Insurance लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Insurance लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Star Health Insurance Policy Details In Hindi

Star Health Insurance Policy Details In Hindi

Star Health Insurance Policy Details In Hindi | स्टार हेल्थ इंश्योरेंस के बारे में पूरी जानकारी


आज के समय में पूरी दुनिया में अधिकांश लोग किसी न किसी बीमारी से जरूर पीड़ित है। ऐसे में अगर कोई बड़ी बीमारी किसी को हो जाये तो सबसे ज्यादा पैसों की तंगी का सामना करना पड़ता है।


कई बार तो हमें पैसों की कमी की वजह से मौत का भी सामना करना पड़ता है और पलभर में हम अपनों को खो देते हैं। लेकिन आज हम आपके लिए एक एक ऐसा स्कीम लेकर आये हैं जिसके मदद से आपको किसी भी बीमारी के इलाज के लिए कोई परेशानी का सामना नहीं करना होगा।


स्टार हेल्थ इंश्योरेंस क्या है?


इस हेल्थ इंश्योरेंस में आपको पूरे परिवार को बीमा योजना का लाभ मिलेगा। ये योजना लोगों के द्वारा हेल्थ केयर सेक्टर में सबसे अधिक पसंद किया जाने वाला Star Health Insurance Policy है।


Star Health Insurance के तहत आज लाखों भारतीय अपना हेल्थ इंश्योरेंस करवाकर अपना और अपने परिवार को किसी अनचाही घटना से सुरक्षा प्रदान किये हुए हैं। इसलिए अगर आपने अभी तक कोई हेल्थ इंश्योरेंस नहीं लिया है तो Star Health Insurance आपके लिए सबसे बेस्ट ऑप्शन है।


ये इंश्योरेंस क्यों सबसे बेस्ट है इसकी पूरी जानकारी Star Health Insurance Policy Details In Hindi के माध्यम से पूरी विस्तार से जानते हैं।


Star Health Insurance Benefits In Hindi | स्टार हेल्थ इंश्योरेंस ही क्यों लेना चाहिए?


आगे की जानकारी शुरू करने से आइये हम सबसे पहले Star Health Insurance के लाभ के बारे में जान लेते हैं।


1. ये भारत की पहली ऐसी इंश्योरेंस कंपनी है जो केवल हेल्थ इंश्योरेंस की सेवा प्रदान करती है। जबकि अन्य कम्पनियां जनरल इंश्योरेंस और लाइफ इंश्योरेंस सारी सेवाएं प्रदान करती है और ऐसी कम्पनियां केवल अपनी मुनाफा देखती है न कि लोगों की भलाई। इसलिए हेल्थ इंश्योरेंस में Star Health Insurance आपके लिए सबसे बेस्ट हो सकता है।


2. इस कम्पनी के केवल हेल्थ इंश्योरेंस प्रदान करने की वजह से लोगों का कोई समस्याओं का निदान तुरन्त करती है।
3. इस कम्पनी का कोई भी थर्ड पार्टी से कोई लेना देना नहीं है।
4. ये कम्पनी खुद ही क्लेम सेटलमेंट करती है, जिससे जनता को insurance का लाभ लेने में कोई दिक्कत नहीं होता है।


5. इस इंश्योरेंस कम्पनी का पूरे देश में सबसे अधिक लगभग 10200 हॉस्पिटल में लाभ ले सकते हैं, जबकि अन्य हेल्थ इंश्योरेंस कम्पनियों के साथ आप केवल गिने-चुने अस्पतालों में ही सेवा ले सकते हैं। अर्थात कि आप 10200 हॉस्पिटल में कैश लेश बीमा का लाभ ले सकते हैं।


6. आपको इस इंश्योरेंस कम्पनी का सबसे बड़ा लाभ बता दें कि आपका 90% क्लेम सेटलमेंट केवल 2 घंटे के अंदर ही अप्रूव कर दिया जाता है।

7. इसका ओवरऑल क्लेम सेटलमेंट रेश्यो 99% से भी अधिक है जो इसके पारदर्शिता को दर्शाता है।
8. पूरे भारत में इसका 640 से भी अधिक शाखायें हैं, जिससे लोगों को अपनी कोई भी समस्या को लेकर दूर-दूर तक चक्कर नहीं लगाना पड़ता है।
9. इस हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी का बाजार में 13% से भी अधिक का अधिक हिस्सेदारी है, जो लोगों के विश्वास को दर्शाता है।


10. Star Health Insurance कम्पनी का solvency ratio 1.69% है, जबकि भारत सरकार द्वारा तय ratio 1.5% है। इसलिए आप इस कम्पनी से हेल्थ इंश्योरेंस लेने के फायदे समझ सकते हैं।


Star Health Insurance Eligibility Criteria In Hindi


आइये अब जानते हैं कि Star Health Insurance का लाभ कौन ले सकता है?


