Translate

MIT क्या है और इसमें Admission कैसे लें- Full Details In Hindi

MIT क्या है और इसमें Admission कैसे लें- Full Details In Hindi

MIT क्या होता है और इसमें Admission कैसे लें? How To Get Admission In MIT USA From India

MIT kya hai aur isme admission kaise le, what is mit in hindi
MIT kya hai

MIT का नाम आते ही लोगों के मन में बस एक ही ख्याल आता है वो है दुनिया का नम्बर 1 इंस्टीट्यूट। कहते हैं कि इस इंस्टीट्यूट में पढ़ने का सपना हर एक स्टूडेंट अपने मन में पाल कर रखता है। लेकिन बहुत सारे विद्यार्थियों को ये पता ही नहीं होता है कि MIT में एडमिशन के लिए क्या criteria है, इसमें एडमिशन लेने के लिए क्या प्रॉसेस है?


इस तरह के अनेकों सवाल विद्यार्थियों के मन में रहता है। जानकारी के अभाव में फिर उनके साथ यहीं होता है कि या वे तो इसमें पढ़ने से वंचित रह जाते हैं या फिर अपने सपने को सपना ही बनें रहने देते हैं।


अगर आप भी ऐसे ही सवालों के बारे में जानना चाहते हैं MIT इंस्टिट्यूट क्या है और इसमें एडमिशन कैसे लें और मिट तो आप इस article को ध्यान से पूरा जरूर पढ़िए। आपके सारे सवालों का जवाब आसानी से मिल जाएगा। हम आपकी पूरी सहायता करने के लिए प्रतिबद्ध है।


MIT का Full Form Pronunciation In Hindi


दोस्तों MIT का फुल फॉर्म Massachusetts Institute of Technology (MIT) होता है। बहुत सारे लोग इसके उच्चारण को लेकर confusion में रहते हैं तो आपको बता दें कि MIT फुल फॉर्म का pronunciation मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी होता है।


MIT कोर्स क्या होता है | What Is MIT In Hindi


Massachusetts Institute of Technology (MIT) अमेरिका के कैम्ब्रिज शहर में मैसाचुसेट्स नामक जगह पर स्थित एक निजी शोध विश्वविद्यालय है। जिसका स्थापना अमेरिका के औद्योगिकीकरण को बढ़ावा देने के लिए सन 1861 में किया गया था।


MIT में कुल एक महाविद्यालय के अलावा पाँच विद्यालय है। जिसमें कुल 32 शैक्षणिक विभाग है। MIT इंस्टीट्यूट का मुख्य उद्देश्य प्रौद्योगिकी अनुसंधान और वैज्ञानिक तकनीक को बढ़ावा देना है।


जैसा कि हम सभी जानते हैं कि MIT में पढ़ने के लिए दुनिया भर के स्टूडेंट्स सपने देखते हैं। उनका एक ही सपना होता है इस इंस्टिट्यूट से पढ़कर अपना एक अलग कैरियर बनाना, अपना एक अलग पहचान बनाना।


जाहिर सी बात है कि जिस इंस्टीट्यूट का इतना ज्यादा क्रेज हो उसमें एडमिशन लेना कितना मुश्किल होगा? आपको पता होगा कि इस इंस्टीट्यूट में एडमिशन लेने के लिए दुनिया भर से स्टूडेंट्स आते हैं।


आपके जानकारी के लिए बता दें कि MIT में एडमिशन लेने के लिए आप किस देश से आये हैं, आपका बैकग्राउंड क्या है, आपका एडुकेशन सिस्टम क्या है इन सभी बातों का कोई मतलब नहीं होता है। आपके व्यक्तिगत पर्सनालिटी को देखकर ही इस इंस्टीट्यूट में दाखिला दिया जाता है। 


इसलिए आगे से ये भ्रम निकाल दीजिये कि छोटे देश के स्टूडेंट्स का एडमिशन नहीं होगा। बस आपको खुद को improve करना है। खुद को improve कैसे करें इसके लिए ये 15 self improvement tips जरूर पढ़ें।


MIT से जुड़ी एक और महत्वपूर्ण जानकारी आपको बता दें कि प्रत्येक 100 एप्पलीकेशन में से मात्र 7 से 8 एप्पलीकेशन को ही एक्सेप्ट किया जाता है। अब आपको पता चल ही गया होगा कि MIT में एडमिशन लेने के लिए कितना टफ कम्प्टीशन होता है।


इसलिए इस इंस्टिट्यूट में एडमिशन उसी स्टूडेंट्स को मिल पाता है जिनका हर क्षेत्र में अच्छी जानकारी हो और खुद को एक बेहतरीन प्रतिभागी के रूप में पेश कर पायेगा।


