा आप हमारे लिए काम कीजिये।


साथियों आप जरा एक बात सोचिए नासा हो या फिर इसरो ये सब सरकारी पैसों के दम पर काम करते हैं लेकिन आज तक किसी ने भी दुबारा उपयोग में लाया जा सकने वाला रॉकेट के बारे में आजतक किसी ने नहीं सोचा था।


पर एलन मस्क ने अपने दम पर, बिना कोई पढ़ाई किये खुद से पढ़कर वो कर दिखाया जिसने कभी सोचा भी नहीं था। मस्क ने अपने एक इंटरव्यू में बताया कि इंसानों को 2030 तक मंगल ग्रह पर बसाने की पूरी तैयारी में है।


Elon Musk Electric Car Company | Lekin Musk Tesla Company Story In hindi


इसी दौरान एलन मस्क इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कम्पनी टेस्ला मोटर भी पैसा इन्वेस्ट कर दिया और पूरी तरह कम्पनी के सारे कामों में शामिल भी गए। जल्द ही इनके काम को देखते हुए इनको कम्पनी का सीईओ भी बना दिया गया।


फिर उन्होंने टेस्ला कम्पनी में इलेक्ट्रिक गाड़ी बनाने में जोर दिया। पहली बार जब गाड़ी बनाई तो तय रुपयों से ज्यादा महंगी हो गयी। ये पचास हजार डॉलर में बनाना चाहते थे लेकिन इसका खर्च एक लाख नौ हजार डॉलर हो गयी जिससे गाड़ी नहीं बिका।


दूसरी बार बनाई कुछ दाम कम हुआ लेकिन तीसरी बार में सही दाम में गाड़ी बनकर तैयार हो गयी। ये गाड़ी पूरी दुनिया में खूब बहुत तेज से बिकी। दोस्तों आपको तो शायद पता ही होगा कि टेस्ला कम्पनी दुनिया के सबसे बड़ी इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कम्पनी में से एक है। 2008 के बाद से ही एलन मस्क टेस्ला कम्पनी के सीईओ के पद पर कार्यरत है।


2006 में एलन मस्क ने अपने कजिन की कम्पनी सोलरसिटी को वित्तीय सहायता कर इसे शुरू करने में अहम रोल अदा किया। दोस्तों 2013 में सोलरसिटी यूनाइटेड स्टेट में सोलर पावर सिस्टम मुहैया कराने वाली दूसरी सबसे बड़ी कम्पनी बन गयी।


ये भी पढ़ें:- भारत के मिसाइल मैन अब्दुल कलाम की जीवनी


आगे चलकर 2016 में टेस्ला कम्पनी ने सोलरसिटी को अपने अंतर्गत ले लिया और आज के समय में सोलरसिटी पूरी तरह से टेस्ला कम्पनी के अंतर्गत ही काम करती है।


दिसंबर 2016 में एलोन मस्क ने एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस रिसर्च कम्पनी की शुरुआत किया। जिसका नाम OpenAI. रखा गया। जिसके तहत वे मानवता के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को फायदेमंद और सुरक्षित बनाना चाहते हैं।


2016 में एलन मस्क Neuralink नाम की एक कम्पनी के को-फाउंडर बनें। यह कम्पनी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और इंसान के दिमाग को जोड़ने में लगी हुई है।


ये जहाँ भी गए फेलियर इनका पीछा नहीं छोड़ा। लेकिन हर बार एलन मस्क अपने फेलियर को मात देकर उससे भी बड़ी सफलता हासिल की। इनका मानना है कि फेलियर एक ऑप्शन है। इनके पास फेलियर से सफलता हासिल करने की गजब की कला है।


Elon Musk All Company List | एलन मस्क की कम्पनी

Elon musk companies,elon musk all company list
Elon Musk


एलन मस्क की कम्पनी के लिस्ट में कुछ बड़ी कम्पनियां इस प्रकार है-
Zip2
X.Com
PayPal
SpaceX
SolarCity
Tesla
Hyperloop
OpenAI.
The Boring Company
Neuralink

जिनमें से SpaceX,SolarCity,Tesla और Hyperloop की चर्चा पूरी दुनिया कर रही है।


Elon Musk Family | एलन मस्क का परिवार


पिता का नाम: एरोल मस्क

माता का नाम: मेई मस्क

भाई: कम्बल मस्क

बहन: टोस्का मस्क

एलन मस्क की पत्नी | Elon Musk Wife: जस्टिन विल्सन और तालुलाह रिले

Elon Musk Children: नेवडा एलेग्जेंडर मस्क, कई मस्क, ज़ेवियर मस्क, सैक्सन मस्क, ग्रिफ्फिन मस्क, डेमियन मस्क