1. वैसे आदमी जिनकी उम्र 18 साल से लेकर 65 साल के बीच हो उनको इस insurance का लाभ मिल सकता है।
2. इसके अलावा 16 दिन के बच्चे से लेकर 25 साल तक के आदमी को अपने माता-पिता के साथ बीमा कवर का लाभ मिल सकता है।
3. इस insurance में परिवार के कुल 5 सदस्यों को लाभ मिल सकता है। जिसमें दो माता-पिता और 3 बच्चे शामिल हो सकते हैं।
4. इसके तहत आपको 3 लाख, 4 लाख, 5 लाख, 10 लाख, 15 लाख, 20 लाख और 25 लाख तक बीमा कवर मिल सकता है।
5. इस पॉलिसी का अवधि 1 साल का होता है। लेकिन आप इसको लाइफ टाइम के लिए रिन्यूअल कर सकते हैं।


ये भी पढ़ें:-● भारत की 3 सबसे अच्छी टर्म insurance कम्पनी

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना की पूरी जानकारी


Star Health Optima Insurance Policy Details In Hindi | Best Health Insurance Plans In India

Star health insurance policy details in hindi, star health insurance plan in hindi
Star Health Insurance Policy Details In Hindi

1. Room Rent Facility: अगर आपका 3 लाख से 4 लाख तक का पॉलिसी है तो आपको 5 हजार तक का रूम रेंट मिल सकता है। अर्थात अगर आपका पॉलिसी लाख तक का है और अगर आपका रूम रेंट 6 हजार का रोज लग रहा है तो कम्पनी को 5 हजार रुपये देगी लेकिन एक हजार आपको ही लगाना होगा। इसलिए हम आपको एक सुझाव देंगे कि पॉलिसी 5 लाख से ऊपर का ही लें। इसमें आपके रूम का पूरा खर्च स्टार हेल्थ इंश्योरेंस कंपनी ही उठाएगा।


2. Pre Hospitalization Facility: इस facility में आपको हॉस्पिटल में भर्ती होने के 60 दिन पहले तक का खर्च कम्पनी देगी। अर्थात बीमारी के समय आपने कोई जाँच कराया है, दवा लिया है, डॉ से कोई सलाह लिए हुए हैं तो इन सबका खर्च कम्पनी ही उठाती है।


3. Post Hospitalization Facility: इसमें आप जब से हॉस्पिटल से डिस्चार्ज हुए हैं उसके 90 दिन बाद तक का सारा खर्च कम्पनी ही उठाती है। इसमें सिटी स्कैन, जांच, एक्सरे, दवा इत्यादि शामिल होता है। साथ ही हॉस्पिटल में इलाज के दौरान आपने कितना फीस दिया है इन सबका खर्च कम्पनी हो उठाती है।


4. Other Medical Facility: इसमें अगर आपको खून की कमी है, ICU का खर्च, डायलिसिस, केमोथेरेपी, रेडियोथेरेपी, दवा इत्यादि इन सबका खर्च कम्पनी ही देती है।


5. Ambulance Facility: इसमें आपको एक हॉस्पिटल में एडमिट होने के लिए 750 रुपये और साल भर में 1500 रुपये एम्बुलेंस का खर्च दिया जाता है।


6. Air Ambulance Facility: अगर आपको इलाज के लिए एक शहर से दूसरे शहर में जाना होगा, लेकिन आपको तत्काल पहुँचना जरूरी है तो ऐसे में आप air ambulance की सुविधा ले सकते हैं। इस सुविधा का लाभ उन्हीं लोगों को मिल सकता है, जिन्होंने कम से कम 5 लाख तक का insurance लिया है। अगर आपने 5 लाख का insurance लिया है तो आपके बीमा का 10% अर्थात 50 हजार तक का खर्च कम्पनी देगी।


7. New Born Baby Facility: इसमें अगर पति-पत्नी एक साल से पॉलिसी लिए हुए हैं और इसी बीच अगर आपका कोई बच्चा जन्म लेता है तो इसमें 10% तक का बीमा कवर बच्चे को मिलता है।


इसमें एक बात ध्यान देना जरूरी है कि आपको डिलेवरी का खर्च नहीं मिलेगा और बच्चे के 16 दिन होने के बाद से बीमा कवर का फायदा मिलेगा। अर्थात 16 दिन के बाद से अगर बच्चे को कोई परेशानी होती है तो 50 हजार तक का खर्च कम्पनी बिना प्रीमियम लिए हुए देती है।


8. Donner Facility: इसमें अगर आपके शरीर का कोई अंग किसी दूसरे से लेकर लगाया जाता है तो आपके आपके बीमा योजना का 10% खर्च कम्पनी देती है। अर्थात अगर आपने 10 लाख का बीमा लिया है तो 1 लाख रुपये का सहायता बीमा कम्पनी देगी। इसमें ध्यान देने योग्य बात ये है कि आपको अधिकतम 1 लाख तक का सहायता दिया जाएगा।


9. Share Accommodation Facility: इसमें अगर आपका 5 लाख के ऊपर का बीमा है तो आपको एसी रूम का खर्च कम्पनी देगी। लेकिन इसमें भी अगर आप 1 रूम में दो आदमी रहकर इलाज करा रहे हैं तो कम्पनी आपको 800 रुपये रोज अलग से देगी। इस तरह अगर आप हॉस्पिटल में 10 दिन तक रहते हैं तो कम्पनी अलग से 8000 रुपये देगी।


ये भी पढ़ें:-● बजाज फाइनेंस से 20 लाख का पर्सनल लोन कैसे लें?