क्या आपको पता है कि MIT का मुख्य मकसद शिक्षा, रिसर्च और बेहतर आविष्कार के जरिए एक बेहतरीन दुनिया का निर्माण करना है? इसलिए इस इंस्टीट्यूट में उसी स्टूडेंट्स को एडमिशन दिया जाता है जो इंटेलीजेंट होने के साथ-साथ वो हर चीज को एक अलग तरीके से सोचता हो।


How To Get Admission In MIT After 12th In USA Hindi


आपको इसके बारे में ये जानकारी भी रखना जरूरी है कि जो भी भारतीय स्टूडेंट्स इस इंस्टिट्यूट में पहले से पढ़ते हैं उनका कहना है कि आईआईटी और जेईई में टॉप करने वाले स्टूडेंट्स के लिए MIT में एडमिशन लेना काफी आसान है। 


यानी कि जो लड़के आईआईटी और जेईई जैसे एग्जाम की तैयारी कर चुके हैं उनके लिए इसका एग्जाम पास करना अन्य लोगों की तुलना काफी आसान है।


अगर कोई स्टूडेंट्स 12वीं पास कर लेता है वो MIT में एडमिशन लेने के लिए योग्य बन जाता है। यानी कि आप MIT के ग्रेजुएशन प्रोग्राम में हिस्सा ले सकते हैं। अगर आप अमेरिकी नागरिक नहीं है इसलिए आपको इंटरनेशनल एप्लिकेंट के कैटेगरी में रखा जाएगा और आपको MIT के ग्रेजुएशन प्रोग्राम में भाग लेने के लिए 12वीं के शुरुआत में ही इसमें एडमिशन लेने के अप्लाई करना होगा।


Massachusetts Institute Of Technology (MIT) Fees | MIT की फीस कितनी होती है?


आपके जानकारी के लिए बता दें कि MIT की एप्लीकेशन फीस 75$ यानी अगर इंडियन रुपये के बारे में बात करें तो लगभग 5 हजार है और एक साल का ट्यूशन फीस लगभग 53818$ है। इतना ज्यादा फीस दे पाना हर स्टूडेंट्स के बस की बात नहीं है। लेकिन क्या आपको पता है ये फीस बहुत कम भी हो सकता है। इसका एक तरीका है जो हम आपको बताते हैं।


MIT की इतनी बड़ी फीस को कम करने के लिए अगर कोई स्टूडेंट्स वित्तिय सहायता लेने की शर्त को पूरा करता है तो उसका 90% फीस माफ कर दिया जाता है। जिससे ऐसे स्टूडेंट्स जो MIT से पढ़कर कुछ अलग करना चाहते हैं तो उनका सपना पैसों की कमी की वजह से अधूरी न रह सकें।


ये भी पढ़ें:- Top 5 Highest Paying Jobs In India.


MIT में Admission कैसे लें | MIT Admission Requirements For Indian Students In Hindi


MIT में पढ़ने के लिए जरूरी शर्त ये है कि अगर कोई स्टूडेंट्स कम से कम 4 साल इंग्लिश की पढ़ाई किया है उसी स्टूडेंट्स को इसमें पढ़ने का मौका दिया जाता है, मैथ्स में उसको कैल्कुलस की जानकारी हो, दो साल तक इतिहास और सामाजिक विज्ञान का अध्ययन किया हो और उसको फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी की भी अच्छी जानकारी रखता हो।


ऐसा स्टूडेंट्स जो इन सब विषयों का अध्ययन नहीं किया है वो भी इसमें एडमिशन लेने के अप्लाई कर सकता है लेकिन MIT का कहना है कि अगर कोई स्टूडेंट्स ऐसे विषयों के बारे में थोड़ी-बहुत जानकारी रखता है तो उसको MIT का पाठ्यक्रम काफी आसान हो जाएगा।


MIT में एडमिशन लेने के लिए आपको इंग्लिश में अपनी जानकारी का proficiency एग्जाम देना होगा। आप नीचे दिए गए किसी भी एग्जाम को चुन सकते हैं। वैसे आपके जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय स्टूडेंट्स के लिए TOEFL का एग्जाम पास करना आसान होता है और ये इंडियन स्टूडेंट्स के लिए सबसे आसान एग्जाम होता है।


1. Cambridge English Qualification यानी C1 Advance या C2 Proficiency.
2. Duolingo English Test( DET)
3. International English Language Testing System (IELTS)
4. Pearson Test Of English (PTE Academic)
Test Of English As a Foreign Language (TOEFL)


What Is Minimum Score Required For MIT Admission In Hindi


Cambridge English Qualification यानी C1 Advance या C2 Proficiency पास करने के लिए न्यूनतम 185 अंक प्राप्त करना जरूरी है। जबकि recommended 190 अंक प्राप्त करना जरूरी होता है।


