Translate

career लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
career लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
महान बास्केटबॉल खिलाड़ी कैसे बनें | Basketball All Rules In Hindi

महान बास्केटबॉल खिलाड़ी कैसे बनें | Basketball All Rules In Hindi

बास्केटबॉल खिलाड़ी कैसे बनें जानें पूरी जानकारी | How To Become Basketball Player In Hindi

Basketball kya hai aur basketball player kaise bane, 8 tips to become better basketball player
Basketball Player Kaise Bane

हमारे दिमाग में जब भी बास्केटबॉल का नाम आता है तब दिमाग में सिर्फ एक ही नाम आता है वो है माइकल जॉर्डन। एक ऐसा फेमस खिलाड़ी जिसने इस खेल को एक अलग पहचान दी, लोगों में इस खेल के लिए लोकप्रियता बढ़ी।


शायद ही दुनिया में कोई ऐसा बास्केटबॉल का प्रेमी हो जिसने माइकल जॉर्डन का नाम नहीं सुना होगा क्योंकि ये ऐसे खिलाड़ी थे जिनको दुनिया का हर खिलाड़ी अपना आदर्श मानता है और इनके जैसा ही खुद को बनाना चाहता है।


ऐसे में अगर आपको भी बास्केटबॉल में खास रुचि रखते हैं तो और उनके जैसा ही महान बास्केटबॉल खिलाड़ी बनना चाहते हैं तो हम आपकी पुरो मदद करेंगे, क्योंकि इस article हम आज जानने वाले हैं कि बास्केटबॉल क्या है और बास्केटबॉल खिलाड़ी कैसे बनें?


तो अगर आप भी माइकल जॉर्डन जैसा महान खिलाड़ी बनना चाहते हैं तो आप इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ियेगा क्योंकि आज हम जानने वाले हैं कि बास्केटबॉल क्या होता है और इसे कैसे खेलते हैं, कैसे माइकल जॉर्डन एक महान खिलाड़ी बनें, उनके खेलने का तरीका क्या था, एक बास्केटबॉल खिलाड़ी बनने के लिए किन-किन चीजों की जरूरत होती है?


बास्केटबॉल क्या है? What Is Basketball In Hindi


बास्केटबॉल दो टीमों के बीच खेला जाने वाला वैसा खेल है जिसमें दो टीमों के खिलाड़ी एक तय नियम के अनुसार एक गोलाकार गोले में गेंद को डालकर अंक प्राप्त करते हैं। इसमें जो टीम ज्यादा अंक प्राप्त करती है उसको विजेता घोषित किया जाता है। आपको बता दें कि बास्केटबॉल पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा देखा जाने वाला खेल में से एक है। बास्केटबॉल में प्रत्येक टीम में 5 खिलाड़ी होते हैं।


8 Way To Become Great Basketball Player In Hindi


1. एक महान बास्केटबॉल खिलाड़ी बनने के लिए आपको अपने खेल के प्रति लगाव होना चाहिए, उसके प्रति प्रेम और जुनून होना बहुत जरूरी है। एक बात हमेशा याद रखिये कि आप किसी भी खेल में तभी एक महान खिलाड़ी बन सकते हैं जब आपका उस खेल के प्रति जुनून हो।


आप किसी भी खेल में सफल तब तक नहीं हो सकते हैं जब तक आपको उस खेल में मजा न आता हो, उसके प्रति कोई जुनून न हो, उसको खेलने में आपको एक अलग ऊर्जा महसूस न होता हो। इसलिए एक अच्छा बास्केटबॉल खिलाड़ी बनने से पहले आपको खुद से ही एक सवाल करना होगा कि आपको ये गेम खेलना कितना अच्छा लगता है और एक अच्छा खिलाड़ी बनने के लिए आप कितना मेहनत कर सकते हैं?


एक बात तो शायद आप भी जानते होंगे कि जब तक किसी काम को करने का कारण पता नहीं होता है तब वो काम पूरा नहीं होता है। इसलिए अपने गेम और लक्ष्य के प्रति हमेशा ईमानदारी से पेश आइये।


2. एक अच्छा बास्केटबॉल खिलाड़ी बनने के लिए इस गेम से सम्बंधित हर एक नियम का पता होना सबसे जरूरी चीज होता है। जैसे आपको पता ही होगा कि हर एक खेल के लिए अपना एक अलग नियम होता है। ठीक उसी प्रकार बास्केटबॉल का एक महान खिलाड़ी बनने के खेल का नियम मालूम होना और उन नियमों का पालन करना बहुत जरूरी होता है।


ये भी पढ़ें:- Geologist(भूवैज्ञानिक) कैसे बनें?


आप किसी भी गेम में तब तक एक अच्छे खिलाड़ी नहीं कहे जाते जब तक आप हर एक नियम का अनुशासन के साथ पालन नहीं करते हैं। इसलिए बास्केटबॉल के हर एक नियमों को ध्यान से याद करें।


इस दुनिया में एक अच्छा जीवन जीने के लिए शारिरिक और मानसिक रूप से दोनों में ठीक होना बहुत जरूरी है और ये बात बास्केटबॉल के गेम में भी लागू होता है। एक बास्केटबॉल का खिलाड़ी बनने के लिए शारीरिक रूप से मजबूत होना बहुत जरूरी है इसलिए अपने फिटनेस पर हमेशा ध्यान रखें।


3. बास्केटबॉल खिलाड़ी को शारिरिक रूप से मजबूत होने के साथ-साथ मानसिक रूप से भी मजबूत होना जरूरी होता है क्योंकि एक खिलाड़ी तभी अपने खेल में सफल हो सकता है जब वो सही समय पर सही निर्णय ले। अगर आप अपने खेल पर फोकस नहीं लगाएंगे तो आप कभी एक अच्छा खिलाड़ी नहीं बन सकते हैं क्योंकि बास्केटबॉल खिलाड़ी को हमेशा मुस्तैद, चौकन्ना और स्वस्थ रहना बहुत जरूरी होता है।


4. बास्केटबॉल खेलने के लिए ड्रिब्लिंग का आना बहुत जरूरी है। आप जानते ही है कि इस खेल में बॉल को ड्रिबल करना होता है। बास्केटबॉल में बॉल को ड्रिबल करना ही इसको सीखने का पहला पाठ होता है। इसलिए अगर आप एक अच्छा बास्केटबॉल का खिलाड़ी बनना चाहते हैं तो निरंतर ड्रिब्लिंग का अभ्यास करते रहना जरूरी है।


आप जितना अधिक ड्रिब्लिंग का अभ्यास ध्यान लगाकर करेंगे आप उतना ही अधिक अपने खेल में बेहतर होंगे। इस खेल में बॉल को अच्छे से ड्रिबल करना सबसे बड़ा हथियार है। इसलिए आप बॉल ड्रिब्लिंग में इतना माहिर बन जाइये कि आपके जैसा कोई न बन पाये।


5. बास्केटबॉल में बॉल को ड्रिबल करने के साथ-साथ बॉल को अच्छे से थ्रो करने का स्किल होना बहुत ज्यादा जरूरी है। आप बॉल को थ्रो करने का इस तरह अभ्यास कीजिये आपका हर बॉल बास्केट में जाकर गिरे। इसके लिए आपको बॉल थ्रो करने का सही तरीका मालूम होना बहुत जरूरी है।


बॉल को थ्रो करते समय आपके शरीर का सही संतुलन होना चाहिए और आपका हर बॉल का निशाना बास्केट में जाकर गिरना चाहिए। बॉल फेकते समय आपका ध्यान बिल्कुल केंद्रित होना चाहिए। आपको एक हाथ से भी बॉल फेकने का अभ्यास करना चाहिए।


आप बॉल को सही ढंग से थ्रो करने के लिए किसी अच्छे कोच का सहारा ले सकते हैं या फिर यूट्यूब पर किसी अच्छे खिलाड़ी जैसे- माइकल जॉर्डन आदि का भी वीडियो देखकर सीख सकते हैं।


6. बास्केटबॉल में बॉल को पास करना और उसका डिफेंस करना सीखना भजत जरूरी होता है। एक अच्छा खिलाड़ी बनने के लिए आपको ड्रिब्लिंग और बॉल थ्रोइंग के साथ-साथ बॉल को पास करना और उसका डिफेंस करना सबसे जरूरी होता है क्योंकि बास्केटबॉल आप अकेले तो खेलते नहीं है और साथी खिलाड़ी को तभी आप बॉल दे पाएंगे जब आपको बॉल को पास करना आएगा। इसलिए बॉल को पास करना और उसको डिफेंस करना जरूर सीखें।


आप बॉल को पास करना और डिफेंस करना सीखने के लिए 2 हैंड पास, बाउंस पास और ओवर हेड पास को प्रैक्टिस जरूर कीजिये। इसके साथ-साथ आपको सही ढंग से डिफेंस स्किल को सीखना बहुत जरूरी है क्योंकि एक प्लेयर होने के नाते आपको बॉल डिफेंस करना आपके टीम के लिए जीत में अहम भूमिका निभाती है।


