Translate

Best 5 Tips: How To Learn Speaking English At Home In Hindi

Best 5 Tips: How To Learn Speaking English At Home In Hindi

How To Learn English Speaking Fast at Home in Hindi | घर पर इंग्लिश बोलना कैसे सीखें

How to learn speak English fast at home in hindi,best tips for speaking english fluently
How to learn speak English fluently


आज हर कोई चाहता है कि हम fluently english कैसे बोलें। अगर आप इंग्लिश बोलना जानते हैं तो समाज में आपका पहचान एक पढ़ा-लिखा इंसान के रूप में होता है। आपके पास हर चीज का नॉलेज होते हुए भी अगर आप इंग्लिश बोलना नहीं जानते तो लोग आपको उतना पढ़ा-लिखा नहीं समझते और ना ही उतना इज्जत करते हैं।


अब तो आप समझ ही गए होंगे कि आज के समय में fluently english बोलना कितना जरुरी है। अगर आप भी इंग्लिश बोलना नहीं जानते या फिर आपको इंग्लिश बोलने में दिक्कत होती है तो आपको जरा भी घबराने की जरूरत नहीं है।


हम आपके लिए fluent english बोलने के लिए आसान तरीके का सम्भव प्रयास करेंगे। बस आपको कहीं जाने की जरूरत नहीं है। हम आपको पूरी तरह गाइड करेंगे कि इंग्लिश बोलने का सही तरीका क्या है और जल्दी इंग्लिश कैसे बोलें? तो चलिये पूरी विस्तार से जानते हैं कि How To Learn English Speaking Fast at Home in Hindi.


How To Learn Speaking English Fluently For Beginners In Hindi | इंग्लिश बोलना कैसे सीखें


दोस्तों fluent इंग्लिश बोलने के लिए आपको बिल्कुल शुरुआत से बताते हैं। आप सबने किसी सुना होगा कि वह fluent इंग्लिश बोलता है। पर क्या आप जानते हैं कि फ़्लूएंट का मतलब क्या होता है तो आपको बता दें कि Fluency शब्द लैटिन भाषा का एक word है। जहाँ इसका मतलब होता है फ्लो(flow)। इसका मतलब होता है बहाव।


अर्थात english में fluency का मतलब है- अपनी बात को इस तरह से कहना कि आप जो भी व्यक्त करना चाहते हो वो आप आसानी से बिना अटके कह सके। Fluency के बारे में बहुत से लोगों को कुछ गलतफहमियां है। बहुत से लोग सोचते हैं कि बहुत तेजी से english बोलने को fluency कहा जाता है।


जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है। अगर आप तेज इंग्लिश बोलते हैं और रुक-रुक कर बोलते हैं तो ये अच्छी तरह से बोलना नहीं कहा जाता है। आप आराम से ही बोलें पर बिना रुके बोले इसी का मतलब तो fluency होता है।


इंग्लिश बोलने में एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि बहुत बड़ा और कठिन word का इस्तेमाल करना ही fluency से कोई मतलब नहीं होता है। उदाहरण के लिए 'हम मग में सादे पानी डालें या फिर सरबत डालें हमारा मतलब है बिना रुके डालना।


ये भी पढ़ें:- दैनिक जीवन में रोज बोले जाने वाले 100 इंग्लिश वाक्य जरूर जानें।


आपको Fluent English बोलने का मतलब सीखने के लिए आपके सामने दो शर्तें है।
1. आप पहले से english लिखना और पढ़ना जानते हैं। आपको  कितना याद है ये जरूरी नहीं है।
2. आपको fluent english बोलने का इच्छा हो।
बस अगर आप इन दो बातों को ध्यान रखेंगे तो आपका जल्दी इंग्लिश कैसे बोलें वाला समस्या बहुत जल्द दूर हो जाएगा।


English Speaking के लिए सबसे जरूरी क्या है? English Speaking Course In Hindi


सबसे पहले आपको एक उदाहरण से समझाते हैं। अगर आपसे कोई अंग्रेज पास में किसी होटल का रास्ता पूछता है। मान लो कि आपको रास्ता मालूम है तो आप कैसे जवाब दोगे। Go left, Then U-turn, Then Straight.


