Translate

Famous Indian Musician Arijit Singh Biography and Journey In Hindi

Famous Indian Musician Arijit Singh Biography and Journey In Hindi

Famous Indian Musician Arijit Singh Biography and Journey In Hindi | अरिजीत सिंह का जीवन परिचय

Arijit singh biography in hindi,Arijit singh success story in hindi
Arijit Singh Biography

Arijit Singh Biography and Journey in hindi: आज हम जिस फनकार की बात करने जा रहे हैं उनकी गायिकी में वो कमाल की काबिलियत है कि वो अपनी आवाज में वो दर्द और सुरीलापन इतनी आसानी से ले आते हैं जो सबके मन को मोह लेती है।


छोटी सी उम्र में ही वो प्लेबैक सिंगिंग में कदम रखा और कदम रखते ही उन्होंने बड़े-बड़े दिग्गजों के बीच एक अलग पहचान बनाई है। अपने soulful आवाज से उन्होंने बॉलीवुड म्यूजिक इंडस्ट्री में एक अलग क्रांत्ति लायी।


एक ऐसा सिंगर जो हिंदुस्तान के हर एक दिल की धड़कन बन चुका है। अरिजीत सिंह आज जिस स्तर पर काम कर रहे हैं ये हम सबको पता है लेकिन वो यहाँ तक कैसे पहुँचे ते हम सबको पता नहीं है।


ऐसा नहीं है कि अरिजीत सिंह पिछले कुछ सालों से ही काम कर रहे हैं। वो पहले से ही अच्छा गाते हैं तो सवाल उठता है कि अब तक कहाँ थी ये आवाज।


आज हर किसी के जुबान पर बस किसी का गाना है तो केवल उसी गायक का है। जी हाँ हम बात कर रहे हैं melody song के किंग Famous indian musician arijit singh biography and journey In Hindi के बारे में। इनका जो सफर रहा है उससे आपको भी कई सारे सवालों का जवाब मिल सकता है जो ये सोचते हैं कि मैं बहुत ज्यादा मेहनत करता हूँ।


शायद ही कोई ऐसा सिनेमा प्रेमी हो जो महेश भट्ट के बैनर तले बने मूवी के म्यूजिक और गाना भूल पाया हो। लेकिन एक शख्स ऐसा है जिसे उन्हीं के बैनर तले बनी फिल्म मर्डर-2 के गाने का पहला ब्रेक मिला लेकिन वो शख्स इस गाना को गाकर भूल गया।


ये गाना का बोल 'ये दिल सम्भल जरा फिर मोहब्बत करने चला' था। ये गाना तो लोगों के जुबान पर तो चढ़ गया फिर उसी इंसान का गाना 'राब्ता' बहुत सुपरहिट हुआ। ये दोनों गानों को गाने वाला कोई और नहीं फेमस भारतीय संगीतकार अरिजीत सिंह थे।


अरिजीत सिंह का जन्म

अरिजीत सिंह की शिक्षा और शुरुआती करियर

अरिजीत सिंह का प्लेबैक सिंगिंग करियर

अरिजीत सिंह की शादीशुदा जिंदगी

अरिजीत सिंह को प्राप्त पुरस्कार

अरिजीत सिंह का लाइफस्टाइल और कुल सम्पति


अरिजीत सिंह की जीवनी | Arijit Singh Motivational Life Story in Hindi


बात है 1987 की जब बंगाल के मुर्शिदाबाद शहर में अरिजीत सिंह का जन्म हुआ था। अरिजीत सिंह के पिता पंजाबी और माँ बंगाली है। अरिजीत सिंह के ननिहाल से सभी लोग म्यूजिक से जुड़े हुए थे।


ये भी पढ़ें:- संगीत के जादूगर सोनू निगम की जीवन कहानी।


उनकी नानी इंडियन क्लासिकल म्यूजिक में पहले से ही ट्रेंड थी। मौसी भी गाया करती थी, मामा तबलावादक थे और उनकी माँ भी सिंगर थी। यानी कि अरिजीत सिंह की पूरी फैमिली सिंगिंग से जुड़ी हुई थी तो आगे की पीढ़ी भला सिंगर क्यों नहीं होती।


अरिजीत सिंह की शिक्षा और शुरुआती करियर | Arijit Singh Education & Early Life


दोस्तों अरिजीत सिंह की शिक्षा के बारे में बात करें तो अरिजीत सिंह ने पहले राजा विजय सिंह हाई स्कूल में और उसके बाद श्रीपति सिंह कॉलेज से अपनी पढ़ाई पूरी की।