7. आप अच्छा प्लेयर बनने से पहले खुद को एक टीम के खिलाड़ी के रूप में तैयार जरूर करें। एक महान खिलाड़ी वहीं होता है जो अपने टीम के साथ खुद को तैयार रखता है। वैसे खिलाड़ी की सफल होने की संभावना अधिक रहती है जो खेल से जुड़ी हर क्षेत्र में एक्सपर्ट हो और हर समय टीम के हीत के बारे में सोचे साथ में वो टीम में अच्छी तरह से तालमेल बिठा सकें।


इसलिए एक खिलाड़ी बनने के बजाय अपने टीम का सबसे बढ़िया प्लेयर बनें। अगर आप कम उम्र में ही एक अच्छा खिलाड़ी बनना चाहते हैं तो अपने स्कूल के समय से ही बास्केटबॉल खेलना और टूर्नामेंट में भाग लेना शुरू कर दें तो आपके लिए ये गेम बहुत आसान हो जाएगा।


इसलिए अपना कैरियर चुनते समय इन बातों का ध्यान जरूर रखें कि बास्केटबॉल प्लेयर बनने के लिए अपने स्कूल के समय से ही इस ओर ध्यान देना शुरू कर दें क्या पता आप दुनिया में माइकल जॉर्डन के जैसा अपनी प्रतिभा से डंका बजा दें। अगर आप केवल मनोरंजन के लिए भी खेलते हैं तो बास्केटबॉल आपके शरीर को मजबूत और सशक्त बनाने में काफी सहायक होगा।


कोई भी गेम आपके मानसिक और शारीरिक विकास के बहुत जरूरी होता है तो क्यों न बास्केटबॉल में अपना किस्मत आजमाया जाये। हमें उम्मीद है कि एक अच्छा बास्केटबॉल प्लेयर कैसे बनें से सम्बंधित पूरी जानकारी काफी पसंद आयी होगी और एक अच्छा खिलाड़ी बनने में काफी मदद करेगी।


FAQ About Basketball Game In Hindi | बास्केटबॉल से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल


1. बास्केटबॉल का आविष्कार किसने किया था?
उत्तर- जेम्स नाइस्मिथ ने।


2. बास्केटबॉल में बास्केट की ऊंचाई कितनी होती है?
उत्तर- 10 फीट या 3.048 मीटर


3. बास्केटबॉल में कोर्ट की लंबाई और चौड़ाई कितनी होती है?
उत्तर- अंतराष्ट्रीय खेलों में बास्केटबॉल कोर्ट की लंबाई-चौड़ाई 28/15मीटर और NBA में 29/15 मीटर होता है।


4. बास्केटबॉल का वजन कितना होता है?
उत्तर- 567 ग्राम से 624 ग्राम तक होता है।


5. बास्केटबॉल में कितने खिलाड़ी होते हैं?
उत्तर- बास्केटबॉल में प्रत्येक टीम के तरफ से 12 खिलाड़ी होते हैं लेकिन कोर्ट पर सिर्फ 5 खिलाड़ी को ही खेलने की अनुमति होती है।


6. बास्केटबॉल का मैच कितने मिनट का होता है?
उत्तर- अंतराष्ट्रीय मैच 10 मिनट का चार भागों और NBA 12 मिनट का चार भागों में खेला जाता है।


आपको हमारा ये article कैसा लगा और बास्केटबॉल खिलाड़ी कैसे बनें से सम्बंधित और भी कोई सवाल हो तो कमेंट करके जरूर पूछ सकते हैं। साथ ही अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें।


MIT क्या है और इसमें एडमिशन कैसे लें?

तूफानी बल्लेबाज हार्दिक पांड्या की जीवनी।

जिंदगी बदलने वाली 5 कहानियां।


Geologist क्या है और कैसे बनें - Full Details In Hindi

Geologist क्या है और कैसे बनें - Full Details In Hindi

Geologist क्या है और कैसे बनें | How Do I Become Geologist In Hindi

Geologist kaise bane, geology definition in hindi
Geologist Kaise Bane

आजकल हम ऐसे युग में जी रहे हैं जहाँ हर काम को हर कोई जल्दी से करना चाहता है, जल्दी से अपने मुकाम को पाना चाहता है। इस रेस में स्टूडेंट्स भी अपने जॉब, अपने कैरियर को लेकर हमेशा चिंतित रहते हैं। हर स्टूडेंट्स चाहता है कि 10वीं या 12वीं के बाद उनकी नौकरी लग जाएं।


पर ये सच है कि जिस तेजी से बेरोजगारी बढ़ी है उस हिसाब से सबकी नौकरी लगना काफी मुश्किल हो गया है। इसका सबसे बड़ा कारण है हर कोई एक ही रेस में भागे जा रहा है। पर स्टूडेंट्स को मैं एक बात बताना चाहता हूँ कि ऐसे बहुत सारे फील्ड है जिसमें नौकरियां भरी पड़ी है लेकिन उसके बारे में कोई ध्यान ही नहीं दे पाता।


इसी को लेकर हम आपको एक ऐसे क्षेत्र के नौकरी के बारे में बताने वाले हैं जिसमें आपको नौकरी काफी आसानी से मिल सकती है। जी हां हम बात कर रहे हैं एक Geologist की। इसमें नौकरी मिलना बहुत आसान है बस आपको कुछ जरूरी टिप्स फॉलो करने होंगे।


आज एक जियोलॉजिस्ट का मांग पूरी दुनिया में काफी तेजी से बढ़ा है। ऐसे में हम इससे कैसे दूर रह सकते हैं? पर आप सोच रहे होंगे कि जियोलॉजिस्ट क्या होता है और इनका काम क्या होता है? इन सभी बातों के लिए आप बिल्कुल चिंतित न हो क्योंकि हम आज आपको पूरी जानकारी देंगे कि जियोलॉजिस्ट कैसे बनें? तो चलिए इसके बारे में पूरी विस्तार से जानते हैं।


भूगर्भ शास्त्र क्या है- Definition Of Geology In Hindi


जियोलॉजिस्ट के बारे में जानने से पहले हम जानते हैं कि Geology (जियोलॉजी) क्या होता है? अगर हम आसान शब्दों में भूविज्ञान का अर्थ के बारे में बात करें तो जिसमें पृथ्वी के बारे में अध्ययन किया जाता है, उससे जुड़ी गतिविधियों के बारे में अवलोकन किया जाता है तो उसे हम जियोलॉजी कहते हैं।


Geology शब्द का निर्माण इन दो शब्दों से मिलकर हुआ है- Geo+Logy. जिसमें Geo का मतलब पृथ्वी और Logy का मतलब अध्ययन करना होता है। इस तरह इन दो शब्दों को जोड़ दिया जाए तो जियोलॉजी शब्द बनता है।


जियोलॉजिस्ट(भूवैज्ञानिक) क्या है? What Is Geologist Full Information In Hindi


अगर मैं आपसे पूछूँ कि Geologist(भूवैज्ञानिक) क्या होता है और आप इसके बारे में क्या जानते हैं? अगर आप कुछ जानते होंगे तो शायद आप कहेंगे कि Geologist वैसे वैज्ञानिक होते हैं जो पृथ्वी से जुड़ी इतिहास के बारे में जानकारी रखते हैं और उस जानकारी के आधार पर भविष्यवाणी करते हैं।


लेकिन आपको बता दें कि एक Geologist (भूवैज्ञानिक) का काम इन सबसे कहीं ज्यादा होता है। क्या आप जानते हैं कि एक जियोलॉजिस्ट को हम Geophysicist और Geohydrologist भी कहा जाता है। Geologist ही भूकंप, मिट्टी का खिसकना, बाढ़ और ज्वालामुखी के बारे में पता लगाता है। पृथ्वी की बनावट और उसके केंद्र आदि का पता लगाने का काम भी एक Geologist (भूवैज्ञानिक) ही करता है।


इतना सब जानने के बाद अब तक तो आप समझ ही गए होंगे कि अभी या आने वाले समय में एक Geologist की क्या भूमिका रहने वाली है? आपमें से बहुत सारे लोग या तो Geologist के बारे में जानना चाहते हैं या फिर बहुत सारे स्टूडेंट्स Geologist (भूवैज्ञानिक) बनना भी चाहते हैं।


पर उनको ये नहीं पता होता है कि Geologist (भूवैज्ञानिक) क्या होता है और इनके क्या काम होते हैं, एक Geologist (भूवैज्ञानिक) कैसे बनते हैं? इसलिए आज हम आपको पूरी जानकारी देने वाले हैं कि Geologist क्या है और Geologist कैसे बनें? बस आप इस article को पूरा ध्यान से जरूर पढ़ियेगा।


भू-वैज्ञानिक (Geologist) कैसे बने | How To Become Geologist In India


अगर आपको अपना कैरियर Geologist में बनाना है तो उसके लिए आपको भूगर्भ शास्त्र (Geology) में स्नातक स्तर की पढ़ाई जरूर पूरी करनी होगी। साथ ही आपको बारहवीं की पढ़ाई science से करनी होगी।