RBL Bank की पूरी जानकारी।


10. Domiciliary Hospitalization Facility: इसमें अगर आप बीमार है लेकिन हॉस्पिटल में किसी कारणवश कोई कमरा खाली नहीं है या फिर रोगी की ऐसी हालत है कि उसे हॉस्पिटल नहीं लेकर जा सकते हैं तो इस अवस्था में अगर घर पर रहकर ही इलाज कराते हैं तो कम्पनी अलग से इसका खर्च देती है। लेकिन इस सुविधा का लाभ तभी मिल सकता है जब आपका इलाज 3 दिन से ज्यादा चला हो और आपको कोई गम्भीर बीमारी हो।


11. Compassionate Travel Expenses Facility: इसमें अगर आप लखनऊ में रहते हैं और किसी काम से आपको मुम्बई जाना पड़ता है। किसी कारणवश आपको हॉस्पिटल में भर्ती होना पड़ता है तो ऐसे में अगर आपके देखरेख के लिए आपके घरवाले मुम्बई जाते हैं तो कम्पनी एक आदमी पर 5 हजार तक का खर्च जोड़कर देगी।


12. Free Medical Opinion Facility: अगर पहले से किसी हॉस्पिटल में एडमिट है लेकिन आप वहाँ के इलाज से संतुष्ट नहीं है तो Star Health Insurance कम्पनी से बात करके सुझाव ले सकते हैं। इस अवस्था में ये कम्पनी ही आपको सुझाव दे देगी कि आपको किस हॉस्पिटल में जाना चाहिए।


13. Ayush Treatment Facility: अगर आपने 5 लाख का बीमा ले रखा है तो कम्पनी आपको 15 हजार तक की सुविधा कम्पनी के द्वारा दी जाएगी।


14. Cataract Surgery Facility: इस Facilty में अगर आपका 5 लाख का पॉलिसी है तो एक आँख के इलाज के लिए 40 हजार रुपये दिया जाएगा और अगर उसी साल आपने दूसरे आँख का भी ऑपरेशन करवायेंगे तो और 20 हजार रुपये का सहायता दिया जाएगा। इस तरह आपको कुल 60 हजार की राशि प्रदान की जाएगी।


परन्तु अगर आप पहले साल में एक आँख का ऑपरेशन करवाते हैं और उसी साल दूसरे आँख का ऑपरेशन न करवाकर दूसरे साल में करवाते हैं तो कम्पनी हर आँख के लिए 40 हजार रुपये देगी।


15. Recharge Facility: ये सुविधा Star Health Insurance के महत्व को और चार चांद लगा देता है। इसमें अगर आपने 5 लाख का पॉलिसी लिया है और आपके इलाज में 5 लाख से ऊपर का खर्च आता है तो कम्पनी तुरन्त 1 लाख 50 हजार का रिचार्ज करती है। अर्थात अगर इलाज में 6 लाख का खर्च आता है तो कम्पनी 6 लाख का खर्च देगी।


16. Automatic Restoration Facility: इस कम्पनी का सबसे जबरदस्त facility कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होनी चाहिए। इसमें आपको तीन गुना तक का लाभ मिल सकता है। ये सुविधा कब मिलती है आइये जानते हैं। अगर आपके परिवार में इलाज के रूप में 5 लाख का बीमा खर्च हो जाता है तो कम्पनी बचे फैमिली मेंबर्स के लिए आपके बीमा कवर में और 5 लाख जमा कर देती है।


इसके बाद अगर एक और आदमी के ऊपर 5 लाख रुपये इलाज में खर्च हो जाता है तो कम्पनी फिर से 5 लाख आपके बीमा कवर में और जमा कर देती है। ऐसा कम्पनी 3 बार करती है।


यहाँ एक बात ध्यान देने वाली है कि एक ही आदमी के लिए एक ही बीमारी पर इसका लाभ नहीं मिलेगा और न ही एक्सीडेंट होने पर इसका लाभ मिलेगा।


17. Additional Sum Insured Facility: इसमें अगर व्यक्ति किसी बाइक पर सवार होकर जा रहा है या फिर पीछे बैठा हुआ है और उसने हेलमेट लगाया है तो कम्पनी उसे 25% अतिरिक्त सहायता राशि प्रदान करती है।


अर्थात अगर आपने 5 लाख का बीमा लिया हुआ है और अगर आपका रोड एक्सीडेंट हो जाता है तो कम्पनी आपको 5 लाख के अलावा 1 लाख 25 हजार अलग से होगी। अर्थात 6 लाख 25 हजार रुपये देगी।


18. No Claim Bonus Facility: अगर आपने 5 लाख का बीमा लिया है और किसी साल क्लेम नहीं लिया है तो अगले साल आपका बीमा राशि 25% बढ़कर 6 लाख 25 हजार हो जाएगा। फिर अगले साल कोई क्लेम नहीं करते हैं तो हर साल 10% बीमा राशि बढ़ते जाएगी। अधिकतम 100% तक आपका बीमा राशि बढ़ेगा। अर्थात अगर 5 लाख का insurance है तो 10 लाख तक का हो जाएगा।


19. Health Checkup Facility: अगर आपका 5 लाख का पॉलिसी है और पूरे साल आप कोई क्लेम नहीं करते हैं तब आपको 1500 रुपये वार्षिक स्वास्थ्य चेकअप के लिए दिया जाएगा।


20. Co-Pay Facility: अगर कोई व्यक्ति 60 साल के बाद Star Health Insurance लेता है तो उस व्यक्ति को 20% का खर्च खुद उठाना होगा। अर्थात अगर आपने 2 लाख का insurance लिया है तो 1 लाख 60 हजार कम्पनी देगी और 40 हजार उस व्यक्ति को देना होगा। इसलिए जहाँ तक हो सके 60 साल से पहले insurance लेने की कोशिश करें।


Star Health Insurance Terms & Conditions In Hindi


1. Star Health Insurance लेने के अगर आप 30 दिन के अंदर किसी भी तरह के इलाज का खर्च कम्पनी कवर नहीं करेगा।
2. पॉलिसी लेने के 24 महीने के भीतर अगर कोई व्यक्ति हर्निया, पथरी इत्यादि जैसी कोई बीमारी होती है तो कम्पनी से किसी भी तरह का लाभ नहीं मिलेगा। ये IRDA का नियम है जो हर कम्पनी के ऊपर लागू होता है।
3. पॉलिसी लेते समय आपने जो भी बीमारी का ब्यौरा कम्पनी को दिया होगा तो 48 महीने तक कम्पनी उस बीमारी का कवर नहीं करेगी।
4. इसके अलावा हेल्थ इंश्योरेंस कम्पनियों के पॉलिसी का लाभ कब नहीं मिलता है उसकी पूरी जानकारी यहाँ क्लिक कर के प्राप्त कर सकते हैं।


