Arnab Goswami Biography In Hindi | अर्णब गोस्वामी के सफलता की कहानी

एशिया के सबसे बड़े न्यूज एंकर अर्णब गोस्वामी की जीवनी | Arnab Goswami Biography In Hindi


आज हम ऐसे न्यूज एंकर के बारे में बात करने वाले हैं जिसका नाम आज देश के हर कोने में चर्चा का विषय बना हुआ है। जिनके आने के बाद न्यूज एंकरिंग का तरीका ही बदल गया है, जिसके कारण सारे न्यूज चैनलों का नींद गायब हो गया है, जिनके डिबेट को आज पुरे देश में सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है।


जी हाँ अब तो आप समझ ही गये होंगे कि ऐसा रुतबा रखने वाला अर्णब गोस्वामी के अलावा कोई और हो ही नहीं सकता है। अर्णब गोस्वामी की न्यूज एंकरिंग को लेकर जितनी भी तारीफ की जाए कम है। तो चलिए दोस्तों आज उसी अर्णब गोस्वामी की जीवनी के बारे में पूरी विस्तार से जानते हैं।


आम जनता के साथ-साथ बड़े-बड़े शिक्षविदों की भी शिकायत होती है कि आज के न्यूज चैनल केवल ब्रेकिंग न्यूज के चैनल बन कर रह गए हैं।


किसी नेता का कुत्ता मर गया हो तो ब्रेकिंग न्यूज, किसी नेता की गाड़ी खराब हो गयी हो तो ब्रेकिंग न्यूज, किसी अभिनेता ने किसी को थप्पड़ जड़ दिया हो तो ब्रेकिंग न्यूज़।


यहीं वजह है कि लोग आधुनिक न्यूज चैनलों से नफरत करने लगे हैं। लेकिन इतने सारे गलत तरीके से न्यूज प्रसारित करने वाले न्यूज एंकर में से है कोई न्यूज वाला जिसे लोग बेहद प्यार करते हैं। जिसे लोग सब काम छोड़कर बड़े ध्यान से उसका न्यूज़ देखते हैं।


ऐसा न्यूज सुनाने वाला कोई और नहीं बल्कि एशिया के नम्बर वन न्यूज एंकर अर्नव गोस्वामी है। जिन्होंने इस TRP की दौर में अपने तेज तर्रार तरीके से न्यूज सुनाकर दर्शकों को लुभाकर अपने को सदैव अपने को सबसे आगे रखा है।


आज अर्नव गोस्वामी खुद का न्यूज चैनल स्थापित कर चुके हैं। तो आइये दोस्तों अर्नव गोस्वामी के दूरदर्शन से लेकर रिपब्लिक टीवी तक के सफर को इस Arnab Goswami Success Story In Hindi के बारे में पुरी विस्तार से बताते हैं।


अर्नव गोस्वामी की जीवन कहानी शुरू करने से पहले मैं ये कहना चाहता हूँ कि इस पोस्ट का मकसद किसी भी राजनीतिक दलों या समूह का प्रोत्साहन नहीं करती है।


ये भी पढ़ें:- राजनीति के चाणक्य कहे जाने वाले अमित शाह की जीवन कहानी।


ये पोस्ट सिर्फ अर्नव गोस्वामी की सफलता की कहानी और उनके जीवन में किये गए परिश्रम और उनके काम मे निष्ठा को दर्शाना है।


उनकी ये मोटिवेशनल स्टोरी का मतलब सिर्फ यही है कि किसी भी युवा जर्नलिस्ट को अर्नव गोस्वामी की जीवनी से सीख लेनी चाहिए। तो चलिए दोस्तों अर्नव गोस्वामी का जीवन परिचय पुरी विस्तार से जानते हैं।