अगर आप एक अच्छा Geologist बनना चाहते हैं और एक सरकारी कॉलेज में एडमिशन लेने की इच्छा रखते हैं तो उसके लिए आपको GATE से राष्ट्रीय स्तर के एग्जाम में भाग लेना होगा। आपके जानकारी के लिए बता दें कि भारत में कई सारी ऐसी यूनिवर्सिटीज है जो अपना खुद का प्रवेश परीक्षा आयोजन करती है।


भूविज्ञान पाठ्यक्रम | Geologist Subjects Requirements Details


चलिए अब आपको Geologist (भूवैज्ञानिक) से सम्बंधित और भी कुछ जरूरी जानकारी प्राप्त करते हैं। वैसे स्टूडेंट्स जो बारहवीं में 55 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त किये हो वहीं स्टूडेंट्स ही जियोलॉजी के डिप्लोमा कोर्स Diploma Of Associateship In Applied Geology को कर सकते हैं। साथ ही वो स्टूडेंट्स बारहवीं में फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स की पढ़ाई किया हो।


ये भी पढ़ें:- MIT क्या है और MIT में एडमिशन कैसे लें? सबकी पूरी जानकारी।


Geologist बनने के लिए अगर हम undergraduate कोर्स की बात करें तो आपको 3 साल की कोर्स करना होगा। इस कोर्स को करने के लिए आपको नीचे दिए गए निम्नलिखित ऑप्शन मिलेगा।

1. Bachelor Of Science(Hons.) In Geology
2. Bachelor Of Science(B.Sc.) In Geology
3. Earth Science Environmental Science
4. Bachelor Of Arts In Geology


ग्रेजुएशन की पढ़ाई खत्म करने के बाद आप चाहे तो परास्नातक की कोर्सेज भी कर सकते हैं जिससे आपके अंदर और अधिक निखार आएगा। जिसको पूरा करने के लिए आपको ये निम्नलिखित ऑप्शन मिलेगा।

1. Master Of Science(Hons.) In Geology
2. Master Of Science (M.Sc.) In Geology
3. Applied Geology
4. Master Of Technology In Geology
5. Applied Geology


Geologist Qualifications In India


हम जानते हैं कि आज पूरे विश्व में पर्यावरण संरक्षण की जरूरत बहुत तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में एक अच्छे Geologist की मांग आने वाले समय में और भी अधिक बढ़ने वाली है। इसलिए इस क्षेत्र में जॉब का अवसर और तेजी से बढ़ रहा है। इसलिए इस अवसर का लाभ लेने के लिए आपके पास Geologist का डिग्री होना बहुत जरूरी है।


अगर आप जियोलॉजी में परास्नातक या पीएचडी की डिग्री प्राप्त कर लेते हैं तो आपको एक अच्छी जॉब मिलना बहुत आसान हो जाएगा।


जियोलॉजी में मास्टर की डिग्री प्राप्त करने के बाद आप इस विषय में पीएचडी या एमफिल भी कर सकते हैं। आप और क्षेत्र के अनुसार इस फील्ड में भी अपने अनुसार कोई भी फील्ड चुन सकते हैं। जैसे- Marine Geology, Structural Geology, Economic Geology, Geochemistry, Valcanology, Mineralogy, Geomorphology और Engineering Geology.


Top 10 Geologist Institute In India


आइये दोस्तों अब हम जानते हैं कि एक Geologist बनने के लिए भारत में 10 ऐसे institue है जो जियोलॉजी की UG और PG की कोर्सेज करवाते हैं? उन सभी इंस्टीट्यूट के नाम बारी-बारी से जानते हैं।

1. Indian Institute Of Technology (IIT) Roorkee
2. IIT Kharagpur
3. IIT Bhuvaneshvar
4. IIT Mumbai
5. BHU( Banaras Hindu University)
6. Delhi University
7. Aligarh Muslim University
8. Presidency University Of Calcutta
9. Annamalaee University Tamilnadu
10. University Of Calcutta Kolkata


Scope Of Geologist Jobs In India


अब आपके मन में एक सवाल उत्पन्न हो रहा होगा कि एक Geologist बनने के बाद किस तरह का जॉब मिलेगा। तो हम आपको बता दें एक Geologist बनने के बाद आप अपने फील्ड के अनुसार कोई भी जॉब कर सकते हैं। जैसे- Geological Advisor, Seismologist, Meteorologist, Oceanographer और Processing Geophysicist जैसे जॉब आप आसानी से पा सकते हैं।


एक Geologist के रूप में आपके अंदर ये सारी चीजें होनी बहुत जरूरी है। जैसे- इन्वेस्टिगेशन स्पिरिट, बहुत तरह की डेटा को हैंडल करने का गुण, हर चीज की गहरी अवलोकन करना, किसी भी तरह के स्थिति को अच्छे तरीके से विश्लेषण करने का हुनर और संख्यात्मक गणना करने का हुनर।


इन सभी के अलावा अगर आपके पास टीम वर्क कौशल, जटिल से जटिल समस्याओं के बारे में सोचना और हर समस्या को कैसे सॉल्व किया जाए तो आप सोच नहीं सकते हैं कि आप इस फील्ड में कितना अच्छा कर सकते हैं।


ये भी पढ़ें:- 2021 में भारत में सबसे ज्यादा सैलरी देने वाले 5 जॉब्स।


आपको बता दें कि जियोलॉजी विषय से अपना कोर्स पूरा करने के बाद आपको सरकारी और प्राइवेट हर जगह पर जॉब मिल सकता है। भारत में कई सारी ऐसी सरकारी संस्थान है जो Geologist की भर्ती करता है। जैसे जियोलाजिकल सर्वे ऑफ इंडिया और सेंट्रल ग्राउंड वाटर बोर्ड जैसी सरकारी संस्थान भी समय अनुसार Geologist की भर्तियां कराता है।


List Of Government Geological Companies In India


आपको बता दें कि इन सरकारी संस्थानों की परीक्षाएं यूपीएससी द्वारा आयोजित की जाती है। भारत में अगर बात करें कि सबसे ज्यादा सरकारी Geologist की भर्ती कौन लेता है तो उसमें टॉप संस्थान इस प्रकार है-

1.Geological Survey Of India
2. Coal India
3. Steel Authority Of India Limited (SAIL)
4. Oil and Natural Gas Corporation Limited (ONGC)
5. Defence Research and Development Organisation (DRDO)
6. National Mineral Development Corporation (NMDC)
7. Rajsthan State Mines & Minerals


Top Private Geologist recruiter in india


अब आपको टॉप प्राइवेट Geologist recruiter in india के बारे में बताते हैं।

1. Mining Firms
2. Mineral Processing Firms
3. Mineral Extracting Firms
4. Private Refineries
5. Coal Extraction Firms
6. Exotic Gems Mining Firms


भूवैज्ञानिक के काम | What Does a Geologist Do?


आइये अब जानते हैं कि Geologist का किस तरह के काम में जरूरी होता है।

1. Environment Protection
2. Disaster Detection
3. Construction


इन सभी तरह के फील्ड में एक Geologist का बहुत जॉब opportunity होता है। इसके अलावा एक Geologist सड़क निर्माण और भूकंप का पूर्वानुमान लगाने में अहम भूमिका निभाते हैं।


आपको बता दें कि जिसमें जितना जॉब अवसर होता है उतना ही चुनौतियों का भी सामना करना पड़ता है। आइये अब जानते हैं कि एक Geologist को किस तरह के कार्य चुनौतियों का सामना करना पड़ता है और Geologist बनने के फायदे और नुकसान क्या है?


एक Geologist को हमेशा सुनसान जगह पर जाना पड़ता है। इसलिए इस तरह के काम को करना सबके लिए आसान नहीं होता है। पर अगर आप प्रकृति को करीब से देखना चाहते हैं तो ये काम आपके लिए किसी अवसर से कम नहीं है।


ऐसे स्टूडेंट्स जो पृथ्वी से सम्बंधित समस्याओं के बारे में जानने और उसको दूर करने की इच्छा रखते हैं उनके लिए ही Geologist बनना सूटेबल होता है।
एक Geologist पृथ्वी के अंदर से खनिजों के बारे में पता लगाता है।


आप Geologist बनना चाहते हैं लेकिन अगर आप फील्ड में कार्य करना नहीं चाहते हैं और रिसर्च या शैक्षिक क्षेत्र में जाना चाहते हैं तो आप अगर पीएचडी करते हैं तो आपको इसमें काफी आसानी होगी।


भू-वैज्ञानिक की सैलरी कितनी होती है | Geologist Salary In India


Geologist के बारे में इतना सब तो जान गए लेकिन अब आप ये जरूर जानने को उत्सुक होंगे कि Geologist की भारत में सैलरी कितनी होती है? तो आपको बता दें कि प्राइवेट कंपनियों में आपकी सैलरी एक फ्रेशर के रूप में 4 से 5 लाख रुपये सालाना हो सकती है।