Star Health Insurance Plan In Hindi


1. फैमिली हेल्थ ऑप्टिमा इंश्योरेंस पॉलिसी
2. स्टार कार्डियक केयर इंश्योरेंस पॉलिसी
3. स्टार कैंसर केयर गोल्ड पॉलिसी
4. सीनियर सिटीजन रेड कार्पेट हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी
5. स्टार कॉम्प्रिहेंसिव इंश्योरेंस पॉलिसी
6. स्टार क्रिटिकेयर प्लस इंश्योरेंस पॉलिसी
7. स्टार सुपर सरप्लस इंश्योरेंस पॉलिसी
8. स्टार हॉस्पिटल कैश इंश्योरेंस पॉलिसी
9. आरोग्य संजीवनी पॉलिसी
10. स्टार नोवेल कोरोनावायरस इंश्योरेंस पॉलिसी
11. कोरोना कवच पॉलिसी
12. कोरोना रक्षक पॉलिसी


Star Health Insurance Hospital List Pdf


आइये अब जानते हैं कि आपके आसपास कौन-कौन से ऐसे हॉस्पिटल है जिसमें आप हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी का लाभ ले सकते हैं। इन हेल्थ इंश्योरेंस कम्पनियों के हॉस्पिटल का लिस्ट कैसे निकालें इसकी जानकारी विस्तार से प्राप्त करते हैं।


जैसे मान लीजिए कि आप नई दिल्ली के निवासी हैं तो आप यहाँ क्लिक करके star health insurance hospital list देख सकते हैं। ऐसे ही आपको जिस किसी शहर का लिस्ट चाहिए आप यहाँ से सर्च करके प्राप्त कर सकते हैं।


दोस्तों हमें उम्मीद है कि आपको star health insurance policy details in hindi अच्छी तरह से समझ आ गयी होगी।


अगर आपको स्टार हेल्थ इंश्योरेंस के बारे में पूरी जानकारी मिल गयी होगी। अगर आपको गए article अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें धन्यवाद।।

ये भी पढ़ें:

1. एसबीआई से 20 लाख का पर्सनल लोन कैसे लें?

2. प्रधानमंत्री विद्यालक्ष्मी योजना से किसी भी बैंक से एजुकेशन लोन कैसे लें?

3. प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना का लाभ कैसे लें?


Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana Full Details in hindi

Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana Full Details in hindi

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना क्या है और इससे अपने परिवार को कैसे सुरक्षित करें?


Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana in hindi,pmjjby
Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana


दोस्तों आज हम बात करेंगे कि pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana क्या है, और ये कैसे काम करती है। अगर आपको इन सारी बातों की जानकारी प्राप्त करनी है तो इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ियेगा।


इस article में हम आपको प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के बारे में पूरी जानकारी देंगे। तो चलिए बिना किसी देरी के इस योजना के बारे में जानते हैं।


◆ Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana kya hai | प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना क्या है?


अगर हम बात करें कि pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana के बारे में तो ये एक टर्म इंश्योरेंस प्लान है।


Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana एक ऐसी योजना है जिसके अंतर्गत आप लोगों को सालाना मात्र ₹330 का प्रीमियम भर के आप लोग ₹200000 तक का इंश्योरेंस कवर पा सकते हैं। यह इंश्योरेंस कवर आप लोगों को आप की मृत्यु के बाद अचानक मृत्यु के बाद आप के नॉमिनी के अकाउंट में ट्रांसफर कर जाता है।


साथियों जरा आप सोचे मात्र ₹330 सालाना ही आपको जमा कर देना यानि कि महीने के लगभग साढे 27 ₹ आपको जमा करने हैं और आप के बाद आपके परिवार को ₹200000 तक का इंश्योरेंस कवर मिल सकता है।


साथियों pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana भारत सरकार के द्वारा शुरू की गई थी जिसका एकमात्र उद्देश्य भारत के सभी लोगों का जीवन बीमा करना था क्योंकि भारत में बहुत कम लोग ही जीवन बीमा कराते हैं। 


अधिकतर जो जॉब करते हैं या फिर कोई जॉब करते हैं या फिर मतलब कि बड़े स्तर पर है,वही लोग अपना जीवन बीमा कर आते हैं।


लेकिन साथियों अक्सर छोटे लोग जैसे कि जो किसान हुए, मजदूर हुए हैं, साथ ही अन्य जो गरीब तबके के लोग हैं, वह न तो जीवन बीमा करा पाते और नहीं, किसी प्रकार का इंश्योरेंस करा पाते।


दोस्तों pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana का एकमात्र उद्देश्य भारत के सभी लोगों का जीवन बीमा कराएं। ताकि उनके कभी भी अकस्मात उनकी मृत्यु हो जाती है तो उनके बाल-बच्चे, माता-पिता या उनके परिवार को कुछ समय के लिए कहीं भी भटकना न पड़े।


दोस्तों प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना से जुड़ने के लिए आपके पास कम से कम एक बैंक अकाउंट होना चाहिए। अगर आपके पास मल्टीपल बैंक अकाउंट है,या विस्तार से जाने की अगर एक ज्यादा बैंक अकाउंट है तो भी आप लोगों को किसी एक बैंक अकाउंट से इस योजना को जोड़ना है।