एलन मस्क के सफलता का राज |Real Fact Of Elon Musk Achievements in Hindi


एलन मस्क के सफलता का राज ये है कि बुद्धिमान व्यक्ति वो है जो अपनी हाइ परफॉर्मेंस टीम को तैयार करते हुए उनकी अंदर और बाहर के मजबूतियों को पहचानता है। इसका मतलब ये हुआ की कभी भी मछली को पेड़ पर नहीं चढ़ाते हमेशा बन्दर को पेड़ पर चढ़ाते हैं, क्योंकि बन्दर अपने आप पेड़ पर चढ़ जाएगा लेकिन मछली ज़िन्दगी भर मेहनत करने के बाद भी नहीं चढ़ेगी।


एलन मस्क के विचार है कि अगर अपने टीम मेम्बर से असाधारण काम करवाना है तो टीम को पॉवरफुल होना जरूरी है। अगर अपने काम के लिए आदमी चुनते हो तो पहली बार में सही आदमी को चुनो इससे आपका काम आसान हो जाएगा। क्योंकि अगर सही आदमी नहीं होगा तो कोई काम अगर नहीं होगा तो वो ये कहकर छोड़ देगा कि शायद ये नहीं हो सकता था।


लेकिन एलन मस्क हमेशा अलग ही सोचते थे। वो कहते थे कि अगर कोई काम पहली बार में सफल नहीं हुआ तो काम नहीं बदलना चाहिए बल्कि काम करने का तरीका बदल लो काम हो जाएगा।


अगर इनको दुनिया का सबसे व्यस्त आदमी कहा जाए तो कोई गलत नहीं होगा, क्योंकि इन्होंने बचपन से ही अकेले रूम में रहकर  दस बारह घण्टे पढ़ाई किये। हफ्ते में एक दिन भी छूटी नहीं लेते, हर रोज दस से पंद्रह घण्टे रोज काम करते हैं।


एलन मस्क के सफलता की कहानी इसलिए अविश्वसनीय है क्योंकि इन्होंने खुद से वो काम करने की लक्ष्य रखते थे जो कोई नहीं करता है। इनका सोचने का तरीका अलग है। इनका कहना था कि वो नहीं करना है जो किया जा सकता है, मुझे वो करना है जो करना चाहिए।


Elon Musk Net Worth in Hindi | एलन मस्क की कुल सम्पति


आज एलन मस्क की कुल सम्पति 190 अरब डॉलर के साथ जेफ बेजोस और बिल गेट्स को पछाड़कर दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन गए हैं। जब पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही थी तब उनको काफी नुकसान झेलना पड़ा था। हर जगह चर्चा होने लगी थी कि एलन मस्क दिवालिया होने वाले हैं। लेकिन उन्होंने न सिर्फ सबको गलत साबित किया बल्कि केवल 2020 में उनकी सम्पति 5 गुना से भी ज्यादा बढ़ गयी। 


उनकी सम्पति साल 2020 में 160 बिलियन डॉलर से भी ज्यादा बढ़ी और इसका परिणाम ये हुआ कि सबको पछाड़ते हुए दुनिया के सबसे अमीर आदमी बन गए। कहते हैं कि मेहनत कभी खाली नहीं जाती ये बात बिल्कुल एलन मस्क पर फिट बैठती है।


एलन मस्क जल्द ही भारत में 2021 में इलेक्ट्रिक गाड़ियां लॉन्च करने जा रहे हैं। आने वाले समय में पेट्रोल और डीजल इंजन की गाड़ियों का खपत बहुत तेजी से कम होने वाला है।


इसलिए इलेक्ट्रिक गाड़ियों की मांग बहुत तेजी से बढ़ रही है। बिना ड्राइवर के चलने वाली गाड़ी बना कर एलोन मस्क पूरी दुनिया में छा गए हैं। एलन मस्क हमेशा से फ्यूचर के बारे में पहले ही सोच लेते हैं और दुनिया इनके बाद सोचती है। एक बार फिर कहना चाहूंगा, अगर एलन मस्क सदी का सबसे क्रांतिकारी आदमी कहा जाए तो कोई गलत नहीं होगा।


एक बात कहना चाहूंगा कि उन्होंने ये साबित कर दिया है कि उनके जैसा सोच रखने वाले व्यक्ति कुछ बड़ा कर के ही दम लेते हैं। वैसे तो आज एलन मस्क को किसी पहचान की जरूरत नहीं है, लेकिन उनका मानना है कि दुनिया भर में अभी भी बहुत सारी ऐसी चीजें हैं जिसे बेहतर करके मानवहित में काम किया जा सकता है।


मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को एलन मस्क की जीवनी के बारे में जानकर काफी प्रेरणा मिली होगी। साथियों अगर आपको एलन मस्क की जीवन कहानी पसन्द आयी हो तो इसे शेयर जरूर कीजियेगा धन्यवाद।


ये भी पढ़ें:- गरीबी से लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति बनने वाले अब्राहम लिंकन की कहानी

Please do not enter any spam link in comment box