आपको बताते चलें कि आपकी सैलरी आपके कम्पनी, आपके स्किल पर भी काफी निर्भर करता है। आपकी स्किल बढ़ने के साथ-साथ आपकी सैलरी भी समय के साथ बढ़ते जाएगी। आपको एक और जरूरी जानकारी बताते चलें कि एक Geologist की सैलरी आपके कम्पनी, आपके जगह पर भी बहुत निर्भर करता है। एक अच्छे Geologist (भूवैज्ञानिक) की सैलरी 10 लाख से ऊपर तक भी हो सकती है।


जियोलॉजिस्ट की सैलरी उनके अनुभव के आधार पर बहुत तेजी से बढ़ता जाता है या फिर कहें तो सबसे ज्यादा सैलरी पाने वाले जॉब्स में इनका प्रमुख स्थान रहता है। विदेशों में तो एक अच्छे जियोलॉजिस्ट की सैलरी करोड़ों रुपये की होती है।


एक जियोलॉजिस्ट की नौकरी साहस और रोमांच से भरा होता है। इसके साथ-साथ ये हमारी धरती के इतिहास और भविष्य के बारे में अंदाजा लगाने में अहम रोल निभाते हैं।


हम आपको यहाँ एक सलाह देना चाहेंगे कि किसी भी फील्ड में अपना कैरियर बनाने के लिए उसके फायदे और नुकसान के बारे में पूरी जानकारी जरूर जानें। इसलिए अगर आपके मन में एक Geologist बनने का सपना है तो आप अपना कैरियर इसमें जरूर बनाएं।


हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा ये article जियोलॉजिस्ट क्या है और जियोलॉजिस्ट कैसे बनें आपकी काफी सहायता की होगी। फिर भी अगर आपको इससे सम्बंधित और कोई सवाल जानना हो तो कमेंट करके जरूर पूछ सकते हैं।


अगर आपको भूगर्भ शास्त्र का महत्व समझ में आ गया हो और अगर आप भूवैज्ञानिक बनना चाहते हैं तो आपको एक बार इसमें प्रयास जरूर करनी चाहिए। हम आपके बेहतर भविष्य की कामना करते हैं।


करियर चुनते समय इन बातों का ध्यान जरूर रखें।

10 ऐसी गलतियां जिससे आपका समय सबसे ज्यादा बर्बाद होता है।

MIT क्या है और इसमें Admission कैसे लें- Full Details In Hindi

MIT क्या है और इसमें Admission कैसे लें- Full Details In Hindi

MIT क्या होता है और इसमें Admission कैसे लें? How To Get Admission In MIT USA From India

MIT kya hai aur isme admission kaise le, what is mit in hindi
MIT kya hai

MIT का नाम आते ही लोगों के मन में बस एक ही ख्याल आता है वो है दुनिया का नम्बर 1 इंस्टीट्यूट। कहते हैं कि इस इंस्टीट्यूट में पढ़ने का सपना हर एक स्टूडेंट अपने मन में पाल कर रखता है। लेकिन बहुत सारे विद्यार्थियों को ये पता ही नहीं होता है कि MIT में एडमिशन के लिए क्या criteria है, इसमें एडमिशन लेने के लिए क्या प्रॉसेस है?


इस तरह के अनेकों सवाल विद्यार्थियों के मन में रहता है। जानकारी के अभाव में फिर उनके साथ यहीं होता है कि या वे तो इसमें पढ़ने से वंचित रह जाते हैं या फिर अपने सपने को सपना ही बनें रहने देते हैं।


अगर आप भी ऐसे ही सवालों के बारे में जानना चाहते हैं MIT इंस्टिट्यूट क्या है और इसमें एडमिशन कैसे लें और मिट तो आप इस article को ध्यान से पूरा जरूर पढ़िए। आपके सारे सवालों का जवाब आसानी से मिल जाएगा। हम आपकी पूरी सहायता करने के लिए प्रतिबद्ध है।


MIT का Full Form Pronunciation In Hindi


दोस्तों MIT का फुल फॉर्म Massachusetts Institute of Technology (MIT) होता है। बहुत सारे लोग इसके उच्चारण को लेकर confusion में रहते हैं तो आपको बता दें कि MIT फुल फॉर्म का pronunciation मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी होता है।


MIT कोर्स क्या होता है | What Is MIT In Hindi


Massachusetts Institute of Technology (MIT) अमेरिका के कैम्ब्रिज शहर में मैसाचुसेट्स नामक जगह पर स्थित एक निजी शोध विश्वविद्यालय है। जिसका स्थापना अमेरिका के औद्योगिकीकरण को बढ़ावा देने के लिए सन 1861 में किया गया था।


MIT में कुल एक महाविद्यालय के अलावा पाँच विद्यालय है। जिसमें कुल 32 शैक्षणिक विभाग है। MIT इंस्टीट्यूट का मुख्य उद्देश्य प्रौद्योगिकी अनुसंधान और वैज्ञानिक तकनीक को बढ़ावा देना है।


जैसा कि हम सभी जानते हैं कि MIT में पढ़ने के लिए दुनिया भर के स्टूडेंट्स सपने देखते हैं। उनका एक ही सपना होता है इस इंस्टिट्यूट से पढ़कर अपना एक अलग कैरियर बनाना, अपना एक अलग पहचान बनाना।


जाहिर सी बात है कि जिस इंस्टीट्यूट का इतना ज्यादा क्रेज हो उसमें एडमिशन लेना कितना मुश्किल होगा? आपको पता होगा कि इस इंस्टीट्यूट में एडमिशन लेने के लिए दुनिया भर से स्टूडेंट्स आते हैं।


आपके जानकारी के लिए बता दें कि MIT में एडमिशन लेने के लिए आप किस देश से आये हैं, आपका बैकग्राउंड क्या है, आपका एडुकेशन सिस्टम क्या है इन सभी बातों का कोई मतलब नहीं होता है। आपके व्यक्तिगत पर्सनालिटी को देखकर ही इस इंस्टीट्यूट में दाखिला दिया जाता है। 


इसलिए आगे से ये भ्रम निकाल दीजिये कि छोटे देश के स्टूडेंट्स का एडमिशन नहीं होगा। बस आपको खुद को improve करना है। खुद को improve कैसे करें इसके लिए ये 15 self improvement tips जरूर पढ़ें।


MIT से जुड़ी एक और महत्वपूर्ण जानकारी आपको बता दें कि प्रत्येक 100 एप्पलीकेशन में से मात्र 7 से 8 एप्पलीकेशन को ही एक्सेप्ट किया जाता है। अब आपको पता चल ही गया होगा कि MIT में एडमिशन लेने के लिए कितना टफ कम्प्टीशन होता है।


इसलिए इस इंस्टिट्यूट में एडमिशन उसी स्टूडेंट्स को मिल पाता है जिनका हर क्षेत्र में अच्छी जानकारी हो और खुद को एक बेहतरीन प्रतिभागी के रूप में पेश कर पायेगा।


क्या आपको पता है कि MIT का मुख्य मकसद शिक्षा, रिसर्च और बेहतर आविष्कार के जरिए एक बेहतरीन दुनिया का निर्माण करना है? इसलिए इस इंस्टीट्यूट में उसी स्टूडेंट्स को एडमिशन दिया जाता है जो इंटेलीजेंट होने के साथ-साथ वो हर चीज को एक अलग तरीके से सोचता हो।


How To Get Admission In MIT After 12th In USA Hindi


आपको इसके बारे में ये जानकारी भी रखना जरूरी है कि जो भी भारतीय स्टूडेंट्स इस इंस्टिट्यूट में पहले से पढ़ते हैं उनका कहना है कि आईआईटी और जेईई में टॉप करने वाले स्टूडेंट्स के लिए MIT में एडमिशन लेना काफी आसान है। 


यानी कि जो लड़के आईआईटी और जेईई जैसे एग्जाम की तैयारी कर चुके हैं उनके लिए इसका एग्जाम पास करना अन्य लोगों की तुलना काफी आसान है।


अगर कोई स्टूडेंट्स 12वीं पास कर लेता है वो MIT में एडमिशन लेने के लिए योग्य बन जाता है। यानी कि आप MIT के ग्रेजुएशन प्रोग्राम में हिस्सा ले सकते हैं। अगर आप अमेरिकी नागरिक नहीं है इसलिए आपको इंटरनेशनल एप्लिकेंट के कैटेगरी में रखा जाएगा और आपको MIT के ग्रेजुएशन प्रोग्राम में भाग लेने के लिए 12वीं के शुरुआत में ही इसमें एडमिशन लेने के अप्लाई करना होगा।


Massachusetts Institute Of Technology (MIT) Fees | MIT की फीस कितनी होती है?