आपने यहाँ देखा कि मैंने अपनी बात कितनी आसानी से बिना किसी sentence और grammar का use किये हुए। मुझे रास्ता बताने के लिए किसी tense, voice इत्यादि का use नहीं करना पड़ा। अब आप समझ गए होंगे कि Fluent English बोलने के लिए सबसे जरूरी चीज क्या है? इसलिए इंग्लिश बोलने के लिए words का आना बहुत जरूरी है।


अब आपके मन में सवाल आएगा कि english speaking word कैसे सीखें? आपको पूरा डिक्शनरी याद करने की जरूरत नहीं है। हम आपको बताते हैं कि english word कैसे सीखना है? सबसे पहले आपको इंग्लिश न्यूज़ पेपर पढ़ना है एक खास तरीके से।


5 Tips & Tricks to Learn English Speaking In Hindi | इंग्लिश बोलने के 5 बेहतरीन तरीके

Best 5 tips to learn speaking english fluently in hindi, how to learn speaking english in hindi
Best 5 tips to learn speaking english


1. मैं आपको इंग्लिश बोलने का टिप्स और ट्रिक्स के बारे में एक-एक स्टेप बताता हूँ जिससे आपको english word सीखना बहुत आसान हो जाएगा। आप चाहे तो इंग्लिश न्यूज पेपर पढ़ सकते हैं या फिर उनके ऑनलाइन वेबसाइट पर भी जाकर पढ़ सकते हैं। आपको जैसे भी आसान लगे। बस पढ़ने का तरीका ये रखिये कि आपको शुरुआत में न्यूज पेपर का बस वहीं समाचार पढें जो आपका मनपसन्द हो।


अगर आपको फिल्मी दुनिया अच्छी लगती है या फिर स्पोर्ट्स न्यूज़। मतलब जो अच्छा लगे वहीं खबरें पढें क्योंकि बिना पसन्द के खबरे पढ़ेंगे तो शायद आप जल्दी बोर हो सकते हैं। इसलिए पूरा न्यूज पेपर पढ़ने की बिल्कुल कोशिश ना करें।


जब आप पेपर पढ़ो तो नए words, कठिन words ये सब पढ़ते जाओ। जितना समझ आता है शुरुआत में केवल पढ़ते जाओ। आपको जो words समझ में नहीं आता है उसके लिए अभी कुछ करने की जरूरत नहीं है।


आगे न्यूज पढ़ने के बाद अपने दोस्तों के साथ न्यूज पेपर में पढ़ी हुई कोई भी खबर शेयर कीजिये। दोस्तों को खबर बताते समय ये याद रहें कि आपको उन खबरों को अपने भाषा में देनी है। पूरा बात इंग्लिश में बोलने की जरूरत नहीं है।


आपके लिए यहाँ एक जादू होगा। जब उन खबरों को आप अपने भाषा में बताएंगे तो ध्यान दीजिएगा कुछ english words अपने आप इंग्लिश में ही निकलेंगे। जैसे मान ले कि आपने कोई खबर पढ़ा- Sachin Tendulkar hits 100th century in Melbourne cricket ground.


अगर आप बिना न्यूज पेपर पढ़े ये खबर बोलते तो शायद ऐसे बोलते- सचिन तेंदुलकर ने मेलबर्न क्रिकेट मैदान में 100वां शतक लगाया। लेकिन जब आप इंग्लिश न्यूज पेपर पढ़ने के बाद शायद आपके मुह से अपने आप ये बात आप ऐसे बोलोगे- सचिन तेंदुलकर ने मेलबर्न क्रिकेट ground पर 100वां century लगाया।


ये भी पढ़ें:- घर पर इंग्लिश बोलने के लिए सीखना अब आसान हो गया बस इस ट्रिक्स को अपनाइए।


आपने देखा कि आप यहाँ वाक्य हिंदी में ही बोले लेकिन इसमें कुछ words english के बोल दिये। हमारे मुह से ये english words इसलिए निकले क्योंकि जो भी हम देखते सुनते हैं हमारा दिमाग उसको उसी तरह से जवाब देता है। आगे आप अब भी पूरा वाक्य इंग्लिश में नहीं बोलना है। शुरुआत में मुह से जो भी word इंग्लिश के निकलें वहीं बोलें।


How To Learn Spoken English At Home In Hindi | इंग्लिश सीखने आसान का तरीका


2. जब आप खबरों को किसी से discuss कर रहे होंगे तो कुछ words तो अपने आप आपके मुह से निकलेंगे कर कुछ वर्ड ऐसे भी होंगे जिन्हें बोलते हुए शायद आप अटक जाएं। आपके अटकने का कारण ये है कि बोलते समय आपके दिमाग ये सवाल आएगा कि जो आप बोल रहे हैं क्या वो सही है, जो word आप बोलने जा रहे हैं क्या उसका मतलब यही है?


