Rohini Sindhuri IAS Biography Wikipedia In Hindi

Rohini Sindhuri IAS Biography Wikipedia In Hindi

रोहिणी सिंधुरी आईएएस की जीवनी | Rohini Sindhuri IAS Biography Wikipedia, History In Hindi


दोस्तों आज हम एक ऐसे महिला आईएएस अधिकारी की बात करने वाले हैं। जिसने न केवल बहुत ही कम समय अपने कार्यशैली से पूरे देश में नाम कमाया है, बल्कि लोग 'लेडी सिंघम' के नाम से भी जानने लगे हैं।


ऐसे होनहार और काबिल महिला आईएएस अधिकारी का नाम रोहिणी सिंधुरी है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि रोहिणी सिंधुरी कौन है, इनकी पूरी कहानी क्या है?


अगर आप नहीं जानते हैं तो कोई बात नहीं है। हम आपको रोहिणी सिंधुरी की पूरी कहानी बताने वाले हैं और जानने वाले हैं कि अब तक का उनका सफर कैसा रहा है? तो आइये देश के इस चर्चित महिला आईएएस अधिकारी रोहिणी सिंधुरी की जीवनी के बारे में पूरी विस्तार से जानते हैं।


रोहिणी सिंधुरी आईएएस का जीवन परिचय | Rohini Sindhuri IAS Biography In Hindi

Rohini sindhuri ias biography in hindi, rohini sindhuri story
Rohini Sindhuri IAS Biography In Hindi

पूरा नाम- रोहिणी सिंधुरी

निकनेम- रोहिणी

जन्म- 30 मई 1984

उम्र/Age- 37

हाइट- 165 सेमी.

वजन- 60kg

जन्मस्थान/Birthplace- आंध्रप्रदेश(वर्तमान तेलंगाना)

प्रोफेशन- सिविल सर्विसेज

बैच/Batch- 2009

IAS मार्क्स/Marks- 55.78%

आईएएस रैंक/Rank- 43

कैडर- कर्नाटक

होमटाउन- N/A

जाती/Caste- दसारी (Dasari)

धर्म/Religion- हिन्दू

शौक- संगीत सुनना

वैवाहिक जीवन- विवाहित

Present Posting- मैसूर

Husband Occupationसॉफ्टवेयर इंजीनियर

मोबाइल नंबर- N/A

Rohini Sindhuri- Instagram

Rohini Sindhuri- Twitter

सैलरी- N/A

नेट वर्थ- N/A

राष्ट्रीयता- भारतीय


रोहिणी सिंधुरी का परिवार | Rohini Sindhuri IAS Family


पिता का नाम- N/A

माता का नाम- लक्ष्मी रेडी

हसबेंड नाम/Spouse- सुधीर रेडी

बच्चे- एक पुत्र, एक पुत्री

सिस्टर नाम- N/A


Rohini Sindhuri IAS Qualification


रोहिणी सिंधुरी ने प्रारंभिक शिक्षा पास के ही स्कूल से पूरी की। जिसके बाद इन्होंने हैदराबाद यूनिवर्सिटी से केमिकल इंजीनियरिंग से बीटेक की डिग्री हासिल की। बीटेक की पढ़ाई पूरी करने के बाद रोहिणी को सिविल सर्विसेज की नौकरी करने को ठानी।


इनका मेहनत रंग उस समय लाई जब 2009 में UPSC की परीक्षा में पूरे देश में 43वां रैंक लाकर अपने सपने के पंखों को उड़ान की। इसके बाद रोहिणी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और आज उनकी गिनती देश के होनहार अफसरों में होती है।


रोहिणी सिंधुरी का करियर | Rohini Sindhuri IAS Success Story In Hindi


आईएएस की ट्रेनिंग के बाद रोहिणी सिंधुरी की पहली पोस्टिंग 29 अगस्त 2011 को तुमकुरु में असिस्टेंट कमिश्नर के रूप में हुआ था। इसी कार्य अवधि में तुमकुरु के शहरी विकास विभाग के प्रभारी कमिश्नर के रूप में भी इनकी  नियुक्त की गई।


जहाँ रोहिणी ने एक से एक बढ़कर सराहनीय कार्य किये। जैसे- इनकम टैक्स स्त्रोत को कंप्यूटरीकृत किया, जेसिरोड जैसी अन्य मुख्य सड़कों से अतिक्रमण हटाने का बहुत तेजी से किया, एमजी रोड जैसे व्यस्त सड़कों पर अतिक्रमण हटाने से लेकर सड़क का काम पूरे करने को लेकर इनको लोगों से काफी प्यार मिला।


ये भी पढ़ें:-● भारत की चौथी अंतरिक्ष यात्री बनने वाली सिरिशा बांदला का जीवन परिचय।

● डॉ तनु जैन आईएएस का जीवन परिचय।

सचिन पायलट का जीवन परिचय।


31 दिसम्बर 2012 तक अपने इस शानदार कार्यकाल में एक से बढ़कर एक कार्य करने के बाद रोहिणी 10 अगस्त 2013 से 31 मई 2014 तक ग्रामीण विकास और पंचायत राज विभाग, स्वरोजगार परियोजना (एसईपी), बैंगलोर के निदेशक के रूप में काम किया। यहाँ भी इन्होंने अपने टैलेंट से सबक दिल जीत लिया।