आपके जानकारी के लिए बता दें कि MIT की एप्लीकेशन फीस 75$ यानी अगर इंडियन रुपये के बारे में बात करें तो लगभग 5 हजार है और एक साल का ट्यूशन फीस लगभग 53818$ है। इतना ज्यादा फीस दे पाना हर स्टूडेंट्स के बस की बात नहीं है। लेकिन क्या आपको पता है ये फीस बहुत कम भी हो सकता है। इसका एक तरीका है जो हम आपको बताते हैं।


MIT की इतनी बड़ी फीस को कम करने के लिए अगर कोई स्टूडेंट्स वित्तिय सहायता लेने की शर्त को पूरा करता है तो उसका 90% फीस माफ कर दिया जाता है। जिससे ऐसे स्टूडेंट्स जो MIT से पढ़कर कुछ अलग करना चाहते हैं तो उनका सपना पैसों की कमी की वजह से अधूरी न रह सकें।


ये भी पढ़ें:- Top 5 Highest Paying Jobs In India.


MIT में Admission कैसे लें | MIT Admission Requirements For Indian Students In Hindi


MIT में पढ़ने के लिए जरूरी शर्त ये है कि अगर कोई स्टूडेंट्स कम से कम 4 साल इंग्लिश की पढ़ाई किया है उसी स्टूडेंट्स को इसमें पढ़ने का मौका दिया जाता है, मैथ्स में उसको कैल्कुलस की जानकारी हो, दो साल तक इतिहास और सामाजिक विज्ञान का अध्ययन किया हो और उसको फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी की भी अच्छी जानकारी रखता हो।


ऐसा स्टूडेंट्स जो इन सब विषयों का अध्ययन नहीं किया है वो भी इसमें एडमिशन लेने के अप्लाई कर सकता है लेकिन MIT का कहना है कि अगर कोई स्टूडेंट्स ऐसे विषयों के बारे में थोड़ी-बहुत जानकारी रखता है तो उसको MIT का पाठ्यक्रम काफी आसान हो जाएगा।


MIT में एडमिशन लेने के लिए आपको इंग्लिश में अपनी जानकारी का proficiency एग्जाम देना होगा। आप नीचे दिए गए किसी भी एग्जाम को चुन सकते हैं। वैसे आपके जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय स्टूडेंट्स के लिए TOEFL का एग्जाम पास करना आसान होता है और ये इंडियन स्टूडेंट्स के लिए सबसे आसान एग्जाम होता है।


1. Cambridge English Qualification यानी C1 Advance या C2 Proficiency.
2. Duolingo English Test( DET)
3. International English Language Testing System (IELTS)
4. Pearson Test Of English (PTE Academic)
Test Of English As a Foreign Language (TOEFL)


What Is Minimum Score Required For MIT Admission In Hindi


Cambridge English Qualification यानी C1 Advance या C2 Proficiency पास करने के लिए न्यूनतम 185 अंक प्राप्त करना जरूरी है। जबकि recommended 190 अंक प्राप्त करना जरूरी होता है।


Duolingo English Test( DET) पास करने के लिए न्यूनतम 120 अंक प्राप्त करना जरूरी है, जबकि recommended अंक 125 लाना अनिवार्य है। International English Language Testing System (IELTS) पास करने के न्यूनतम 7 अंक प्राप्त करना जरूरी है जबकि recommended अंक 7.5 लाना जरूरी है।


Pearson Test Of English (PTE Academic) पास करने के लिए 65 अंक प्राप्त करना जरूरी है जबकि recommended अंक 70 जरूरी है। Test Of English As a Foreign Language (TOEFL) पास करने के लिए न्यूनतम 90 अंक प्राप्त करना जरूरी है जबकि recommended अंक 100 प्राप्त करना अनिवार्य है।


What Is Admission Process Of MIT For International Students In Hindi


MIT में एडमिशन लेने के लिए आपको ACT या SAT में से कोई भी एक एग्जाम को पास करना जरूरी है और अपना प्राप्त TOEFL अंक सबमिट करना जरूरी होता है। तभी आप इसमें एडमिशन ले पाएंगे।


हालांकि आपके जानकारी के लिए बता दें कि साल 2020-21 में MIT में एडमिशन के लिए COVID-19 के वजह से इन सभी अनिवार्यता को खत्म कर दिया गया है।


एक जरुरी जानकारी आपको बता दें कि TOEFL के लिए कोई भी उम्र की बाध्यता नहीं है। मतलब ये कि अगर कोई स्टूडेंट्स MIT में एडमिशन लेने के और सब जरूरी मानकों पर खरा उतरता है तो उसके लिए उम्र से सम्बंधित कोई भी बाधा नहीं आएगी।


अमेरिका में स्थित किसी भी कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए ACT टेस्ट पास करना जरूरी होता है क्योंकि अमेरिका की वैसी अधिकांश बड़ी यूनिवर्सिटीज जो अंडर ग्रेजुएट्स एडमिशन लेती है  वे सभी ACT और SAT दोनों के अंकों को जोड़ती है।


इस एग्जाम में चार भाग होते हैं- इंग्लिश, मैथ्स, रीडिंग और विज्ञान। इसमें लेखन(writing) भी एक सहायक विषय के रूप में काम करता है। आप इस एग्जाम को पास करने के लिए कितना भी बार प्रयास कर सकते हैं। एग्जाम पास करने के लिए कोई भी उम्र की समयसीमा नहीं होती है।


आपकी उम्र 13 होने के बाद ही आप MIT के एग्जाम के योग्य बन जाएंगे और इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं। Scholastic Assessment Test (SAT) के लिए कोई भी उम्र सम्बंधित बाध्यता नहीं है। अगर आप एग्जाम को पहली बार में पास नहीं कर पाते हैं तो कोई बात नहीं आप इसके लिए कितना ही बार एग्जाम दे सकते हैं और खुद को बेहतर बना सकते हैं। इसकी कोई बाध्यता नहीं है।


जानकारी के मुताबिक ज्यादातर 12वीं कक्षा के स्टूडेंट्स इसमें एडमिशन लेने के इस टेस्ट को देते हैं ताकि उनको आसानी से अंदर ग्रेजुएट कोर्स में दाखिला मिल सके। आपको एक रोचक जानकारी बता दें कि MIT में एडमिशन लेने के लिए लगभग 50% स्टूडेंट्स SAT के 1600 में से 1500 से 1550 तक का अंक प्राप्त कर लेते हैं। ऐसे में अगर आपको MIT में एडमिशन लेने के सेलेक्ट होना है तो आपको इससे अधिकतम अंक प्राप्त करना जरूरी होगा।


American College Testing Testing (ACT) एग्जाम में आपका अंक अधिक होना भी बहुत जरूरी है क्योंकि इसमें 75% स्टूडेंट्स ACT के एग्जाम में 36 में से 34 या उससे भी ज्यादा अंक प्राप्त कर लेते हैं। इन टेस्ट में पास करने के अलावा हर स्टूडेंट्स को अपने से सम्बंधित 5 शार्ट essay सबमिट करने पड़ते हैं।


MIT एडमिशन के लिए औसत GPA(Grade Point Average) रिलीज नहीं करता है। लेकिन एक प्रतिभागी स्टूडेंट्स के तौर पर आपका GPA अधिकतम होना आपके लिए बहुत बहुत अच्छा रहेगा।


इतना सब जानने के बाद आइये अब जानते हैं कि MIT में एडमिशन के appication में क्या-क्या डिटेल्स भरना जरूरी होता है? आपके द्वारा दिया गया answer जितना अधिक सही और साफ होगा Application भरते समय अपने बारे में उतना ही खुद को सही तरीके से बयान कर पाएंगे।


MIT के द्वारा दिये गए application में बढ़िया से essay लिखना होगा, पर ध्यान रहें कि essay जरूरत से बड़ा ना हो। बल्कि ध्यान रखें कि कोई भी essay 100-200 शब्द का ही हो। अगर आप इस प्रकार essay लिखते हैं तो आपकी पर्सनाल्टी को बेहतर तरीके से पेश होगी।


आपके लिए बता दें कि ये essay आपके बारे में जानने के लिए एक बहुत बड़ी भूमिका निभाता है। इसलिए essay लिखते समय खास ध्यान रखें क्योंकि इनको पढ़कर ही आपके पर्सनाल्टी के बारे में पता लगाया जाता है।


इन essay में आपको अपनी फैमिली, बैकग्राउंड, सोशल एक्टिविटी, आपका समाज आदि के बारे में जानकारी देनी होती है। MIT में दाखिला लेते समय आपको किस विषय में सबसे ज्यादा रुचि है और क्यों, आप अपने लाइफ के व्यस्त कार्यक्रम में खुश रहने के लिए क्या करते हैं, आपने लाइफ में अपने समाज को क्या दिया है, आपने ऐसा कोई चैलेन्ज लिया है जो आपके मुताबिक सफल नहीं हुआ है लेकिन आपने किसी भी तरह उसको अच्छे से मैनेज किया हो। इस तरह के सवालों का जवाब essay में लिखना होता है।


MIT Entrance Exam Details In Hindi


MIT में एडमिशन के लिए दो बार विषय से सम्बंधित टेस्ट अनिवार्य रूप से लिया जाता है। मैथेमेटिक्स लेवल 2 और साइंस विषय के बायोलॉजी, इकोलॉजिकल, बायोलॉजी मॉलिक्यूलर, केमिस्ट्री या फिर फिजिक्स में से कोई एक में से टेस्ट लिया जा सकता है।