अर्णब गोस्वामी की जीवनी और उनका परिवार | Arnab Goswami Success Story In Hindi


अर्नव गोस्वामी का जन्म 7 मार्च 1973 को असम के गुवहाटी में एक जाने माने ब्राह्मण परिवार में हुआ था। अर्नव गोस्वामी के पिता का नाम मनोरंजन गोस्वामी है जो सेना से एक रिटायर कर्नल थे और उनकी माँ सुप्रभा गोस्वामी के गृहणी और लेखिका है। अर्णब गोस्वामी का पूरा नाम अर्णब रंजन गोस्वामी है।


अर्णब गोस्वामी की पत्नी | अर्णब गोस्वामी का जीवन परिचय


एशिया के सबसे बड़े न्यूज एंकर और अपने निर्भीक पत्रकारिता के लिए एक अलग पहचान बनाने वाले अर्णब गोस्वामी की पत्नी का नाम समरव्रत रे गोस्वामी है। इनका एक बेटा भी है।


Success Story Of Arnab Goswami In Hindi | अर्णब गोस्वामी की प्रारंभिक शिक्षा


पिता के इंडियन आर्मी में होने के कारण अर्णब गोस्वामी की प्रारंभिक शिक्षा अलग-अलग शहरों में पुरी हुई। कॉलेज की पढ़ाई के लिए उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के हिन्दू कॉलेज में अपना दाखिला लिया।


जहाँ उन्होंने सोशियोलॉजी में बैचलर की डिग्री प्राप्त की और 1994 में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के सेंट एंटोनी कॉलेज से सोशल एंथ्रोपोलॉजी से मास्टर की भी डिग्री हासिल किया।


अर्णब गोस्वामी का करियर | Arnab Goswami Success Life Story In Hindi


पढ़ाई पूरी होने के बाद उन्होंने 1995 में एक जर्नलिस्ट के रूप में द टेलीग्राफ न्यूजपेपर से अर्णब गोस्वामी ने अपनी कैरियर की शुरुआत की पर उन्हें इस संस्था में काम करना रास नहीं आया और एक साल के अंदर ही अपना काम छोड़कर टीवी न्यूज चैनल NDTV24×7 से जुड़ गए।


जहाँ वे डेली न्यूज कास्ट की एंकरिंग करने लगे और साथ ही डीडी मेट्रो पर टेलीकास्ट होने वाली न्यूज टुनाइट की भी एंकरिंग करने लगें। अर्णब गोस्वामी के बेहतर काम के कारण उन्हें जल्दी ही NDTV की कोर टीम में शामिल कर लिया गया।


जिसमें उन्हें सीनियर ऑडिटर बनाया गया, जो चैनल और प्रसारित होने वाले सभी कंटेंट के लिए जिम्मेदार होते थे। इसी कारण वो डीडी टीवी छोड़कर NDTV के लिए 24×7 काम करने लगे।


अब वे डेली न्यूज के साथ साथ NDTV के प्राइम शो न्यूज नाईट को भी होस्ट करने लगे। यहाँ भी उन्हें अपने अच्छे काम करने के लिए एशिया के बेस्ट न्यूज एंकर के रूप में एशियन टेलिविजन अवार्ड मिला।


ये भी पढ़ें:- दबंग CM योगी आदित्यनाथ की जीवन कहानी।


2006 में अर्णब गोस्वामी ने NDTV की नौकरी छोड़ दी और टाइम्स नाउ को ऑडिटर इन चीफ और एक एंकर के रूप में जॉइन कर लिया।


वे उस चैनल और प्रसारित होने वाले लाइव न्यूज़ कवरेज प्रोग्राम News.R. को होस्ट करते थे। जिसमें दुनिया की जानी मानी हस्तियां जैसे परवेज मुशर्रफ और राहुल बजाज जुड़े थे।