अरिजीत सिंह का कहना है कि वो पढ़ाई-लिखाई में अच्छे खासे थे लेकिन सिंगिंग में शुरू से बहुत ज्यादा दिलचस्पी थी। म्यूजिक के प्रति उनका जुनून देखकर अरिजीत सिंह के माता-पिता ने उनका ट्रेनिंग दिलानी शुरू कर दी।


पंडित राजेन्द्र प्रसाद हजारी जी से उन्होंने इंडियन क्लासिकल म्यूजिक की ट्रेनिंग ली। धीरेंद्र प्रसाद हजारी जी से उन्होंने तबला बजाना सीखा और वीरेंद्र प्रसाद हजारी जी से उन्होंने पॉप म्यूजिक सीखा।


म्यूजिक की ट्रेनिंग तो उन्होंने ले ली लेकिन आगे उनको ऐसे प्लेटफॉर्म की जरुरत थी जहाँ वो अपने टैलेंट को लोगों को दिखा सकें। भाग्य से उनको एक मौका मिला लेकिन उस मौके का वो फायदा नहीं उठा सके और उन्हें हार झेलनी पड़ी।


अरिजीत सिंह के लिए क्या मौका था जिसका मिलते ही उतनी खुशी थी और मौका हाथ से निकलने का उतना ही गम। साल 2005 में अरिजीत सिंह एक सिंगिंग रियलिटी शो 'फेम गुरुकुल' में भाग लेने के लिए अरिजीत सिंह अपना शहर छोड़ मुंबई आ गए।


इस रियलिटी शो में भाग लेने के लिए अरिजीत सिंह को काफी मशक्कत करनी पड़ी। ऑडिशन इतनी कड़ी थी कि कितनी बार उन्हें ऑडिशन के दौरान नींद भी आ जाती थी। लेकिन वो एक बार भी हार नहीं माने।


ऑडिशन देने के दौरान वो जज और भाग लेने वाले कंटेस्टेंट के बीच काफी लोकप्रिय हो चुके थे। लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण सबके प्रिय कंटेस्टेंट होने के बावजूद अरिजीत सिंह टॉप पाँच में वो जगह नहीं बना पाए। लेकिन उन जजों में से एक जज ऐसे भी थे जिनको उनकी संगीत बहुत अच्छे लगा और वो थे शंकर महादेवन।


फिर हाई स्कूल म्यूजिकल 2 एलबम के गाने 'ऑल फॉर वन' आजा नाचले में गाने का मौका देकर शंकर महादेवन में अपना किया वादा पुरा किया।


आगे चलकर अरिजीत सिंह ने एक और रियलिटी शो 'दस के दस ले गए दिल' में भाग लिया और इस बार वो इस शो के विजेता बनें और इस शो को जीतने के बाद उन्हें एक पॉपुलर म्यूजिक लेवल के लिए गाना गाने का कॉन्ट्रैक्ट मिल गया। लेकिन इंडस्ट्री में अपना पैर जमाने के लिए उन्हें काफी मेहनत करनी पड़ी।


हर कोई यहीं सोचता है कि अरिजीत सिंह मुंबई आने के बाद ही प्लेबैक सिंगिंग करने लगे,लेकिन ये सफर इतना आसान नहीं था। क्या आप जानते हैं कि अरिजीत सिंह ने जब म्यूजिक इंडस्ट्री में कदम रखा तो कई दिग्गज सिंगर्स के पास भी अच्छे काम की कमी थी। जल्द ही अरिजीत सिंह को इस बात का एहसास हो गया कि प्लेबैक सिंगिंग में उनके career केे लिए अच्छा मौका हो सकता है।


ये भी पढ़ें:- न्यूज एंकरिंग के बादशाह अर्णब गोस्वामी के सफलता की कहानी।


इसलिए उन्होंने अपने कैरियर को diversify कर दिया और अरिजीत सिंह म्यूजिक प्रोड्यूसर बन गए। इसके बाद कई अच्छे म्यूजिक प्रोड्यूसर के साथ जैसे- प्रीतम चक्रवर्ती, विशाल शेखर और मिथुन के साथ म्यूजिक प्रोग्रामर के तौर पर काम करने लगे।


उस वक्त अरिजीत सिंह के पास बस यहीं एक तरीका था जिसकी सहायता से वो मुंबई में बने रह सकते थे। म्यूजिक के प्रति पूरी तरह समर्पण ने अरिजीत को म्यूजिक इंडस्ट्री में एक अच्छा म्यूजिशियन बनने में काफी सहायता किया। उन्हें म्यूजिक और प्लेबैक के विविधताओं के गहराई से सीखने का मौका मिला।