2 लेटर ऑफ recommendation में आपको गणित या विज्ञान के टीचर की recommendation सबमिट करना के साथ-साथ एक language और humanity विषय के टीचर की recommendation सबमिट करना होता है।


इन सबके अलावा आपके स्कूल के द्वारा बनाये गये रिपोर्ट को भी सबमिट करना होगा। इतना सब करने के बाद MIT में एडमिशन के लिए इंटरव्यू सबसे लास्ट स्टेप होता है। इस इंटरव्यू में कुछ भी अलग करने की कोई जरूरत नहीं है।


आप उसी तरह का नॉर्मल व्यवहार करें जैसा कि आप है तो आपको इंटरव्यू में पास होना कोई मुश्किल नहीं होगा क्योंकि MIT का मानना है कि हम उसी स्टूडेंट्स को एडमिशन देना चाहते हैं जो कि हर तरह के परिस्थितियों में रहा हो ना कि किसी मशीन के जैसा।


मतलब साफ है कि MIT ऐसे स्टूडेंट्स को तवज्जों नहीं देता है जो सिर्फ शिक्षा के क्षेत्र में ही knowledge रखते हैं बल्कि ऐसे स्टूडेंट्स जो शिक्षा के साथ-साथ दैनिक दिनचर्या, सोशल वर्क में भी भाग लेते हैं और जो खेलकूद में भी हिस्सा लेता हो। यानी कि MIT को वैसे स्टूडेंट्स की जरूरत रहता है जो हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा दिखा सकें। ऐसे स्टूडेंट्स को MIT में एडमिशन लेना काफी आसान होता है।


तो साथियों इतना सब जानने के बाद अब आप जान ही गए होंगे कि MIT में एडमिशन लेने के क्या करना चाहिए? अगर इन सभी बातों का ध्यान रखकर आप सही तरीके से तैयारी करते हैं तो MIT में आसानी से एडमिशन लेकर अपने कैरियर को एक चमकता हुआ भविष्य के रूप में दे सकते हैं।


अगर आप अपने स्कूल के दौरान नेशनल या इंटरनेशनल ओलंपियाड में भाग लेते हैं तो आप खुद को एक बेहतर MIT स्टूडेंट्स के रूप में तैयार कर पाएंगे। इसलिए सिर्फ किताबी ज्ञान लेने के बजाय अपनी पर्सनाल्टी को और डेवेलोप कर हर तरह की जानकारी लेने की कोशिश करें।


हम उम्मीद करते हैं कि MIT क्या है और MIT USA में एडमिशन कैसे लें से सम्बंधित सारी जानकारी आपको मिल गयी होगी। फिर अगर आपको MIT से सम्बंधित कोई और भी जानकारी पता करना हो तो आप कमेंट करके जरूर पूछ सकते हैं।


करियर चुनते समय इन बातों का ध्यान जरूर रखें।

10 ऐसी गलतियां जिससे आपका समय बर्बाद करते हैं।

10 ऐसी गलतियां जिसको हम रोज समय बर्बाद करने के लिए करते हैं।

10 ऐसी गलतियां जिसको हम रोज समय बर्बाद करने के लिए करते हैं।

Top 10 Bad Time Wasting Habits In Hindi | समय बर्बाद करने से कैसे बचें

Top 10 time wasting habits in life hindi, how to stop time wasting in life hindi
Top 10 time wasting habits in hindi

आज हम जानेंगे समय का महत्व के बारे में। हम उसी समय के बारे में जानेंगे जिसे हम सबसे ज्यादा बर्बाद करते हैं। आप आज 10 ऐसी चीजों के बारे में जानेंगे जो आपके टाइम को बर्बाद करती है। आज आप समझ पाएंगे कि आप अपने समय को कहाँ और कैसे बर्बाद कर रहे हैं?


एक बात का ध्यान हमेशा रखिये कि आज आप असफल सिर्फ इसलिए है क्योंकि आप ये नहीं जानते थे कि अपने समय को सही तरीके से इस्तेमाल कैसे करें? तो चलिए बिना किसी देरी के top 10 time wasting habits in hindi के बारे में जानते हैं।


How To Stop Wasting Of Time In Hindi | समय की बर्बादी को कैसे रोकें


1. किसी चीज का इंतजार- हम बहुत बार इस चीज के वजह से बैठे रहते हैं कि हमें कोई प्रेरणा मिलेगा तब हम काम को करेंगे। जबकि सच ये है कि हमें प्रेरणा तब तक नहीं मिलती है जब तक हम किसी चीज का शुरुआत नहीं करते हैं।


जब किसी काम को करते हैं तब हमको समझ में आता है कि आगे और क्या करना चाहिए? जितने हम किसी काम को करते हुए आगे बढ़ते जाएंगे हमें उतना ही और ज्यादा अनुभव होगा। जितने ज्यादा लोगों से मिलेंगे उतने ज्यादा आपको करियर में inspiration मिलेगा, उतने ज्यादा तरीके मालूम होंगे।


खुद को अपने सपनों के मंजिल तक पहुचाने के लिए खुद को हमेशा inspire रखना होगा। आप किसी चीज का इंतजार नहीं कर सकते हैं। बिना रुके आपको एक्शन लेना होगा। तभी आपकी मंजिल भी आपका कदम चूमेगा।


2. एक ही गलती को बार-बार दुहराना- आपने अक्सर एक कहावत सुनी होगी कि इंसान गलतियों का पुतला है, आदमी गलतियों से ही तो सीखता है। पर आपको बता दें कि अगर आप अपने गलतियों से सीखकर आगे बढ़ रहे हैं तब तो ठीक है लेकिन अगर गलती करने के बाद भी बार-बार उसी गलती को दुहरा रहे हैं तब तो फिर आप बहुत ज्यादा समय बर्बाद कर रहे हैं।


गलतियां इंसान से ही होती है। अगर हम गलतियां करेंगे नहीं तो सीखेंगे कैसे? पर एक बार अपने आप से जरूर पूछो कि आपने जो पिछली गलतियां की है उससे क्या सीखा? अगर आप गलती कर रहे हैं तो उसको स्वीकार करें और उसको सही करने की कोशिश करें।


How To Stop Time Wasting In Life Hindi


3. सब अच्छा होने का इंतजार करना- आदमी अपना सबसे ज्यादा समय इसी बात को लेकर बर्बाद कर देता है कि वो सब अच्छा होने का इंतजार करता है। अगर आप भी ऐसा समय आने का इंतजार कर रहे हैं तो सिर्फ अपना समय बर्बाद कर रहे हैं।


आप जरा सोच कर देखिये अगर आप बचपन में गिरने के डर से ये सोचते कि जिस दिन मैं अच्छे से दौरान सीख जाऊंगा उसी दिन से खड़ा होऊंगा तो क्या आप कभी खड़े हो पाते? अगर आप ये सोचते कि मैं गाड़ी लेकर तभी निकलूंगा जब रास्ते पर कोई रेड सिग्नल ना मिले तो क्या आप कभी कहीं घूमने जा पाते, अगर आप ये सोचते कि जिस दिन मैं करोड़पति बन जाऊंगा उसी दिन पैसे कमाऊंगा तो शायद आज आप एक रुपये भी नहीं कमा पा रहे होते। अगर आप ऐसा अभी भी कर रहे हैं तो सिर्फ ये समय की बर्बादी है।


ये भी पढ़ें:- करियर चुनते समय इस बात का ध्यान जरूर रखें वरना असफलता हाथ लगेगी।


आप जहाँ भी है, जैसे भी है आज और अभी से अपने काम को शुरू कर दीजिए क्योंकि एक बात हमेशा ध्यान रखिये कि आप जिस समय का इंतजार कर रहे हैं वैसा समय कभी होता ही नहीं है तो आएगा कहाँ से।


इसलिए परफेक्ट टाइम का इंतजार करना छोड़िए और आपको जो आता है वहीं से शुरू कर दीजिए और रास्ते में जो भी रुकावट आये उसको अपने से दूर करते हुए आगे बढ़ते जाओ। आप जितना ज्यादा अपने काम को करेंगे आपके अंदर उतना ही परफेक्शन आता जाएगा।


Don't Waste Your Time In Hindi | सबसे बड़ा रोग क्या कहेंगे लोग


4. अगर ऐसा किया तो दूसरे लोग क्या सोचेंगे- आपने तो एक बात जरूर सुनी होगी- सबसे बड़ा रोग मेरे बारे में क्या कहेंगे लोग। उम्मीद है आपने ये बात बहुत बार सुना होगा लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ऐसा सोचते हुए आपने कितना टाइम बर्बाद कर दिया है। कई बार हम अपने काम को बस इसलिए रोक देते हैं कि मेरे पड़ोसी क्या सोचेंगे, क्या कहेंगे?