इसके बाद 2014 में, रोहिणी को मांड्या जिला पंचायत के सीईओ के रूप में तैनात किया गया था। जहाँ इन्होंने अपने कार्यकाल (2014-15) के दौरान लगभग एक लाख व्यक्तिगत शौचालयों का निर्माण कर पूरे देश में नाम बटोरी।


रोहिणी सुर्खियों में तब आयी स्वच्छ भारत अभियान में इनका जिला पूरे राज्य में पहले नम्बर और देश में तीसरे नम्बर पर स्वच्छता के मामले में स्थान पाया। ये सब रोहिणी सिंधुरी के बदौलत ही सम्भव था।


इतना ही नहीं रोहिणी ने केंद्र सरकार द्वारा पेयजल के लिए भेजे गए 65 करोड़ के फंड का सही तरीके से इस्तेमाल कर अपनी पहचान छोड़ी। इस दौरान इन्होंने 100 से भी अधिक पेयजल यूनिट्स की स्थापना की। उनके इस काम से खुश होकर सरकार ने इस काम को और आगे बढ़ाने के लिए 6 करोड़ रुपये का फंड दिया।


अपनी यात्रा को और आगे बढ़ाते हुए रोहिणी ने किसानों को सस्टेनेबल खेती करने का आह्वान किया। इसके अलावा इन्होंने शहर में भ्रूण हत्या जैसे मामलों को गम्भीरता से लेते हुए इस रोक लगाने का पूरा प्रयास किया। भ्रूण हत्या रोकने के लिए माता-पिता को शिक्षित करने के लिए कई कार्यक्रम चलाई।


मांड्या जिला पंचायत के सीईओ के रूप में रोहिणी ने कार्यालयों के चक्कर लगाए बिना संपत्ति दस्तावेज डाउनलोड करने के लिए एक ऐप भी लॉन्च किया।


उनके इस प्रदर्शन को देखते हुए केंद्र सरकार ने 2015 में नई दिल्ली में जिला कलेक्टरों को प्रशिक्षित करने के लिए तीन प्रमुख व्यक्तियों में से एक के रूप में चुना।


जिसके बाद साल 2017 में इनका तबादला हसन जिले में डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर के रूप में कर दिया गया। यहाँ भी रोहिणी ने शिक्षा प्रणाली में सुधार करने के लिए कई कदम उठाए। इनके प्रयासों का ही फल था कि जो साल 2017 में हसन जिला एसएसएलसी परिणामों में राज्य में 31वें नम्बर था दो साल बाद 2019 में पहले नम्बर पहर पहुँच गया।


इसके अलावा हसन जिले में बालू माफियाओं से भी जमकर मुकाबला किया और दोषियों के खिलाफ छापेमारी कर सख्त कार्रवाई भी किया।


वर्तमान में रोहिणी सिंधुरी मैसूर जिले में डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर के रूप में तैनात है।


Rohini Sindhuri IAS Controversy In Hindi | रोहिणी सिंधुरी न्यूज हिंदी


रोहिणी सिंधुरी को जब 2018 में हसन जिले में मात्र सात महीने में ही स्थानीय राजनेताओं के दबाव के कारण स्थानांतरित कर दिया गया तो इन्होंने तंग आकर हाइकोर्ट का दरवाजा खटखटाया।


कोर्ट के दखल के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री एच डी कुमारस्वामी ने पुनः इनको अपने पद पर वापस नियुक्त कर दिया।


रोहिणी सिंधुरी की present prosting मैसूर जिले में है। जहाँ अभी हाल ही में मैसूर के सिटी कारपोरेशन कमिश्नर शिल्पा नेग ने कोविड-19 महामारी के लिए कुप्रबंधन और गलत जानकारी के लिए आरोप द्वारा रोहिणी सिंधुरी पर आरोप लगाया है। लेकिन रोहिणी ने इन आरोपों को निराधार बताते हुए इन सारी बातों का खंडन किया है।


इसके पीछे का असली कहानी क्या है ये तो जांच के बाद ही पता चल पायेगा।


Some Interesting Facts About Rohini Sindhuri IAS In Hindi


● रोहिणी के ही क्लास साथी आईएएस डीके रवि को इनसे प्यार हो गया था। जब रवि ने इनको प्रोपोज किया तो इन्होंने साफ मना कर दिया और कहा कि वह पहले ही शादीशुदा है। जिसके बाद रवि ने 16 मार्च 2015 को आत्महत्या कर लिया।

● रोहिणी कन्नड़, तेलुगु, हिंदी और अंग्रेजी सहित कई भाषाओं में महारथ हासिल है।

● रोहिणी ने एक ऑनलाइन शिकायत निवारण प्रणाली की भी शुरुआत की है। जिसके माध्यम से पीड़ित व्यक्ति कभी भी अपनी शिकायत ऑनलाइन जमा कर सकता है।

● रोहिणी जब भी ये खाली रहती है गाना सुनती है। इनको गाना सुनना काफी पसंद है।


हमें उम्मीद है कि आपको रोहिणी सिंधुरी की बायोग्राफी इन हिंदी काफी पसंद आया होगा। आपको रोहिणी सिंधुरी की जीवनी कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताइयेगा धन्यवाद।

ये भी पढ़ें:-

खूबसूरत महिला आईपीएस पूजा यादव का जीवन परिचय।

आचार्य प्रशांत का सम्पूर्ण जीवन परिचय।

सीबीआई चीफ सुबोध कुमार जायसवाल का जीवन परिचय।

सफलता दिलाने वाली 5 प्रेरणादायक कहानियां।



Please do not enter any spam link in comment box