अरिजीत सिंह प्लेबैक सिंगिंग करियर | Success Story Of Arijit Singh In Hindi

Arijit singh playback singing career in hindi,story of arijit singh
Arijit Singh Career

साल 2010 की बात है जब म्यूजिक डायरेक्टर प्रीतम को सोलह फिल्मों का म्यूजिक करना था। फिल्मों के म्यूजिक कंपोजिंग के दौरान अरिजीत को रोज चार से छः गानों का रफ कट गाने लगे। 


अरिजीत सिंह के इस प्रतिभा को देखते हुए प्रीतम का विश्वास उनपर और ज्यादा बढ़ गया। इसके बाद प्रीतम जी ने अरिजीत से अपने फिल्मों में गाना गवाने शुरू कर दिये।


जैसे-जैसे ये गाने रिलीज हुए अरिजीत सिंह के पास अन्य म्यूजिक डायरेक्टर और प्रोड्यूसर से भी गाने का अच्छा ऑफर आने लगा और धीरे-धीरे अरिजीत सिंह के मखमली आवाज को वो लाइमलाइट मिलने लगा जिसके वो हकदार थे। जल्द ही एक वक्त ऐसा भी आया जब अरिजीत सिंह ने अपना एक अलग पहचान बना ली।


लोग उनकी आवाज की तरफ खिंचे चले आये लेकिन इन सबके बावजूद जो सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात है कि जिस आवाज ने अरिजीत सिंह को नाम और सोहरत दिलाया, जिस आवाज ने बड़े-बड़े सिंगर्स के बीच उनको लाकर खड़ा कर दिया अरिजीत सिंह उसी आवाज से दूरी बनाने को सोच रहे हैं।


जैसा कि आपको पहले भी बता चुका हूं कि अरिजीत सिंह मुंबई में स्थित म्यूजिक कंपोजर के रूप काम कर रहे थे। इस काम को वो इतना एन्जॉय कर रहे थे कि उनको प्लेबैक सिंगिंग से ज्यादा मजा म्यूजिक कंपोज करने में आने लगा।


एक इंटरव्यू में उन्होंने तो यहाँ तक कहा था कि लंबे कैरियर में वो खुद को प्लेबैक सिंगिंग से ज्यादा म्यूजिक प्रोड्यूसर के रूप में देखते हैं। दोस्तों अब आपको अरिजीत सिंह के शुरुआती असाइनमेंट के बारे में बताते हैं।


इंडियन डेली सोप मधुबाला 'एक इश्क एक जुनून' के लिए 'हम है दीवाने' नाम का गाना गाया। भारत के महान क्रिकेटर सौरव गांगुली के द्वारा होस्ट की गई बंगाली क्विज शो 'दादागिरी' और बंगाली टेलीविजन सीरियल 'तुम आये हम आये' के टाइटल गाना गाया।


इसके बाद वहां से शुरू हुई अरिजीत सिंह के सफलता का सफर लगातार बढ़ता ही चला गया। लेकिन एक कहावत कहते हैं न कि अगर सफर में एक साथी मिल जाये तो सफर की मुश्किलें खलती नहीं है।


अरिजीत सिंह की शादीशुदा जिंदगी की कहानी | Arijit Singh Marriage Life Story


देखा जाए तो जिंदगी में एक बार तो सबको प्यार होता ही है। कभी ये प्यार सफल रहता है तो कभी असफल। एक बात आपको बता दें अरिजीत सिंह के बारे में जो बहुत कम लोग जानते हैं। वो ये है कि अरिजीत सिंह पहले से ही शादीशुदा है।


एक रियलिटी शो के दौरान उनके साथी कंटेस्टेंट के सतग उनकी शादी हो चुकी थी। लेकिन दुर्भाग्यवश अरिजीत सिंह का ये शादीशुदा जिंदगी ज्यादा दिन तक नहीं चला और दोनो अलग हो गए। फिर उन्होंने अपने बचपन के साथी कोएल रॉय के साथ 21 जनवरी 2014 में उन्होंने शादी कर ली।


कोएल रॉय पहले से ही शादीशुदा थी लेकिन अपने रिश्ते में कड़वाहट आने से कोएल रॉय ने अपने पहले पति से तलाक ले ली और फिर अरिजीत सिंह के साथ शादी कर ली।