दोस्तों अब जान लेते हैं कौन-कौन से एजेंसी इस योजना के अंतर्गत भाग ले रही हैं तो एलआईसी इसका सबसे बड़ा हिस्सेदार है। एलआईसी के साथ एचडीएफसी लाइफ, आईसीआईसीआई लोंबार्ड तथा एसबीआई लाइफ  भी इस योजना के साथ जुड़े हुए हैं। 


अर्थात देश के जितने भी बड़े मतलब कि इंश्योरेंस कंपनियां है सभी इस योजना से जुड़ी हुई हैं।


साथियों pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana (PMJJBY) में निवेश करने के बाद अगर उस व्यक्ति की मौत हो जाती है तो उसके परिवार को सहायता के रूप में दो लाख रुपये दीये जाते हैं। दोस्तों देश के हर एक आदमी को जीवन ज्योति बीमा योजना के लाभ पहुंचे इसके लिए केंद्र की मोदी सरकार ने 9 मई 2015 को इस योजना को शुरू किया था।


ये जरूर पढ़ें:- प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के 3 best लाभ और पूरी जानकारी | PMSBY


चलिये दोस्तों  अब इस टर्म प्लान के बारे में विस्तार से जानते हैं,की इसका मतलब क्या होता है। किसी बीमा कंपनी के टर्म प्लान का मतलब जोखिम से सुरक्षा होता है।टर्म प्लान के policy धारक के मौत होने पर बीमा कंपनी इंश्योरेंस का भुगतान कर देती है।


साथियों आपको और एक बात जान लेना आवश्यक है कि अगर policy लेने वाला व्यक्ति premium समय पूरा होने के बाद तक ठीक रहता है, तो ऐसे स्थिति में उसको कोई लाभ नहीं दिया जाता है। सच कहें तो दोस्तों वास्तव में term insurance बहुत मामूली प्रीमियम पर जोखिमों से सुरक्षा मुहैया कराने का बहुत ही बेहतरीन जरिया होता है।


◆ Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana(PMJJBY) की खासियत

Features of Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana,pmjjby, Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana
PMJJBY

● प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना में बीमा खरीदने के लिए किसी मेडिकल जांच की जरूरत नहीं होती है।


● प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा टर्म प्लान के तहत जो न्यूनतम उम्र होती है, वो 18 साल है और अधिकतम आयु 50 साल है। इस policy की maturity की उम्र 55 साल है।


प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के तहत टर्म प्लान को हर साल रिव्यु कराना होता है। इसमें बीमा की रकम 2 लाख रुपये तक है।


प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के लिए सालाना 330 रुपये जमा कराने होते हैं। यह रकम  आपके बैंक खाते से ईसीएस(Electronic clearing service) के जरिये  भी दिया जा सकता है। योजना का रकम में बैंक प्रशासनिक शुल्क भी लगाते हैं। इसके अलावा इस रकम पर GST (Goods & Service Tax) लागू होता है।


● बीमा कवर के दौरान अगर सदस्य की मौत हो जाती है तो 2 लाख रुपये उसके घरवालों को या फिर नॉमिनी को दिया जाता है।


● साथियों अगर आप 1 जून यानी कि जून के महीने में इस योजना से नहीं जुड़ते हैं। अगर आप अगस्त, सितंबर या अक्टूबर मतलब की जून के बाद कभी भी अगर आप इस योजना से जुड़ते हैं तो भी आप लोगों को प्रीमियम के रूप में ₹330 का ही भुगतान करना पड़ेगा ।


● दोस्तों अगर policy लेने वाला व्यक्ति कई बैंक में प्रीमियम चुकाया है, तब भी इस योजना की कुल मृत्यु लाभ 2 लाख से अधिक नहीं हो सकता है।


● कोई भी व्यक्ति इस बीमा को एक साल या उससे ज्यादा समय के लिए चुन सकता है। अगर किसी व्यक्ति ने लम्बी अवधि के लिए बीमा का ऑप्शन चुना है, तो उसका बैंक हर साल प्रीमियम की रकम  बैंक के बचत खाते से खुद काट लेता है।


● साथियों आपके बैंक खाते से प्रीमियम की रकम  काटे जाने के दिन से ही  आपको pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana की सूविधा मिलने लग जाती है।


● दोस्तों policy किसी भी तारिक को खरीदी गई हो पहले साल के लिए उसका कवरेज अगले साल तक 31 मई तक ही लागू होता है।


● pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana की कवर को हर साल 1 जून को बैंक खाते की प्रीमियम की रकम चुका कर रिव्यु की जा सकती है। यह जून से ही करना शुरु होता है। मन करता है तो जून के फर्स्ट वीक में या फिर साल में एक बार आपके अकाउंट से वह ऑटो डेबिट हो जाएगा।  


ये भी पढें:- Best Term Insurance in India | 3 सबसे अच्छी टर्म इंश्योरेंस कम्पनी।


इस योजना का कवरेज पीरियड क्या होता है तो दोस्तों 1 जून से लेकर 31 मई तक इस योजना का कवरेज पीरियड होता है। इसे इस दौरान यानी कि 1 साल तक इस दौरान आप कभी भी इस योजना से जुड़ सकते हैं।


साथियों इसके साथ ही एक चीज और आप लोग ख्याल रखेंगे, जिस दिन से आप लोग इस योजना से जुड़ेंगे उस दिन से करीब 45 दिन तक इनरोलमेंट पीरियड होता है तो इस इनरोलमेंट पीरियड के अंतर्गत आपको कोई भी कवरेज नहीं प्राप्त होगा। यानी कि 45 दिनों के बाद ही आप इस योजना का लाभ उठाने के लिए योग्य हो पाएंगे।