साथ ही वे स्पेशल इंटरव्यू प्रोग्राम फ्रांकिंग स्पीकिंग विथ अर्णब प्रोग्राम को भी होस्ट कर चुके थे। जिसमें वे बनर्जी भुट्टो,हामिद करजई, दलाई लामा, हिलेरी क्लिंटन और सोनिया गांधी जैसे दुनिया के बड़ी पर्सनाल्टी का इंटरव्यू लेते थे।


अर्णब गोस्वामी की लाइव न्यूज एंकरिंग की सबसे बड़ी खासियत ये थी कि वे बिना स्क्रिप्ट के ही कुछ ऐसे तेज तर्रार सवाल पूछ देते थे जिसका जवाब देने वाला भी सोच में पड़ जाता था।


साथ ही अर्णब गोस्वामी सवाल पूछने के साथ-साथ अपने उतेजना का भी गजब प्रदर्शन करते हैं जो देखते ही बनता है। यहीं कारण है कि लोग उनको न्यूज प्रेजेंटेशन के बड़े दीवाने हैं। 


लोगों की दीवानगी की आलम ये है कि लोग यूट्यूब पर अर्णब गोस्वामी की वीडियो अपलोड होते ही कुछ ही घन्टो में लाखों लोगों देख लेते हैं।


उनके द्वारा होस्ट किये गए न्यूज TRP दूसरे न्यूज प्रोग्राम के मुकाबले काफी ज्यादा होती है। अर्णब गोस्वामी एक लेखक भी है जो 2002 में Combating terrorism: The legal challenge के नाम से आतंक के विरुद्ध भारत के कानून को केंद्रित करके किताब भी लिख चुके हैं। जिसे काफी पसंद किया गया था।


1 नवंबर 2016 को खबर आई कि अर्णब गोस्वामी टाइम्स नाउ को छोड़ दिया है। इसकी वजह बताई गई कि वो कॉरपोरेट घरानों के साथ मिलकर खुद की न्यूज चैनल स्थापित करना चाहते हैं।


Arnab Goswami With Republic TV | अर्णब गोस्वामी और रिपब्लिक टीवी

Arnab goswami and republic tv story,success story of arnab goswami in hindi
Arnab Goswami & Republic TV


अर्णब गोस्वामी को बचपन से बहस करना बहुत पसंद था। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि पहले स्टुडियो में जब डिस्कस होता था तो वो बहुत शांति से होता था और वो डिबेटिंग को बहुत मिस करते थे।

जब अर्णब गोस्वामी को खुद का अपना न्यूज चैनल खोलने का मौका मिला तो उनकी पुरानी आदतें वापस उनको मिल गयी और उनका डिबेट करने का सपना पूरा हो गया।


वैसे अर्णब गोस्वामी का सपना है कि भारत मे भी BPC और CNM की तरह ग्लोबल न्यूज चैनल हो जिसकी मान्यता पूरे विश्व में हो। शायद यहीं वजह है कि वो अपना न्यूज चैनल स्थापित कर चुके हैं जिसका नाम है रिपब्लिक टीवी।


ये चैनल 6 मई 2017 को बिना कोई ads के लॉन्च किया गया था। चैनल के लांच होने के बाद लगातार 100 हफ्तों तक भारत का सबसे ज्यादा देखा जाने वाला चैनल बना रहा था।


बता दें कि मई 2017 में रिपब्लिक टीवी के शुरू होने के बाद से ही रिपब्लिक टीवी ने काफी तेजी से विकास किया है और हिंदी से लेकर इंग्लिश की कैटेगरी में काफी ऊंचा मुकाम हासिल किया है।


लंबे समय से पत्रकारिता कर रहे अर्णब गोस्वामी को उनके अलग अंदाज के लिए जाना जाता है। महज तीन सालों में ही अर्णब गोस्वामी की नेतृत्व में रिपब्लिक टीवी ने बहुत तेजी से आगे बढ़ा है।


