रुला देने वाली दर्द भरी प्रेम कहानी | Real Life Love Story In Hindi

Real Life Short Emotional True Love Story In Hindi | Sad Love Story In Hindi | रुला देने वाली प्रेम कहानी

कहते हैं कि अगर प्यार जिस्म से नहीं दिल से किया गया हो तो फिर सारा कायनात उसे मिलाने में जुट जाता है। जी हां दोस्तों आज हम आपको ऐसे Real Life Emotional Short Love Story In Hindi सुनाने जा रहे हैं जब आपकी आंखें जरूर भर देगी।

इस Hindi Love Story में आपको प्यार की ऐसी निर्मल और पवित्र कहानी पढ़ने को मिलेगी जो सच्चा प्यार क्या होता है ये कहानी आपको बताएगी। तो चलिए बिना देर किए Real Life Heart Touching True Love Story In Hindi शुरू करते हैं।

Real Life Short Emotional True Love Story In Hindi | Bewfa Story in Hindi | दर्दभरी प्रेम कहानी

एक लड़का और एक लड़की आपस में बहुत प्यार करते थे। वे दोनों हमेशा मजाक मस्ती करते रहते थे लेकिन केवल फोन पर। वे कभी आपस में मिले नहीं थे पर उनका प्यार बहुत गहरा था। वे एक दूसरे को बहुत अच्छे से समझते थे, वे एक-दूसरे की फिक्र और इज्जत किया करते थे।

उनके बेपनाह प्यार को करीब एक साल हो चुके थे। फिर वे दोनों एक दिन आपस में होटल मे मिले। लड़की और लड़के ने ऐसा कुछ नहीं किया जिससे उनको कुछ गलत लगें। लड़की ने लड़के से पूछा- मेरे अकेले होते हुए भी तुमने मेरे साथ कुछ नहीं किया और मैं आपसे कुछ कहा भी नहीं।

ये भी पढ़ें:- बच्चों के लिए 3 बेहद ही रोचक और ज्ञानवर्धक कहानियां।

लड़का उसको गले लगाकर बोला- मोहब्बत दिल से करता हूँ दिल से नहीं। मैं आपसे मिलने आया हूँ आपके इज्जत को बर्बाद करने नहीं और ये सब मैं शादी के बाद भी कर सकता हूँ। वे दोनों एक-दूसरे के गले लग गए। लड़की उससे बोली कि मैं बहुत खुशनसीब हूँ कि मुझे तुम जैसा साथी मिला। इसके बाद लड़का और लड़की दोनों अपने-अपने घर आ गए।

एक दिन लड़का की बात है जब लड़का और लड़की ने शादी करने का फैसला किया। लेकिन वे दोनों भाग कर शादी नहीं करना चाहते थे। लड़की ने उस लड़के से शादी के बारे में अपने मम्मी पापा को सबकुछ बता दिया था। फिर उसके पापा ने लड़के को बुलाया और लड़के से कहा- मैं अपनी बेटी की शादी तुमसे नहीं कर सकता। तेरी समाज अलग है और मेरी समाज अलग है।

अगर मैं अपनी बेटी की शादी तुमसे कर दूं तो मेरी समाज में बहुत बदनामी होगी। फिर तुम्ही बताओ मैं अपनी बेटी तुमको कैसे दे दूं जो मेरी जान पहचान का नहीं है। वहाँ पर न तो मेरा कोई रिश्ता है और ना ही मैं तुमको अच्छे से जानता हूँ। मुझे माफ़ करना पर मेरी बेटी को भूल जाना।

लड़का लड़की के पिता को प्यार को देखकर दिल थाम कर बोला- पापाजी आप चिंता मत करो मैं शादी नहीं करूंगा। आपका पूरा फर्ज बनता है कि आप अपने लड़की के लिए कोई अच्छा जीवनसाथी देखना। आपकी इज्जत और आपकी बेटी आज भी वैसे ही पवित्र है जो पहले थी। मैं मेरे मन से बहुत खुश हूं कि शादी से पहले आपके लड़की के साथ ऐसा कुछ नहीं किया जिससे कि आप शर्मिंदा हो सके।

मैं एक बार उससे मिला हूँ पर उसके साथ कुछ नहीं किया हूँ और आपकी बेटी आज भी पहले की तरह ही पवित्र है। मैं उसको देखकर बहुत खुश हूं परन्तु मैं इस बात की गारंटी आपको नहीं दे सकता कि उसको भूल जाऊंगा। याद तो करूँगा बस आपकी बेटी को कभी नहीं बताऊंगा।

आप शादी की तैयारी करो। मैं आपकी इज्जत को समाज में नहीं उछालना चाहता हूँ। आपकी बेटी से नहीं मिलूंगा और अब मैं चलता हूँ। लड़की ये सब छुपकर सुन रही थी और वो फुट-फुटकर रो रही थी। उसने रोते हुए अपने पापा से बोला- पापा मैं उससे प्यार करती हूं पर मैंने सोचा कि आप हमारे रिश्ते के लिए राजी हो जाओगे इसलिए मैं प्यार करने लग गयी।

पापा! मैं भाग कर शादी नहीं करना चाहती थी जिससे आपकी बदनामी हो। पापा ये लड़का बहुत अच्छा है। उसने आजतक कभी मुझे छुआ तक नहीं और मेरी हर बात मानता है। फिर भी पापा मैं आपकी बेटी हूँ,मुझ पर केवल आपका अधिकार है। आप जैसा बोलोगे वैसा ही करूंगी। आप कहोगे तो मैं इससे शादी करूंगी वरना नहीं करूंगी।

ये भी पढ़ें:- ये 7 प्रेरणादायक कहानियां आपकी जिंदगी बदल सकती है।

लड़के के सामने ही लड़की रोती हुई बोली- मुझे माफ कर देना। मैं यहीं सोच कर तुमसे शादी के लिए बोलती रही कि शायद हमसब ठीक कर देंगे। पर मुझे माफ़ कर देना। प्लीज हो सके तो भूल जाना।

लड़की के आंखों में आंसू देखकर लड़के को तकलीफ हो रही थी। लड़के को भी रोना आ गया और उसने लड़की से बोला- जरूरी नहीं कि हमारी शादी हो। प्यार तो दिल से होता है जिस्मों से नहीं। पागल! अब चुप हो जाओ वरना मैं भी रो दूंगा।

ये सब देखकर लड़की के पापा का दिल भर आया और आंखों से आंसू निकलने के लगे। उन्होंने दोनों को गले लगाया और बोले- घर-समाज सब बाद में देखा जाएगा।

मेरी गुड़िया खुश रहे वही मेरे लिए काफी है और मुझे ऐसा लड़का कहाँ मिलेगा जो मेरी बेटी के आंखों में आंसू देख ही नहीं सकता। जो घरवालों के मर्जी के बिना शादी नहीं करना चाहता। बेटा मुझे माफ़ कर देना। अब तुमदोनों की शादी बहुत धूमधाम से करेंगे।

जहाँ मेरी बेटी की इतनी फिक्र हो। यह लड़का कभी ग़लत नहीं हो सकता। कहते हैं “अगर लड़का और लड़की का प्यार दिल से गहरा हो तो उनको मिलने से कोई नहीं रोक सकता।”

दोस्तों आपको ये Real Life Short Emotional True Love Story In Hindi कैसी लगी? अगर आपको ये कहानी जरा भी आपके प्यार को याद दिलाती हो तो इसे अपनों के पास जरूर शेयर कीजिये।

Share this article on

Leave a Comment