Duolingo English Test( DET) पास करने के लिए न्यूनतम 120 अंक प्राप्त करना जरूरी है, जबकि recommended अंक 125 लाना अनिवार्य है। International English Language Testing System (IELTS) पास करने के न्यूनतम 7 अंक प्राप्त करना जरूरी है जबकि recommended अंक 7.5 लाना जरूरी है।


Pearson Test Of English (PTE Academic) पास करने के लिए 65 अंक प्राप्त करना जरूरी है जबकि recommended अंक 70 जरूरी है। Test Of English As a Foreign Language (TOEFL) पास करने के लिए न्यूनतम 90 अंक प्राप्त करना जरूरी है जबकि recommended अंक 100 प्राप्त करना अनिवार्य है।


What Is Admission Process Of MIT For International Students In Hindi


MIT में एडमिशन लेने के लिए आपको ACT या SAT में से कोई भी एक एग्जाम को पास करना जरूरी है और अपना प्राप्त TOEFL अंक सबमिट करना जरूरी होता है। तभी आप इसमें एडमिशन ले पाएंगे।


हालांकि आपके जानकारी के लिए बता दें कि साल 2020-21 में MIT में एडमिशन के लिए COVID-19 के वजह से इन सभी अनिवार्यता को खत्म कर दिया गया है।


एक जरुरी जानकारी आपको बता दें कि TOEFL के लिए कोई भी उम्र की बाध्यता नहीं है। मतलब ये कि अगर कोई स्टूडेंट्स MIT में एडमिशन लेने के और सब जरूरी मानकों पर खरा उतरता है तो उसके लिए उम्र से सम्बंधित कोई भी बाधा नहीं आएगी।


अमेरिका में स्थित किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए ACT टेस्ट पास करना जरूरी होता है क्योंकि अमेरिका की वैसी अधिकांश बड़ी यूनिवर्सिटीज जो अंडर ग्रेजुएट्स एडमिशन लेती है  वे सभी ACT और SAT दोनों के अंकों को जोड़ती है।


इस एग्जाम में चार भाग होते हैं- इंग्लिश, मैथ्स, रीडिंग और विज्ञान। इसमें लेखन(writing) भी एक सहायक विषय के रूप में काम करता है। आप इस एग्जाम को पास करने के लिए कितना भी बार प्रयास कर सकते हैं। एग्जाम पास करने के लिए कोई भी उम्र की समयसीमा नहीं होती है।


आपकी उम्र 13 होने के बाद ही आप MIT के एग्जाम के योग्य बन जाएंगे और इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं। Scholastic Assessment Test (SAT) के लिए कोई भी उम्र सम्बंधित बाध्यता नहीं है। अगर आप एग्जाम को पहली बार में पास नहीं कर पाते हैं तो कोई बात नहीं आप इसके लिए कितना ही बार एग्जाम दे सकते हैं और खुद को बेहतर बना सकते हैं। इसकी कोई बाध्यता नहीं है।


जानकारी के मुताबिक ज्यादातर 12वीं कक्षा के स्टूडेंट्स इसमें एडमिशन लेने के इस टेस्ट को देते हैं ताकि उनको आसानी से अंदर ग्रेजुएट कोर्स में दाखिला मिल सके। आपको एक रोचक जानकारी बता दें कि MIT में एडमिशन लेने के लिए लगभग 50% स्टूडेंट्स SAT के 1600 में से 1500 से 1550 तक का अंक प्राप्त कर लेते हैं। ऐसे में अगर आपको MIT में एडमिशन लेने के सेलेक्ट होना है तो आपको इससे अधिकतम अंक प्राप्त करना जरूरी होगा।


American College Testing Testing (ACT) एग्जाम में आपका अंक अधिक होना भी बहुत जरूरी है क्योंकि इसमें 75% स्टूडेंट्स ACT के एग्जाम में 36 में से 34 या उससे भी ज्यादा अंक प्राप्त कर लेते हैं। इन टेस्ट में पास करने के अलावा हर स्टूडेंट्स को अपने से सम्बंधित 5 शार्ट essay सबमिट करने पड़ते हैं।


MIT एडमिशन के लिए औसत GPA(Grade Point Average) रिलीज नहीं करता है। लेकिन एक प्रतिभागी स्टूडेंट्स के तौर पर आपका GPA अधिकतम होना आपके लिए बहुत बहुत अच्छा रहेगा।


इतना सब जानने के बाद आइये अब जानते हैं कि MIT में एडमिशन के appication में क्या-क्या डिटेल्स भरना जरूरी होता है? आपके द्वारा दिया गया answer जितना अधिक सही और साफ होगा Application भरते समय अपने बारे में उतना ही खुद को सही तरीके से बयान कर पाएंगे।


