Sahdev Dirdo Bachpan Ka Pyar Biography Wikipedia In Hindi

Sahdev Dirdo Bachpan Ka Pyar Biography Wikipedia In Hindi

वायरल बच्चा सहदेव दिरदो की जीवनी | Sahdev Dirdo Bachpan Ka Pyar Biography Wikipedia In Hindi


सोशल मीडिया पर आजकल बस एक ही गाना छाया हुआ है- बचपन का प्यार कभी भूल नहीं जाना रे। ये गाना कुछ ही दिनों में सोशल मीडिया पर इस कदर छाया कि हर सेलेब्रिटीज़, नेताओं और आमलोगों के मुह पर बस एक ही गाना है।


यूँ कहे तो ये गाना आजकल सोशल मीडिया सनसनी बन चुका है। सोशल मीडिया का ताकत इतना है कि कब क्या वायरल हो जाएगा, किसका किस्मत कब बदल जायेगा ये कोई नहीं जानता है।


कुछ दिन पहले ऐसा ही हुआ जब 12 साल के एक छोटे बच्चे सहदेव आज पूरा सोशल मीडिया पर सनसनी बना हुआ है। इस छोटे बच्चे के द्वारा गाया गया गाना 'बचपन का प्यार' पूरे बॉलीवुड में तहलका मचा कर रख दिया है। हर कोई आजकल बस एक ही गाना गुनगुना रहा है।


लेकिन बहुत कम लोग 'बचपन का प्यार' गाना गाने वाला सहदेव के जीवन की सच्चाई के बारे में जानते हैं। इसलिए अगर आप भी सोशल मीडिया के इस सनसनी के बारे में पूरी विस्तार से जानना चाहते हैं तो आइए बचपन का प्यार के सहदेव दिरदो की जीवनी के बारे में जानते हैं।


बचपन का प्यार गाने वाले सहदेव दिरदो कौन है और क्यों चर्चा में है?


सोशल मीडिया पर सिर्फ एक गाना गाकर हर तरफ सनसनी मचाने वाले सहदेव दिरदो छतीसगढ़ के सुकमा जिले के रहने वाले हैं। स्कूल के दिनों में गाया गया गाना 'बचपन का प्यार' सोशल मीडिया पर इस कदर छाया हुआ है कि सिर्फ एक गाने के बदौलत आज इनकी चर्चा पूरे देश मे होने लगी है।


लेकिन इनका नाम लोगों के जुबान पर तब चढ़ा जब इनका गाना प्रसिद्ध भारतीय संगीतकार बादशाह तक पहुँचा। बादशाह सहदेव के गाने से इतने प्रभावित हुए कि उन्होंने तुरंत सहदेव से वीडियो कॉल पर बात की और मिलने के लिए चंडीगढ़ बुला लिया और इनके गाने पर म्यूजिक के साथ गाने को दुबारा गाकर ठुमके लगाकर पूरे देश में पहचान दिलाया। इसके बाद बादशाह ने अपने साथ गाना गाने के बारे में भी कहा।


बादशाह से मिलकर वापस आने के बाद छत्तीसगढ़ के वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सहदेव के गाने को सुना तो उससे प्रभावित होकर मिले तो मानो राजनीतिक हस्तियों से लेकर सेलेब्रिटीज़ तक हर तरफ इनकी पहचान बन गयी। मुख्यमंत्री ने सहदेव को ऐसे ही और गाना गाकर करियर में आगे बढ़ने का आशीर्वाद दिया।


आखिर रातोंरात सबके चहेते बनने वाले सहदेव दिरदो का जीवन परिचय क्या है इसकी जानकारी प्राप्त करते हैं।


सहदेव दिरदो (बचपन का प्यार) का जीवन परिचय | Sahdev Dirdo Biography, Age, Family

Sahdev dirdo biography in hindi, sahdev dirdo
Sahdev Dirdo Biography In Hindi

पूरा नाम- सहदेव दिरदो

निकनेम- सहदेव

जन्म- 2009

जन्मस्थान- सुकमा जिला, छत्तीसगढ़

होमटाउन- सुकमा

उम्र/Age- 12 वर्ष

शौक- सिंगिंग और ट्रेवलिंग करना

फेमस होने का कारण- बचपन का प्यार गाना

स्कूल- 7वीं कक्षा

सपना- गायक बनना

जाति/Caste- आदिवासी

धर्म/Religion- हिन्दू

राष्ट्रीयता- भारतीय


सहदेव दिरदो (बचपन का प्यार) का परिवार


दोस्तों सहदेव दिरदो वर्तमान में पिता के साथ गांव में ही रहते हैं। इनके माता का देहांत लगभग 5 साल पहले ही हो चुका है। परिवार में इनके और पिता के अलावा 3 भाई और दो बहन भी रहते है।