अर्णब गोस्वामी न्यूज | Arnab Goswami Controversy In Hindi


अर्णब गोस्वामी ने अपने न्यूज एंकरिंग से जितना नाम कमाया है उतना ही उनके साथ विवादों का भी नाता रहा है। इसकी वजह ये बतायी जा रही है कि वे सत्ताधारी पार्टी के हित में रहकर काम करते हैं और अपने प्राइम शो में देश की जरुरी समस्याओं के बारे में टिप्पणी नहीं करते हैं।


इनके जर्नलिज्म और बहस करने के तरीके के कारण अर्णब गोस्वामी काफी को विवादों का सामना करना पड़ा है। भाजपा और हिंदुत्व के सपोर्ट में बोलने के लिए इन्हें एकतरफा रिपोर्टिंग के लिए आरोपित किया गया था।


ये भी पढ़ें:- देश के सबसे लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सफलता का राज


जिस समय इन पर आरोप लगे थे उसी समय संसद भवन के सदस्य शशि थरूर ने रिपब्लिक टीवी के खिलाफ केस कर दिया था। उन्होंने दिल्ली हाइकोर्ट में ये कहकर केस फ़ाइल किया था कि 2014 में उनकी पत्नी सुनन्दा पुष्कर की मौत में अर्णब गोस्वामी का हाथ था।


25 अगस्त 2018 को द वीक मैगजीन के हिसाब से अर्णब गोस्वामी को सोशल मीडिया पर मौखिक रूप से ट्रोल किया गया था जब उन्हें तीस सेकेंड की वीडियो में एक ग्रुप में एक विवादित बयान दिया था।


साथ ही जिन लोगों ने भारत सरकार की आलोचना की थी उन्हें अर्णब गोस्वामी ने देशद्रोही, विदेशी और बेशर्म कहा था। जिससे इनको काफी विरोध झेलना पड़ा था। इनको केरला के लोगों ने रिपब्लिक टीवी की फेसबुक और ट्विटर अकाउंट पर काफी अनाब शनाब कहे थे।


लेकिन जब बहुत सारे न्यूज एजेंसी ने सारे तथ्यों को जाँच किये तो पता चला कि अर्णब गोस्वामी ने केरला के लोगों को नहीं बल्कि टुकड़े टुकड़े गैंग को टारगेट करते हुए कहा था।


अर्णब गोस्वामी को इसी साल 2020 में पालघर मॉब लिंचिंग के चलते भी काफी आलोचना झेलना पड़ा लेकिन उन्होंने अपनी निर्भय पत्रकारिता से सबको चुप करा दिया।


गौरतलब हो कि अर्णब गोस्वामी सुशांत सिंह राजपूत केस हो या फिर हाथरस केस हो वे इन सबमें बहुत आक्रामक तेवर अपनाए हुए हैं।


हाल ही में उन्होंने अपने टीवी प्रोग्राम में प्रतिस्पर्धी चैनल आजतक पर जमकर निशाना साधा है। रिपब्लिक टीवी में अपने कार्यक्रम पूछता है भारत में बहस के दौरान अर्णब गोस्वामी काफी भड़क गए और यहाँ तक कह डाला था कि रिया चक्रवर्ती और मुंबई पुलिस को बचाने के लिए आज तक वालों ने सुशांत सिंह राजपूत पर गलत आरोप लगा रहे हैं।


हाल ही में उनको TRP से खिलवाड़ के मामले में जेल भी जाना पड़ा था लेकिन सुप्रीम कोर्ट में मामलों पर कोई सटीक सबूत ना मिलने के वजह से उनको रिहा कर दिया गया। जिसके बाद पूरा देश अर्णब गोस्वामी की कहानी के बारे में और ज्यादा रुचि लेने लगे। इस दौरान उनकी लोकप्रियता काफी बढ़ गई और पुुरे देश में उनकी चर्चा होने लगी।