साथियों मतलब 45 दिनों के बाद कभी भी अगर आपकी अकस्मात मृत्यु होती है तो आपके परिवार को यानी कि आपके नॉमिनी को ₹200000 तक का इंश्योरेंस कवर अकाउंट में ट्रांसफर किया जाते हैं।


pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana के लिए जो फॉर्म है,वो अलग-अलग भारतीय भाषाओं में भी उपलब्ध कराए गए हैं। जैसे कि इंग्लिश, हिंदी, बांग्ला, कन्नड़, उड़िया, मराठी,तमिल,तेलुगु इत्यादि भाषाओं में।


◆ प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना का लाभ कैसे लें | Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana Benefits In Hindi

Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana,pmjjby,benefits of Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana
PM jeevan jyoti bima yojana

साथियों अब बात करते हैं कि  pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana ke labh आप कैसे ले सकते हैं?


दोस्तों अगर आप इस योजना को चालू करवाना चाहते हैं तो आपको कुछ नहीं करना है। बैंक जाकर वहां पर आप लोगों को pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana का एक फॉर्म मिलेगा। वह सभी बैंकों में उपलब्ध है तो वह फॉर्म भरना है।उस फॉर्म में ज्यादा कुछ नहीं भरना होता है।


उसमें मात्र आप लोग को अपना नाम,स्वयं का अकाउंट नंबर जिस अकाउंट से आप लोग ऑटो डेबिट अपने पैसे करवाना चाहते हैं उसका अकाउंट नंबर तथा अपना आधार नम्बर भरना होता है।


Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana से जुड़ने के लिए आप लोग को बता देते हैं कि कैसे इस योजना का क्लेम आप लोग को पाना है। दोस्तों क्लेम करने के लिए जब भी मान लीजिए अकाउंट होल्डर की यानी कि जो भी इस योजना से जुड़ा है, उसकी मृत्यु अचानक होती है तो जो उसका नॉमिनी है, वह बैंक जाएगा।


दोस्तों वहां पर उसको 2 फॉर्म मिलेंगे। एक क्लेम फॉर्म मिलेगा ही, साथ ही एक डिसचार्ज फ्रॉम मिलेगा तो इन दोनों फॉर्म को फिल अप करके आप लोग को बैंक में जमा कर देना है।


साथियों इसके बाद जो जो आईडी प्रूफ लगेगा आपको उसके साथ लगाना है। Death Certificate(मृत्यु प्रमाणपत्र) यानी कि जो भी व्यक्ति इस योजना से जुड़ा था उसका डेथ सर्टिफिकेट लगेगा। इसके अलावा उस व्यक्ति का आधार कार्ड का पूरा डिटेल और आधार कार्ड की फोटो कॉपी आप लगाएंगे।


साथ ही बैंक डिटेल यानी की पासबुक के फर्स्ट पेज और उसके लास्ट पेज के फोटो कॉपी आप लगाएंगे। तथा दोस्तों नॉमिनी का बैंक डिटेल का फोटो कॉपी लगाएंगे तो इतना सब कुछ आप डिटेल देंगे तो क्लेम का पैसा लगभग 30 दिनों के अंदर ही आपके एकाउंट में यानी कि नॉमिनी के अकाउंट में भेज दिया जाता है। साथियों बहुत ही सिंपल तरीका है क्लेम को पाने का।


साथियों उम्मीद करते हैं कि आप सभी लोगों को pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana के बारे में पूरी तरीके से समझ में आ गया होगा या pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana से सम्बंधित और भी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप इनकी ऑफिशियल वेबसाइट http://jansuraksha.gov.in/ पर भी जाकर प्राप्त कर सकते हैं।


Best Term Insurance in India | 3 सबसे अच्छी टर्म इंश्योरेंस कम्पनी।

Best Term Insurance in India | 3 सबसे अच्छी टर्म इंश्योरेंस कम्पनी।

Best Term Insurance in India | 3 सबसे अच्छी टर्म इंश्योरेंस कम्पनी।

Best term insurance in india,term insurance,term insurance company in india
Term Insurance

भारत में कौन सा सबसे बेस्ट term insurance plan है जो आपके लिए सबसे अच्छा है। आज हम बात करेंगे इसी के बारे में की भारत में कौन सा term insurance आपको ज्यादा लाभ दे सकता है।


हम भारत के तीन सबसे बेस्ट term insurance के बारे में बात करेंगे और बताएंगे कि कौन सा term insurance सबसे बेस्ट है। और उसको हम तीन अलग अलग 1,2 और 3 का रैंकिंग देंगे। और उसके बाद टोटल 6 मानदंड पर इन term insurance को जानेंगे।


साथियों हम अक्सर एक चीज़ पर ध्यान देते हैं कि कौन सा प्रीमियम सबसे कम है और उसी को हम सबसे अच्छा मैन बैठते हैं, जबकि ऐसा नहीं होता है दोस्तों।और भी बहुत सारे term insurance के मानदंड है जिसके बारे हम विस्तार से जानेंगे।


दोस्तों हम आज बात करेंगे कि भारत में सबसे टॉप तीन कौन सा सबसे बेस्ट term insurance है। तो चलिए शुरू करते हैं आज के इस महत्वपूर्ण टॉपिक के बारे में बिस्तार से जानते हैं-


दोस्तों सबसे पहले हम जिन तीन Company की तुलना करने वाले हैं उनका नाम है-


भारत की 3 सबसे अच्छी टर्म इंश्योरेंस कंपनी ( Top 3 term insurance company in India):