सहदेव दिरदो का बचपन


सहदेव के परिवार का आर्थिक स्थिति कैसी होगी आप इस बच्चे के गाना गाते हुए कपड़े को देखकर अंदाजा लगा सकते हैं। ये लड़का आज भले ही देश की मायानगरी मुंबई में अपने किस्मत को चमकाने की कोशिश लगा हुआ है, लेकिन सहदेव के बचपन की कहानी इतनी दर्दनाक है, जिसे जानकर आपके आंखों में आंसू आ जाएंगे।


छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले के एक छोटे से गांव में हुआ था। बचपन में ही माता के गुजर जाने के बाद तो मानों परिवार की स्थिति और भी खराब हो गयी।


सहदेव के पिता ने पत्नी के गुजर जाने के बाद परिवार का भरण-पोषण बड़ी मुश्किल से किया।


बचपन में सहदेव के पास न तो मोबाइल था और न ही घर में टीवी। गांव में किसी लड़के के मोबाइल में 'बचपन का प्यार'गाना सुना और बस ये गाना इस बच्चे को इतना भाया कि वो हर समय बस इसे ही गुनगुनाता रहता था।


आज से करीब दो साल पहले सहदेव जब 5वीं कक्षा में था तब स्कूल में होने वाले एक कार्यक्रम की तैयारी के दौरान उसने ये गाना गाया था। ये गाना शिक्षक को काफी अच्छा लगा और उन्होंने इसे अपने मोबाइल में रिकॉर्ड कर लिया और सोशल मीडिया पर शेयर कर दिया।


इस गाने को और गाने वाले बच्चे को पिछले दो साल से कोई नहीं जानता था। दो साल तक ये गाना सोशल मीडिया पर ऐसे ही पड़ा रहा और किसी का ध्यान तक नहीं गया।


इधर सहदेव के परिवार की आर्थिक स्थिति और ज्यादा बिगड़ती गयी। परिवार में बड़ी मुश्किल से एक वक्त का खाना नसीब हो रहा था। ऐसा नहीं था कि ये गरीबी केवल सहदेव के घर पर ही थी। पूरे गांव का हालत भी कुछ ऐसा ही था। पूरे गांव में आज भी एक भी पक्का मकान नहीं है। ये गांव भी जरूरी मूलभूत सुविधाओं से आज भी वंचित है।


उसे अब भी विश्वास नहीं हो रहा है कि वो इतना पॉपुलर हो चुका है। लेकिन उस पर किसी की नजर न लगे। कहीं ऐसा न हो कि सहदेव एक रात का चमकता हुआ सितारा बनकर रह जाये। हम सभी को उसे पूरा सपोर्ट करना चाहिए ताकि बचपन में जो कठिनाई उसे महसूस हुआ है वो आने वाले समय मे अपने मेहनत के दम पर खुशियों से भर दें।


'बचपन का प्यार' फेम सहदेव दिरदो का करियर | Sahdev Dirdo Success Story In Hindi


12 साल के सहदेव का गाना बचपन का प्यार जब से वायरल हुआ है, तब से हर किसी के मुह से बस यहीं गाना है। बादशाह के सपोर्ट ने मानो इनके करियर को एक नई ऊंचाई प्रदान की है। इन्हीं के बदौलत आज सहदेव को दुनिया जान रही है।


कोई स्टेज शो या फिल्मी शो हर तरफ बस इसी गाने ने धूम मचा रखी है। सहदेव के जीवन का सबसे खुशनुमा पल तब आया जब इंडियन आइडल के मंच पर इनको बुलाया गया। जहाँ इनके गाने पर बॉलीवुड के एक से बड़े एक सुपर स्टार हिमेश रेशमिया, नेहा कक्कड़ इत्यादि ने न सिर्फ गाने को गाया, बल्कि जमकर थिरके भी।


हमें उम्मीद है कि छोटा सा उभरता हुआ ये नया चेहरा आने वाले समय में अपने गानों से और भी तहलका मचाये।


हमें उम्मीद है कि आपको सहदेव दिरदो 'बचपन का प्यार' की जीवनी काफी पसंद आई होगी। अगर आपको सहदेव दिरदो का जीवन कहानी अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें।

ये भी पढ़ें:

पैरालंपिक में गोल्ड मेडल विजेता कृष्णा नागर का जीवन परिचय।

प्रसिद्ध शिक्षक खान सर पटना का जीवन परिचय।

आवाज के जादूगर अरिजीत सिंह का जीवन परिचय।

सुरों के बेताज बादशाह सोनू निगम का जीवन परिचय।

SBI से घर बैठे 20 लाख का पर्सनल लोन कैसे लें?

Please do not enter any spam link in comment box