जैसे आपने इंग्लिश न्यूज़ पेपर में ये खबर पढ़ी कि- Sachin played incredibly fast to make a century. जब आप इसको अपने दोस्तों के साथ discuss कर रहे होंगे तो शायद आप ये बोलोगे 'सचिन ने सेंचुरी बनाने के लिए बहुत फास्ट खेला'। यहाँ आपने बोलते समय सेंचुरी और फास्ट word इंग्लिश का use कर दिए लेकिन incredibly word बोलते समय शायद आपका दिमाग हिचक गया क्योंकि आपके लिए ये word बिल्कुल नया था और आपको इस word का मतलब नहीं पता था।


ये अटकना बिल्कुल normal है। इससे घबराने की कोई जरूरत नहीं है। आज जो आदमी इंग्लिश बोलता है उसको भी कभी ये प्रॉब्लम हुआ था। बस आपके लिए ये अच्छा संकेत है कि आपका दिमाग english सीखने के लिए तैयार हो गया है।


अब अगले step में जिन words को लेकर आप अटके थे उनको dictionary में चेक कर लें। चाहे दिन भर के ऐसे दो से तीन words ही क्यों ना हो? अगर आप ऐसा करते वक्त dictionary में चेक कर लोगे तो भूलोगे नहीं।


ये बहुत बारीकी से समझने वाली बात है कि हमने न्यूज पेपर पढ़ना सिर्फ उन दो-तीन words के लिए नहीं किया है। बल्कि उन words को जुबान पर लाने के लिए किया है जिन्हें हम जानते तो है लेकिन हम use नहीं करते हैं। 


रोज न्यूज पेपर पढ़कर discuss करने से ऐसे words अपने आप आपके मुह पे आना शुरू हो जाएगा और धीरे-धीरे आपका दिमाग sentence formation को भी समझना शुरू कर देगा कि किस चीज के साथ for लगा था और किस चीज के साथ of लगा था ये भी समझ आने लगेगा। आप इस step को कम से कम एक महीना रेगुलर फॉलो कीजिये आपका fluent english बोलना धीरे-धीरे सही होता जाएगा।


How to practice english speaking at home in hindi


अब आपका दिमाग english बोलने के लिए तैयार हो गया है। इसलिए अब आपको अपने english words का दायरा बढ़ाना है। इसके लिए आप daily use होने वाले words जैसे- सब रंगों के नाम, दिनों के नाम, घर के समान का नाम english में बोलना शुरू कीजिए।


ये भी पढ़ें:- इन 4 तरीकों को अपनाकर खुद से इंग्लिश बोलना सीखिए।


अभी भी आपको पूरा वाक्य english में बोलने की जरूरत नहीं है। लेकिन आप गौर करेंगे कि अपने आप english के कुछ words आपके मुह पर आना शुरू हो जाएंगे। इतना करने से आप किसी चीज को देखकर english में बोलोगे। जैसे- चम्मच को देखकर बोलोगे spoon, कुर्सी को देखकर बोलोगे chair इत्यादि।


आप अपने अनुसार दो-तीन महीने तक किसी भी समान को english में बोलने की आदत डाल लें और ध्यान रहे जब भी आप बात हिंदी में करो तो आपके वाक्य में english words शामिल हो। जैसे- मैं night में milk पिता हूँ, मैं sunday को market जाऊंगा, मैं ground में cricket खेलना like करता हूँ। जाकर hand wash करके आओ। जिस दिन से आप ऐसे हो जाओगे तो समझ लेना कि आपने how to learn speaking english in hindi की आधी जंग जीत ली और बाकी का जंग कैसा जितना है आगे जानते हैं।


How to learn fluent English Speaking without hesitation in Hindi | घर पर इंग्लिश बोलना कैसे सीखें