अरिजीत सिंह की पत्नी कोएल रॉय के अपने पहले शादी से एक बच्ची भी है, जिसको अरिजीत सिंह काफी प्यार करते हैं।


वैसे तो अरिजीत सिंह ने हर तरह के गाने गाए हैं और उनकी आवाज में मिठास के साथ साथ विविधता भी देखने को मिलती है। लेकिन अगर मैं आपसे कहुँ कि अरिजीत सिंह एक अच्छे गायक होने के बावजूद उनके पास एक ऐसी स्थिति आई जिसमें एक गाना गाने से वो खुद पीछे हट गए।


ये भी पढ़ें:- राजनीति के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह की कहानी।


इस फिल्म के टाइटल ट्रैक को गाने में अरिजीत सिंह को काफी मुश्किलें आयी लेकिन डायरेक्टर मोहित सूरी और प्रोड्यूसर महेश भट्ट के द्वारा मिली सपोर्ट से उन्होंने यहीं गाना बहुत ही सुरीली आवाज में गाया।


अरिजीत सिंह के फेवरेट गायक की अगर बात करें तो किशोर कुमार, जगजीत सिंह, गुलाम अली, मेहंदी हसन, सोनू निगम और केके साहब है। अब तो अरिजीत सिंह के अपनी फैन क्लब बन गयी है। बहुत सारे ऐसे दिग्गज कलाकार ऐसे हैं जो आज के जितने भी सिंगर्स है उनमें अरिजीत सिंह सबसे फेवरेट है। आगे चलकर अरिजीत सिंह एक म्यूजिक स्कूल खोलना चाहते हैं।


Arijit Singh Award | Arijit Singh Success Story In hindi


बेमिसाल गायन के वजह से अरिजीत सिंह को कई सारे अवार्ड मिले हैं। साल 2014 में आई फिल्म आशिकी 2 का गाना 'क्योंकि तुम ही हो' तो अरिजीत सिंह को रातों रात स्टार नहीं बल्कि सुपरस्टार बना दिया था। इस गाने ने अरिजीत सिंह के झोली में कितने सारे अवार्ड डाल दिये।


आशिकी 2 के बाद अरिजीत सिंह के इस सफलता के बाद उनके जिंदगी में एक ऐसा भी समय आया जब वो एक दिन में सोलह-सोलह गाने रिकॉर्ड करने लगे।

चारों तरफ किसी के जुबान पर कोई गायक का नाम था तो वो अरिजीत सिंह का था। साल 2016 में फिल्म रॉय का गाना 'सूरज डूबा है' और 2018 में 'रुके न रुके नैना' के लिए इनको तीन बार फिल्मफेयर अवार्ड मिल चुका है।


अरिजीत सिंह की लाइफस्टाइल और कुल सम्पति | Arijit Singh Net Worth & Lifestyle in Hindi


सुरों के बादशाह का जादू लोगों में इस कदर समाया हुआ है कि आज हर प्रोड्यूसर चाहता है कि उनकी फिल्म में अरिजीत सिंह का गाना हो। इतने बड़े सिंगर होने के नाते वो भारत के महंगे गायकों में शुमार किये जाते हैं।


आपको बता दें कि अरिजीत सिंह एक गाना गाने के लिए लगभग पन्द्रह से बीस लाख रुपये फीस चार्ज करते हैं। आज अरिजीत सिंह की कुल सम्पति की बात करें तो उनके पास 40 करोड़ रुपये से भी अधिक सम्पति है।


इस अरिजीत सिंह की मोटिवेशनल स्टोरी से हम आपको ये संदेश देना चाहते हैं कि अगर आपके भी जिंदगी में बार बार असफलता का सामना करना पड़ रहा है तो ऐसी स्थिति में पीछे मत हटना क्योंकि ये जिंदगी देने से पहले आजमाती जरूर है।


हो सकता है कि आपने सफल होने के लिए जो रास्ते बनाये हैं उससे कोई अच्छा रास्ता हो। हो सकता है आपने जो अपना भविष्य प्लान किया है उससे भी अच्छा कोई भविष्य हो और आपको पता न हो। अंत में एक बार फिर कहना चाहूंगा कि असफलताओं से पीछे मत भागना।


दोस्तों उम्मीद करता हूँ कि आपको Famous Indian Musician Arijit Singh Biography and Journey In Hindi काफी पसंद आया होगा। साथ ही आपने अरिजीत सिंह की जीवनी से क्या सीखे कमेंट करके जरूर बताएं।

Please do not enter any spam link in comment box