MIT के द्वारा दिये गए application में बढ़िया से essay लिखना होगा, पर ध्यान रहें कि essay जरूरत से बड़ा ना हो। बल्कि ध्यान रखें कि कोई भी essay 100-200 शब्द का ही हो। अगर आप इस प्रकार essay लिखते हैं तो आपकी पर्सनाल्टी को बेहतर तरीके से पेश होगी।


आपके लिए बता दें कि ये essay आपके बारे में जानने के लिए एक बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। इसलिए essay लिखते समय खास ध्यान रखें क्योंकि इनको पढ़कर ही आपके पर्सनाल्टी के बारे में पता लगाया जाता है।


इन essay में आपको अपनी फैमिली, बैकग्राउंड, सोशल एक्टिविटी, आपका समाज आदि के बारे में जानकारी देनी होती है। MIT में दाखिला लेते समय आपको किस विषय में सबसे ज्यादा रुचि है और क्यों, आप अपने लाइफ के व्यस्त कार्यक्रम में खुश रहने के लिए क्या करते हैं, आपने लाइफ में अपने समाज को क्या दिया है, आपने ऐसा कोई चैलेन्ज लिया है जो आपके मुताबिक सफल नहीं हुआ है लेकिन आपने किसी भी तरह उसको अच्छे से मैनेज किया हो। इस तरह के सवालों का जवाब essay में लिखना होता है।


MIT Entrance Exam Details In Hindi


MIT में एडमिशन के लिए दो बार विषय से सम्बंधित टेस्ट अनिवार्य रूप से लिया जाता है। मैथेमेटिक्स लेवल 2 और साइंस विषय के बायोलॉजी, इकोलॉजिकल, बायोलॉजी मॉलिक्यूलर, केमिस्ट्री या फिर फिजिक्स में से कोई एक में से टेस्ट लिया जा सकता है।


2 लेटर ऑफ recommendation में आपको गणित या विज्ञान के टीचर की recommendation सबमिट करना के साथ-साथ एक language और humanity विषय के टीचर की recommendation सबमिट करना होता है।


इन सबके अलावा आपके स्कूल के द्वारा बनाये गये रिपोर्ट को भी सबमिट करना होगा। इतना सब करने के बाद MIT में एडमिशन के लिए इंटरव्यू सबसे लास्ट स्टेप होता है। इस इंटरव्यू में कुछ भी अलग करने की कोई जरूरत नहीं है।


आप उसी तरह का नॉर्मल व्यवहार करें जैसा कि आप है तो आपको इंटरव्यू में पास होना कोई मुश्किल नहीं होगा क्योंकि MIT का मानना है कि हम उसी स्टूडेंट्स को एडमिशन देना चाहते हैं जो कि हर तरह के परिस्थितियों में रहा हो ना कि किसी मशीन के जैसा।


मतलब साफ है कि MIT ऐसे स्टूडेंट्स को तवज्जों नहीं देता है जो सिर्फ शिक्षा के क्षेत्र में ही knowledge रखते हैं बल्कि ऐसे स्टूडेंट्स जो शिक्षा के साथ-साथ दैनिक दिनचर्या, सोशल वर्क में भी भाग लेते हैं और जो खेलकूद में भी हिस्सा लेता हो। यानी कि MIT को वैसे स्टूडेंट्स की जरूरत रहता है जो हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा दिखा सकें। ऐसे स्टूडेंट्स को MIT में एडमिशन लेना काफी आसान होता है।


तो साथियों इतना सब जानने के बाद अब आप जान ही गए होंगे कि MIT में एडमिशन लेने के क्या करना चाहिए? अगर इन सभी बातों का ध्यान रखकर आप सही तरीके से तैयारी करते हैं तो MIT में आसानी से एडमिशन लेकर अपने कैरियर को एक चमकता हुआ भविष्य के रूप में दे सकते हैं।


अगर आप अपने स्कूल के दौरान नेशनल या इंटरनेशनल ओलंपियाड में भाग लेते हैं तो आप खुद को एक बेहतर MIT स्टूडेंट्स के रूप में तैयार कर पाएंगे। इसलिए सिर्फ किताबी ज्ञान लेने के बजाय अपनी पर्सनाल्टी को और डेवेलोप कर हर तरह की जानकारी लेने की कोशिश करें।


हम उम्मीद करते हैं कि MIT क्या है और MIT USA में एडमिशन कैसे लें से सम्बंधित सारी जानकारी आपको मिल गयी होगी। फिर अगर आपको MIT से सम्बंधित कोई और भी जानकारी पता करना हो तो आप कमेंट करके जरूर पूछ सकते हैं।


करियर चुनते समय इन बातों का ध्यान जरूर रखें।

10 ऐसी गलतियां जिससे आपका समय बर्बाद करते हैं।

Please do not enter any spam link in comment box