3. हमें english word सीखने का तरीका तो आ गया और हमारे मुह से english word भी निकलने लगा। अब ध्यान देते हैं कि जब कोई पूरा sentence इंग्लिश में बोलता है तो कहाँ अटकता है।


आदमी english बोलते समय दो चीजों पर अटकता है। एक है grammar. किया था, कर रहा हूँ, करूँगा ये सब चीज पर और दूसरे keywords पर। जैसे- मेज पर पेन रखा है, कप टूट गया इत्यादि।


अगर हमारे मुह पर english words मुह पर चढ़ जाएंगे तो इन keywords पर अटकना अपने आप बंद हो जाएगा। अब आपका दिमाग sentence बनाने के लिए तैयार है। आपको अभी भी न्यूज पेपर पढ़ना नहीं छोड़ना है। इसके साथ-साथ इंग्लिश न्यूज को सुनना भी शुरू कर देना है।


अब आपको अपने देश का कोई भी पसंदीदा न्यूज चैनल पर जाकर इंग्लिश न्यूज सुनें। अपने देश का इसलिए बोल रहे हैं क्योंकि अपना यहाँ का भाषा जल्दी समझ में आता है और उनके बोलने की स्पीड भी काफी सहायता करेगी। रोज आपको आधा घंटा टीवी पर न्यूज सुनना है और कोशिश करें कि जिस टॉपिक पर आपने न्यूज पेपर में पढ़ा है उसी टॉपिक का न्यूज देखना।


जैसे अगर आपने बॉलीवुड खबरे पढ़ा है तो यहीं खबर सुनो,अगर क्रिकेट का खबर पढा है तो क्रिकेट का ही न्यूज देखो। ऐसा करने से आपको समझ आएगा कि कैसे उन words को बोला गया है, किस हावभाव के साथ वो बोलते हैं, उनके बोलने का तरीका क्या है? ऐसा करने से आपका fluent english speaking बहुत ही आसान हो जाएगा। इसके बाद आप english मूवीज,सीरियल आदि देखना।


Best Tips For Speaking English Fluently In Hindi


आजकल इंग्लिश टीवी चैनलों पर subtitles लिखा हुआ आता है, आप उनको भी पढ़ सकते हैं। आप ऑनलाइन देखो या टीवी पर देखो पर सप्ताह में कम से कम इंग्लिश का मूवी या सीरियल दो तीन बार जरूर देखें।


अब जरा ध्यान दीजिएगा कि इस step में कोई english मूवीज या सीरियल देखते समय अगर कोई डायलॉग बहुत पसंद आ जाये,आपको बहुत पसंद आ जाये और आपको लगे कि ये डायलॉग अपने दोस्तों के साथ भी बोलूंगा तो उसको दुबारा बोलना। इसके कारण चाहे अगला डायलॉग मिस क्यों न हो जाये पर repeat करना नहीं भूलना है।


ये भी पढ़ें:- दैनिक जीवन में रोज बोले जाने वाले 500 ऐसे वाक्य जिसके बारे में सबको जानना चाहिए।


चाहे उस मूवी में एक या दो sentence ही क्यों न हो जिसको आप repeat करोगे ऐसा प्रयास जरूर करें क्योंकि ये आपके दिमाग के exercise के लिए बहुत जरूरी है। इसके साथ-साथ छोटे डायलॉग बात में लाना जरूर शुरू कर दें चाहे वो डायलॉग पिछले दिन का ही क्यों न हो?


How to improve english speaking Skills in Hindi | अच्छी इंग्लिश बोलना कैसे सीखें


4. अगर आपको sentence बनाते हुए बोलने के लिए अटकना पड़ता है। जैसे कि 'I was aaaaa going to aaaaaa drink water.' अब आपको इससे बचने का जो तरीका बताने जा रहे हैं उसको जानकर आपका ये problem भी खत्म हो जाएगा।


इससे बचने का तरीका ये है कि आप ऐसी आदत डाल लो कि अटकने से पहले वाले word को ही तब तक खींचो जब तक कि आप आगे वाला word सोच रहे हो। जैसे कि- I wassss going toooo drink water. ये ट्रिक मुश्किल नहीं है आप ऐसा करने का आदत अभी से डाल लो।