1. LIC
2. HDFC
3. TATA


साथियों इसके अलावा और भी बहुत सारी कम्पनीज होंगी जिसके बारे में आप जानते होंगे, पर उन सबमें बहुत सारी खामियां थी। जिसके वजह से ये तीनों टॉप 3 में हैं। हो सकता है आप और भी कंपनियों का policies लेना चाहते हो ये आपका मन है,पर मेरे हिसाब से Term Insurance के लिये ये तीन सबसे बेस्ट है।


साथियों अब इन तीनों के बारे में विस्तार से जानते हैं। पहले LIC की जानते हैं, फिर HDFC की और फिर उसके बाद TATA की। टोटल हम 6 पॉइंट के बारे में बात करेंगे फिर लास्ट में इन सबका रैंकिंग देंगे।


1. दोस्तों सबसे पहला पॉइंट ये है कि कौन सी कंपनी ने सबसे ज्यादा क्लेम(claim) हैंडल किये हैं। मतलब कहीं ऐसा तो नहीं कि छोटी सी कंपनी है दो-चार सौ क्लैम है,और उतना ही क्लेम हैन्डल किये है।


साथियों क्लेम हैंडल में सबसे आगे LIC है। LIC ने टोटल 750950 क्लेम हैंडल किये हैं। तो HDFC ने टोटल 12946 क्लेम हैंडल किये तो TATA ने 2700 क्लेम हैंडल किये।


जी हाँ दोस्तों ये हो गया कि कितने क्लेम आये हैं और कौन कितने क्लेम हैन्डल किये हैं।


ये जरूर पढ़ें:- Pradhanmantri jeevan jyoti bima yojana in hindi | PMJJBY


◆ Term insurance claim settlement ratio:


Term insurance claim settlement ratio,term insurance
Term insurance claim settlement ratio

2. साथियों अब सबसे महत्वपूर्ण बात ये हैं की किसका क्लेम सेटलमेंट अनुपात सबसे बढ़िया है। अगर मेरे पास 100 क्लेम आये हैं तो कितने पास किये हैं और कितने नहीं।


● LIC ने 97.9% क्लेम पास किये हैं।

● HDFC में एक बात है ,साथियों पहले HDFC का क्लेम सेटलमेंट कम हुआ करता था पर अब बहुत अच्छा हो गया है। और आज HDFC ने 99.04% क्लेम पास किये हैं जो कि बहुत ही सुपर क्लेम सेटेलमेंट अनुपात है।

● अब अगला है TATA का जिन्होंने 99.07% क्लेम सेटलमेंट किये है।


साथियों इसमें एक चीज़ ध्यान देने योग्य बात है,की क्योंकि LIC का क्लेम सेटलमेंट बहुत ज्यादा है इसलिए इसको इग्नोर करना पड़ेगा। अगला बात ये की एक तो हो गया कि 100 क्लेम्स आये उनमे से 99 पास कर दिए।


महत्वपूर्ण बात ये भी होती है कि अगर 1 करोड़ का क्लेम आया, तो कितने अपने पास किये हैं Term Insurance में। बहुत जरूरी है अमाउंट चेक करना जो हम अगले पॉइंट में चेक करेंगे।


3. LIC ने 95% अमाउंट सेटल किये,तो HDFC ने 94% से 95% अमाउंट सेटल किये और TATA से 96% सेटल किया है।


TATA के क्लेम सेटलमेंट अनुपात और अमाउंट सेटलमेंट अनुपात थोड़ा सा ज्यादा है,क्योंकि जो उनके क्लेम्स आये है वो बहुत कम आये हैं,तो हमें वो भी इग्नोर करना पड़ेगा।


साथियों इन तीन पॉइंट्स में हमने देखा कि सबने अच्छा किया है चाहे वो LIC हो ,HDFC हो या फिर TATA ।


◆ Term Insurance Claim rejection ratio:


Term Insurance Claim rejection ratio,term insurance
Term Insurance Claim rejection ratio

4. साथियों ये पॉइंट बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योंकि आमतौर पर हम इसे ध्यान ही नहीं देते हैं। आप और हम देखते ही नहीं है और ये पॉइंट ही ज्यादा ध्यान देने योग्य है वो ये है- क्लेम अस्वीकृति अनुपात (Claim rejection ratio)। 


मतलब कितने क्लेम्स आये और कितने रिजेक्ट कर दिये गए। देखना इसलिए जरूरी है कि क्योंकि क्लेम सेटलमेंट और अमाउंट सेटलमेंट में ये हो सकता है कि कुछ क्लेम्स आये हो और प्रॉसेस में चल रहा हो।इसलिए वो उस ratio में नहीं आये हो।


कितने क्लेम्स रिजेक्ट कर दिए हैं ये उस कंपनी ने ये बात जानना बहुत जरूरी है। अगर 1% से ज्यादा क्लेम्स अस्वीकृति (claims rejection) ज्यादा है तो हम वैसी कम्पनी को बाहर रखेंगे।


कुछ कम्पनी ऐसी है जैसे Maxlife। ये कम्पनी तो बहुत अच्छी है पर क्योंकि इनका क्लेम्स अस्वीकृति बहुत ज्यादा था। इसलिए हमने उनको इस लिस्ट से बाहर रखा। क्योंकि 1% से ज्यादा claims rejection ratio बहुत ही खराब है। हमें इससे दूर ही रहना चाहिए।