Arnab Goswami Security | अर्णब गोस्वामी की सुरक्षा


अर्णब गोस्वामी को उनके जान के खतरे को ध्यान में रखते हुए सरकार ने उनको Y+ सिक्युरिटी प्रदान की गई है। इसका मतलब ये है कि इनके पास कुल 11 सुरक्षाकर्मी मौजूद है और एक या दो कमांडो है जो अर्णब गोस्वामी की सुरक्षा के लिए दिन रात साथ रहते हैं।


अर्णब गोस्वामी अवार्ड | Arnab Goswami Awards In Hindi


देश के सबसे प्रसिद्ध न्यूज एंकरों में से एक अर्णब गोस्वामी को कई बड़े-बड़े अवार्ड से सम्मानित किया जा चुका है। उनके निर्भिक और साहसिक एंकरिंग के चलते अर्णब गोस्वामी को बेस्ट एशियन न्यूज एंकर पुरस्कार भी दिया जा चुका है।


साथ में अर्णब गोस्वामी को साल 2008 में रामनाथ गोयनका आवर्ड फ़ॉर एक्ससलेन्स जर्नलिज्म से सम्मानित किया गया था। 8 दिसम्बर 2019 में इन्हें न्यूज ब्रॉडकास्टिंग फेडरेशन के प्रेसिडेंट बनाया गया था जो एक नई नई संस्था थी।


ये भी पढ़ें:-दुनिया के सबसे बुद्धिमान व्यक्ति अल्बर्ट आइंस्टीन की जीवन कहानी।


अर्णब गोस्वामी की सैलरी | Arnab Goswami Annual Income


अर्णब गोस्वामी अपने तीखे सवालों से बड़े-बड़े हस्ती की बोलती बंद करने वाले न्यूज कर अर्णब गोस्वामी की हर महीने की सैलरी 1.4 करोड़ रुपये से भी ज्यादा है। और अर्णब गोस्वामी का वार्षिक आय लगभग 2 मिलियन डॉलर से भी ज्यादा है।


अर्णब गोस्वामी की कुल सम्पति | Arnab Goswami Net Worth


रिपब्लिक टीवी पर अपने बहस के चलते अक्सर चर्चा में रहने वाले वरिष्ठ पत्रकार अर्णब गोस्वामी न सिर्फ सम्पादक के तौर पर कम्पनी से जुड़े हैं बल्कि उसकी बड़ी हिस्सेदारी भी उनके पास है।


रिपब्लिक मीडिया नेटवर्क की तरफ से दी गईं जानकारी के मुताबिक Arg Outlier Media Private Limited में अर्णब गोस्वामी की 82 प्रतिशत तक हिस्सेदारी है। यह कम्पनी रिपब्लिक टीवी और उससे जुड़े अन्य डिजिटल प्लेटफॉर्म का संचालन करती है।


इसके अलावा अर्णब गोस्वामी की रिपब्लिक टीवी के डिजिटल कारोबार में 99 प्रतिशत की हिस्सेदारी है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रिपब्लिक टीवी के कुल सम्पति करीब 1200 करोड़ है।


ऐसे में कम्पनी की 82 फीसदी हिस्सेदारी अर्णब गोस्वामी के पास होने का अर्थ है कि वो बहुत बड़ी सम्पति के मालिक है। हालांकि उनकी कुल सम्पति के बारे में कोई भी आधिकारिक आंकड़ा मौजूद नहीं है। फिर भी अर्णब गोस्वामी की कुल सम्पति 383 करोड़ से भी ज्यादा है।


उम्मीद करता हूँ कि आपको Arnab Goswami biography in Hindi अच्छी लगी होगी। अगर आपको अर्णब गोस्वामी की सफलता की कहानी थोड़ा भी अच्छा लगा हो तो कमेंट करके अपनी राय जरूर दें और इसे शेयर जरूर कीजिये।


ये भी पढ़ें:- सदी के सबसे क्रांतिकारी आदमी एलन मस्क के सफलता की कहानी।

Share this article on

Leave a Comment