अगर ऐसा आप दो से तीन महीने तक कर लेंगे तो आपको इंग्लिश बोलने में अटकने की बीमारी दूर हो जाएगी और आप अच्छी इंग्लिश बोल सकते हैं। आपको काफी हद तक समझ आना शुरू हो चुका होगा कि was, were, can, का use कहाँ करना है क्योंकि आप इनसे बने बहुत सारे वाक्य सुने होंगे।


आप एक बार सोचिए कि अंग्रेज का बच्चा बिना स्कूल गए, बिना कोई grammar सीखे ही इंग्लिश कैसे बोल लेता है? क्या उसे पैदा होते ही कोई उसे grammar सिखाता है? ऐसा इसलिए होता है क्योंकि उसको हमेशा english लिखने-पढ़ने और बोलने को मिलता है।


How can I learn to speak english at home with confidence in hindi | अंग्रेजी बोलने का तरीका


5. अब आपको एक बदलाव करना है। वो ये कि हर तीन चार महीने में जो न्यूज पेपर आप अभी तक पढ़ रहे थे और जो न्यूज चैनल आप देख रहे थे उसको बदलकर किसी और न्यूज पेपर को पढ़ना और सुनना शुरू करें। ऐसा इसलिए क्योंकि हर न्यूज रिपोर्टर का लिखने और बोलने का तरीका अलग-अलग होता है। वो अपने हिसाब से word, sentences बोलता है। इसलिए अगर आप ऐसा करते हैं तो आपकी english और वैरायटी आ जायेगी और साथ ही आपके इंग्लिश के words और बढ़ जाएंगे।


इसके बाद आप न्यूज पेपर में और न्यूज चैनलों पर जो अपने मन का खबर पढ़ रहे थे और सुन रहे थे उसको भी धीरे-धीरे बदलना शुरू कर दें। ऐसा करने से भी आपकी इंग्लिश और ज्यादा मजबूत होगी क्योंकि अगर आप हमेशा फिल्मी दुनिया के words पढ़ते और सुनते हैं तो आपको राजनीति के words कैसे आएंगे, अगर आप क्रिकेट के words पढ़ते और सुनते हो तो अन्य जगहों के words कैसे आएंगे? इसलिए अपने english के दायरे को बढ़ाने के लिए धीरे-धीरे हर जगह ध्यान देना पड़ेगा।


आपको एक बात का जरूर ध्यान रखना होगा। शुरुआत में आपको practice और routine का बेहद ख्याल रखना होगा। मतलब किसी भी दिन ऊपर बताए नियम को मिस नहीं करें। practice करने से आपको सही बोलना आ जायेगा, अगर सही बोलना आ गया तो बोलने का confidence आ जायेगा और अगर confidence आ गया तो ऑटोमेटिक english बोलने की fluency आ जायेगी।


कुछ लोग english में fluency नहीं ला पाते क्योंकि उनको अपनी english pronunciation यानी कि words को सही ढंग से बोलने का तरीके पर confidence नहीं होता। वो अच्छा sentence बोलते-बोलते नर्वस हो जाते हैं और fluent english नहीं बोल पाते हैं।


पर आपको pronunciation को लेकर ज्यादा चिंता नहीं करने की जरूरत है। आपने देखा होगा कि अमेरिकन, अंग्रेज, स्पेनिश, गुजराती, बंगाली इन सबके बोलने का तरीका अलग-अलग है। मेरे हिसाब से थोड़ा pronunciation का इधर-उधर होना कोई गलत नहीं है जब कि वो सामने वाले को सही ढंग से बता पा रहा है।


इसलिए pronunciation के कारण आपकी इंग्लिश बोलने का confidence कभी कम नहीं होना चाहिए। हमेशा यहीं सोच के english बोलो की सामने वाला कौन सा सही pronunciation कर रहा है? क्या पता सामने वाला भी यहीं सोच रहा हो कि क्या पता उसकी इंग्लिश अच्छी नहीं है?


तो दोस्तों इस पोस्ट में बस इतना ही। आगे के इंग्लिश सीखने की जानकारी के लिए आप हमारे और भी पोस्ट पढ़ सकते हैं। अगर आपको हमारा ये how to speak English fluently in hindi अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें ताकि हर कोई इंग्लिश बोलना सीख सकें। हम आपके सहयोग के लिए सदा आभारी रहेंगे।

Please do not enter any spam link in comment box