हम ऐसा सोच-सोचकर वो नहीं कर पाते जो हम करना चाहते थे और एक दिन अपने ही लाइफ को बर्बाद कर देते हैं। एक बाद हमेशा याद रखना कि दूसरों की सलाह, दूसरों की बात के वजह से हम सिर्फ अपना टाइम बर्बाद ही नहीं करते हैं बल्कि हम अपना लाइफ बर्बाद कर रहे हैं।


5. खुद को भी समय दो- कभी-कभी ऐसा होता है कि हम काम के व्यस्तता के चलते खुद के लिए जीना भूल जाते हैं। ये सही है कि समय कम है, ज्यादा जीवन भी नहीं बचा है इसलिए हमेशा अपने लक्ष्य की तरफ ध्यान लगाएं रखें। अपने मंजिल को पाने के लिए दिन रात मेहनत कीजिये पर काम के बीच ब्रेक लेना भी उतना ही जरूरी है।


अपने काम के बीच अपने लिए भी जरूर समय निकालें। कभी-कभी मनपसंद के काम कीजिये, दूसरे चीजों के बारे obserbe करें, अपने काम से हटकर कुछ अलग करें। ऐसा करने से आपका मन रिफ्रेश होता है। आप अपने काम से बहुत प्यार कीजिये लेकिन एक ब्रेक लेना कभी मत भूलिए।


असफलता का सामना कैसे करें | How To Learn From Failure In Life Hindi


6. बहुत बार हम अपने लाइफ में किसी काम को ये सोचकर शुरू नहीं करते हैं कि क्या होगा अगर हम फेल हो गए, क्या होगा अगर हमें असफलता हाथ लगी। इस असफलता के डर के वजह से आप अपने जीवन में कई सारे मौके ऐसे ही गंवा देते हैं।


आपको एक उदाहरण देते हैं। मान लीजिए कि आप कोई गेम खेल रहे हैं। उसमें आपकी या तो हार होगी या फिर जीत। अगर आप हार के डर से खेलेंगे ही नहीं तो आप गेम शुरू होने से पहले ही हार गए हैं। आप उसमें भाग लेंगे तभी तो जितने की संभावना बनी रहेगी। यहीं बात हमारे लाइफ में भी होता है। इसलिए बिना डरे किसी को अभी से ही शुरू कर दीजिए।


7. बहुत लोग ये शिकायत करते हुए मिलेंगे कि मेरी किस्मत ही अच्छी नहीं है, काश! मेरे हालात ऐसे नहीं होते, मेरे परिवार वाले अच्छे नहीं है। मतलब उनके आसपास हर एक चीज अच्छी नहीं होती है। लेकिन ये हकीकत है कि आपके ऐसे बेकार के शिकायत के अलावा सभी अच्छे हैं।


ये भी पढ़ें:- Top 15 Self Improvement Tips In Hindi For Career Success.


आप किसी को दिन भर कोसते रहें आपको कुछ नहीं मिलने वाला है। उल्टा आप ऐसा करके अपना समय बर्बाद कर रहे हैं। ऐसा समय जो कभी लौटकर वापस नहीं आने वाला है। इसलिए बिना किसी शिकायत के आज से ही अपने काम में लग जाइये। सफलता जरूर हासिल होगी।


8. किसी काम को अधूरा छोड़ना- जब भी हम किसी काम को आधा-अधूरा छोड़ते हैं और किसी दूसरे काम को करने लगते हैं तो हमारा दिमाग छोड़े हुए काम के बारे में सोचता रहता है। इसलिए हम दूसरा काम भी ढंग से नहीं कर पाते और ना ही हम छोड़े हुए काम को अपने दिमाग से निकाल पाते हैं।


इसलिए भले ही दिन में एक काम करो लेकिन उस काम को खत्म किए बिना किसी दूसरे काम को शुरू न करें। अगर आप ऐसा करते हैं तो आप केवल अपना समय बर्बाद कर रहे हैं।


9. सबको खुश करने की जिम्मेदारी- क्या आपको पता है कि इस दुनिया में लगभग 7 अरब से भी ज्यादा लोग रहते हैं? जरा एक मिनट के लिए सोचिए आप कितने लोगों को खुश कर पाएंगे? आप अपना काम छोड़कर किसी दूसरे को खुश करने में अपना टाइम बर्बाद क्यों कर रहे हैं?


ये दुनिया का सच है कि आप सबको खुश नहीं कर सकते हैं। आपको इस दुनिया में खुश करने के सिर्फ एक आदमी की जरूरत है और वो आप खुद है। जिस दिन आप खुद को खुश रखना सिख गए उस दिन से आपका हर पल खुशियों सर भरा मिलेगा।


आपको ये खुद ही देखना होगा कि जिस काम को आप कर नहीं सकते, जिसको करने से सिर्फ आपका समय बर्बाद होगा। ऐसे जगहों पर ना कहना सीखिए क्योंकि ये दुनिया सिर्फ मतलब की है। सबको सिर्फ अपना काम निकालना है। आज से आप वहीं कीजिये जिसको आप कर सकते हैं।


एक बात हमेशा ध्यान रखिये कि आप सबको खुश नहीं कर सकते हैं लेकिन सबको खुश करने से चक्कर में आप अपना समय जरूर बर्बाद कर दोगे। ऐसे करके अपना समय बर्बाद मत करो


10. किसी से तुलना करना- ये बात हमारे समाज में, हर जगह, हर समय देखने को मिल जाता है। कोई अपने बेटे की तुलना किसी दूसरे के बेटे से करता है तो कोई अपने समान की तुलना किसी दूसरे से। बंद करो ये सब ऐसा करने से आप खुद को दुःखी कर रहे हैं और कुछ नहीं।


आज हम सिर्फ इस बात की तुलना करते रहते हैं कि वो कितना कमा रहा है और मैं कितना कम कमा रहा हूँ। वो कितना सुंदर है और मैं कितना कुरूप। कृपा करके ऐसा मत कीजिये क्योंकि ऐसा करके सिर्फ आप अपने को दुःखी कर रहे हैं और अपना समय बर्बाद कर रहे हैं।


ऐसा करते रहने से निराशा के अलावा कुछ भी नहीं मिलने वाला है। अगर किसी चीज से तुलना ही करना है तो अपने बीते हुए कल से तुलना कीजिये, अपने अंदर छिपे टैलेंट से तुलना करो कि मैं क्या कर सकता हूँ और अभी क्या कर रहा हूँ? बस कुछ दिन ऐसा करके देखिए आपका जिंदगी कितना बदल जायेगा।


ये भी पढ़ें:- 2021 में ये 5 जॉब आपको सबसे ज्यादा सैलरी देगी।


Top 10 Good Habits For Success In Hindi | Top 10 Habits Of A Successful Person In Hindi


1. किसी चीज का इंतजार मत कीजिये। Success के लिए जो मन में आये वो कर डालिये।


2. आप ये मत सोचिए कि मेरे बारे में लोग क्या कहेंगे? आपको जो करना है कर डालिये क्योंकि आप अपने भाग्य के निर्माता खुद ही है। वरना दूसरे लोग तो सिर्फ आपके बुरे वक्त का इंतजार करते हैं।


3. कभी-कभी खुद के ऊपर भी समय दीजिये क्योंकि यहीं समय आपके मन को विचलित होने से बचाता है और आपको तरोताजा रखता है।


4. असफलता से डरिये मत बल्कि उसका सामना कीजिये। उससे कुछ सीखिए और उस फेलियर को सफलता में बदल डालिये।


5. अपने आसपास के उपस्थित चीजों को कोसना बंद कीजिए क्योंकि आपकी ये आदत सिर्फ समय बर्बाद करती है और आपको अपने लक्ष्यों से दूर करती है।


6. कभी भी किसी काम को अधूरा मत छोड़िए क्योंकि ऐसा करके सिर्फ अपना समय बर्बाद कर रहे हैं। जिस काम को शुरू कर रहे हैं उसको खत्म करने के बाद ही दम लीजिये।


7. सबको खुश करने की जिम्मेदारी मत लीजिये क्योंकि आप अपनी जान देकर भी सबको खुश नहीं कर सकते हैं। इसलिए जरूरत पड़ने पर ना कहना भी सीखिए।


8. अपनी तुलना किसी दूसरे से मत कीजिये क्योंकि आप इस दुनिया में सिर्फ अकेले बनें है और सबकी अपनी-अपनी अलग खूबियां होती है। आप बस ये सोचिए कि आप जो भी है सबसे बेस्ट है।


9. बार-बार गलतियों को दुहराने की गलती मत कीजिये बल्कि अपनी गलतियों से सीखकर हमेशा कुछ अच्छा करने की कोशिश करें।


10. सब चीज अच्छा होने का इंतजार बिल्कुल मत किजिए क्योंकि ऐसा कभी होता ही नहीं है। इसलिए बिना देरी किये अपना काम अभी से शुरू कर दीजिए।


आप अभी तक अपना समय कैसे बर्बाद कर रहे थे और अब आपने क्या सीखा कमेंट बॉक्स में लिखना मत भूलिएगा। साथ ही आपको ये top 10 bad time wasting habits in life hindi कैसी लगी और साथ ही आपने समय बर्बाद करने से कैसे बचें से क्या सीखें हमें कमेंट करके जरूर अपना अनुभव शेयर करें।