LIC का Claims rejection ratio है - 0.89%

HDFC का Claims rejection ratio है - 0.52%

TATA का Claims rejection ratio है - 0.93%


तीनों का Claims rejection ratio जो है वो 1% से कम है।इसलिए हम इसको इग्नोर कर सकते हैं।


◆ Term Insurance Solvency Ratio:

Term Insurance Solvency Ratio,term insurance
Term Insurance Solvency Ratio

5. दोस्तों अब हम बात करेंगे solvency ratio की। solvency ratio का मतलब ये हुआ कि कितना मेरे पास क्लैम आने का उम्मीद है और हमने कितना अमाउंट रिजर्व रखा है। हर कम्पनी को 1.5 का ratio रखना जरूरी है आज के नियमों के अनुसार।


और साथ ही साथ शायद आपको एक नियम पता नहीं होगा वो है - Force majeure


मतलब कोई ऐसी परिस्थिति आ जाये जिसमें बहुत त्राहि-त्राहि मच गई,और सब कुछ बर्बाद हो गया। मान लिजिये एक प्राकृतिक आपदा जैसा हो गया,जिसमें कंपनी का ratio या क्लेम्स रिजेक्ट भी कर सकती है। आप सही हो फिर भी रिजेक्ट कर सकती है।


साथियों इसलिए देखना जरूरी होगा कि किसका solvency ratio अच्छा है। जीतना ज्यादा अच्छा होगा उतना आपके लिए अच्छा साबित होगा। ऐसी खराब परिस्थितियों में भी आपका rejection नहीं होगा।


Term Isurance में न क्लेम्स रिजेक्ट होना बहुत ज्यादा मुश्किल है और वो नहीं होना चाहिए। थोड़े से सस्ते प्रीमियम लेने से बचना चाहिए या फिर इसको नहीं लेना चाहिए। साथियों बाकी ये सब पॉइंट भी term insurance लेते समय ध्यान रखना चाहिए।


तो चलिए दोस्तों अब जानते हैं किसका कितना solvency ratio है।


● LIC का solvency ratio है- 1.60

● HDFC का solvency ratio है- 1.88 और

● TATA का solvency ratio है- 2.50 के आसपास


6. दोस्तों अब अगला बात हम ये समझेंगे की प्रीमियम किसमे कितना ज्यादा आने वाला है। क्योंकि Term Insurance का प्रीमियम पहले ही भीत कम होता है।


साथियों term insurance में मुख्य बात ये होती हैं कि जब क्लेम आये,और आप इस दुनिया में नहीं हो तब जब आपके परिवार वाले क्लेम लेने आये तब क्लेम रिजेक्ट नहीं होनी चाहिए। इसलिये दोस्तों एक बार फिर कहूंगा कि सस्ते प्रीमियम लेने से बचें उनसे दूर रहें।


ये जरूर पढ़ें:- प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के 3 best लाभ और पूरी जानकारी | PMSBY


साथियों प्रीमियम की बात करें तो सबसे ज्यादा होने वाला है LIC का। जी हाँ दोस्तों निश्चित ही सबसे ज़्यादा LIC का होगा। उसके बाद HDFC का होगा। और तीसरे नम्बर पर TATA का होगा।क्योंकि थोड़ा टाटा अभी नया है,इसलिये थोड़ा सस्ता पड़ता है। तीनों हीं policies ठीक है।


साथियों अब हम बात करेंगे रैंकिंग का। जी हाँ दोस्तों premium LIC का बहुत ज्यादा होता है, इसलिये LIC के साथ HDFC भी रखा और TATA का थोड़ा कम होता है ,इसलिए TATA को भी रखा। इसमें HDFC और LIC के प्रीमियम में बहुत ज्यादा अंतर आ जायेगा। HDFC का काफी कम होगा, TATA का और भी कम होगा LIC की तुलना में।


अब हम बात करते हैं कि किसका Term Insurance सबसे बेस्ट है और कौन सा फर्स्ट है। इन सबको देखने के बाद पता चलता है कि तीनों की अच्छा है। आप किसी का भी लीजिये अच्छा है कोई टेंशन लेने वाली बात नहीं है। पर फिर भी इनको रैंकिंग देने की कोशिश करते हैं।


तो साथियों पहले नम्बर जो हमने रखा है, वो है- LIC और HDFC। क्योंकि दोस्तों HDFC का प्रेफरेंस थोड़ी इसलिये दी है क्योंकि HDFC की प्रीमियम थोड़ा कम है,LIC के तुलना में थोड़ा नहीं ज्यादा कम है। Claim ratio भी बहुत अच्छा है और HDFC बैंक भी बहुत अच्छा है।


अगर आप premium थोड़ा सा reasonable लेना चाहते हैं तो HDFC का लें। अगर आप ये सोचते हो कि प्रीमियम कोई भी हो चलेगा तो LIC का लें। दोनों का term insurance poilicies अच्छा है।


दूसरे नम्बर पर रखा है TATA को। TATA का प्रीमियम कम होगा hdfc से 5% या 10% कम होगा। पर अगर आप HDFC या LIC का प्रीमियम लेते हैं तो अच्छा होगा। क्योंकि एक बात ध्यान देना है कि TATA अभी नया है।


 इसलिए आपको ये बात ध्यान देने योग्य है। वैसे तीनों सभी term insurance कंपनियों में सबसे बेस्ट है। आप किसी का भी ले सकते हैं, तीनों में कोई दिक्कत नहीं आएगा।


पर रैंकिंग की बात करें तो पहले नम्बर पर HDFC, दूसरे पर LIC और तीसरे नम्बर पर TATA को रखेंगें।


आपको best term insurance in india के बारे में ये जानकारी कैसी लगी कमेंट कर के हमें जरूर बताइयेगा।