ये भी पढ़ें:- कम पढ़ें-लिखें लोग भी सफल इस कारण होते हैं।

जीवन में सही करियर का चुनाव कैसे करें | How To Choose Right Career

जीवन में सही करियर का चुनाव कैसे करें | How To Choose Right Career

How Can I Choose My Right Career After 12th In Hindi | सही करियर का चुनाव कैसे करें

How can I choose my right career after 12th in hindi, how to choose right career in hindi
How Can I Choose My Right Career

आजकल के जमाने में किसी की भी लड़कों के सामने सबसे बड़ी समस्या यहीं रहती है कि सही कैरियर का चुनाव कैसे करें? आज के समय लड़कों के सामने सबसे बड़ी problem यहीं रहती है कि कौन सा career उनके लिए बेस्ट है, मैं किस काम को करने से उनको खुशी मिलेगी और जीवन में अच्छी तरक्की मिलेगी।


आज काम तो हर कोई करता है कि लेकिन उनको ये पता ही नहीं होता कि उनको आगे चलकर करना क्या है, उनका career किस फील्ड में होगा? उनका कोई goal ही नहीं होता इसलिए वो अपने life वो achievement हासिल नहीं कर पाते जिसका वो हकदार थे।


मान लीजिए कि आपका उम्र 20 साल है तो आपको अभी तक तो इतना पता चल ही गया होगा कि आपको कौन सा काम करने में सबसे ज्यादा मजा आता है, आपको किस तरह के काम करने में सबसे ज्यादा खुशी मिलती है?


आपके मन में बस यहीं सवाल उठता होगा कि मेरे लिए कौन सा काम अच्छा रहेगा, अपना कैरियर कैसे चुनें? तो चलिए हम how can I choose my right career in hindi चुनने में मदद करते हैं और बताते हैं कि आपके लिए कौन सा career चुनना सही रहेगा?


How to Choose Right Career Planning in Hindi | विद्यार्थी अपने भविष्य का चुनाव कैसे करें


क्या आप जानते हैं कि आज के समय में कैरियर सही ना चुन पाने का सबसे बड़ा कारण ये है कि आपका कैरियर आप नहीं बल्कि कोई और चुनता है। आप किस समाज है, आप किस परिवार से जुड़े हुए हैं, अगर आपके आसपास कोई इंजीनियर है, कोई डॉक्टर है, कोई दरोगा है तो आपके परिवार के लोग बस यहीं कहते हैं कि उसका लड़का इंजीनियर है तो तुमको भी वहीं बनना है भले ही आपका दिमाग उसके लिए है ही नहीं, आप उसके लिए बनें ही ना हो।


हर आदमी की अलग-अलग सोच होती है, हर आदमी के पास एक अपना हुनर होता है जो किसी और के पास नहीं होता है, कुछ आपके अंदर ऐसा है जो केवल आप ही कर सकते हैं। फिर क्यों आप दूसरे के लिए बनाए गए काम को करके अपना कैरियर खराब कर रहे हैं, जिसमें आपको कभी सफलता मिल ही नहीं सकती।


जरा सोचिए अगर नरेंद्र मोदी को जबरदस्ती एक क्रिकेटर बनाया गया तो क्या वो आज भारत के प्रधानमंत्री बन पाते, क्या केएल राहुल को गेंदबाजी करने को बोला जाए तो क्या वो कभी इतने सफल हो पाते, क्या बिल गेट्स को जबरदस्ती गायक बनाया गया होता तो क्या वो आज इतने सफल हो पाते?


इन सबका जवाब बस एक ही होगा- शायद नहीं क्योंकि वे उसी काम को अपना कैरियर बनाएं जिसमें उनको काम करना अच्छा लगता था और जिसमें वो अपना शत प्रतिशत दे सकते थे।


आज सबसे ज्यादा बेरोजगारी का कारण यहीं है कि लगभग 99% लोगों अपना खुद का कैरियर चुन पाते हैं। इसलिए वो आगे जाकर या तो असफल रह जाते हैं या फिर उतने सफल नहीं हो पाते जितना कि वो हो सकते थे। फिर जब उनको किसी काम में मन नहीं लगता है तो निराश हो जाते हैं।


ये भी पढ़ें:- Top 16 Self Improvement Tips in Hindi


हो सकता है कि आज आप जो काम कर रहे हैं हो सकता है कि वो आप अपने मन से नहीं कर रहे हैं, उसमें आपका कोई दिलचस्पी नहीं है, आप वो काम किसी और के कहने पर कर रहे हैं? अगर आप ऐसा कर रहे हैं तो आप अपने जिंदगी के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। आप अपने लाइफ में कभी सफल नहीं हो सकते हैं।


Best Career Development Tips In Hindi | करियर बनाने के लिए क्या करें


अपना सही कैरियर चुनने का तरीका ये है कि पहले खुद से एक बार पूछिये कि मुझे क्या करना चाहिए, मैं किस काम को बेहतर तरीके से कर सकता हूँ? अगर आप एक बार अपना सही goal सेट कर लिए तो आप अपने कैरियर के आधा जंग ऐसे ही जीत लिया।


एक बार आप अपना goal सेट कर लीजिए। अभी आपके लिए ये improtant नहीं है कि आप इस समय कम पैसा कमा रहे हैं या ज्यादा कमा रहे हैं, बल्कि important ये है कि आप आने वाले समय में क्या करने वाले हो?


वहाँ पर भी पैसे से ज्यादा important ये है कि जो आप काम करने वाले हैं उसमें आपका interest है कि नहीं है। हो सकता है कि आप महीने का एक लाख रुपये कमा रहे हैं या उससे ज्यादा या कम कमा रहे हैं लेकिन इतना तो सोचिए आप जो करना चाहते थे वहीं कर रहे हैं इससे बड़ी बात आपके लिए क्या हो सकता है?


आप अभी अपने कैरियर के शुरुआती दौर में है ऐसे में बिल्कुल भी जल्दबाजी न करें क्योंकि आपका जीवन और भी ज्यादा लम्बा चलने वाला है। ऐसे में आप इतने लंबे समय तक अपने life के साथ कैसे समझौता कर सकते हैं? आप अगर कर रहे हैं तो आप भले ही कुछ पैसा कमा पा रहे हैं लेकिन आपको अंदर से खुशी कभी नहीं मिलेगा।


सबके दिमाग में बस एक ही सवाल रहता है कि बस कैसे भी जॉब मिल जाये तो मेरी लाइफ सेट हो जाएगी। मैं आपसे पूछता हूँ कि कोई भी जॉब करके सिर्फ पैसा कमाना ही life है। आप एक बात हमेशा ध्यान रखें कि अपना life खुद डिज़ाइन कर सकते हैं। उसको जैसा मर्जी वैसा बना सकते हैं।


आप इसी बात से डरते हैं न कि अगर मैं इस काम को करूँगा तो लोग आपके बारे में क्या कहेंगे, मेरे बारे में क्या सोचेंगे? अगर आप ऐसा सोचते हैं तो सबसे पहले इस तरह की बात अपने मन से निकाल दीजिये क्योंकि आपसे लोग उतने ही दिन तक आपके बारे में पूछते हैं जब तक आप बर्बाद न हो जाओ। लोग आपको चाहते ही है कि आप अपने लाइफ में कुछ कर नहीं पाये।


इसलिए आप लोगों की फिक्र छोड़िए और जो आपका दिल कहें उसी में अपना कैरियर बनायें क्योंकि जो कैरियर आप चुनेंगे वो आपके लिए सबसे बेस्ट होगा। आप कैरियर चुनते समय बस इतना ही ध्यान रखें कि आपको जितना जॉब की जरूरत है उतना ही लोगों को आपकी जरूरत है। इसलिए आप अपने काम को कम मत आंकिये।


ये भी पढ़ें:-● घर बैठे ऑनलाइन पैसे कमाने के 10 तरीके।

● Top 5 Highest Paying Jobs In 2021.


आप जो भी कैरियर चुने उसके अनुसार, अपने फील्ड के अनुसार जो लोग उसमें पहले से कुछ अच्छा कर चुके हैं उनसे मिलें, उनसे बात करें कि कैसे वो यहाँ तक पहुँचे, उनसे कैरियर मार्गदर्शन प्राप्त करें, उसके बारे में और ज्यादा जानकारी प्राप्त करें? ऐसा करने से आपको जल्दी success मिलेगी।


Conclusion Of How To Choose Right Career In Hindi | करियर गाइड इन हिंदी


इन सब बातों को आप अच्छे तरीके से समझ गए होंगे कि how to choose my right career in hindi. इसलिए आप कभी भी उसमें करियर नहीं बनाये जिसमें लोग आपको करने के लिए कहते हैं बल्कि आप अपना career उसमें बनाइये जिसमें आपको सबसे ज्यादा खुशी मिलती है और आप उसमें अच्छा कर सकते हैं।


हम उम्मीद करते हैं कि आपको अच्छी तरह से समझ आ गया होगा कि सही करियर का चुनाव कैसे करें? फिर भी अगर आपको करियर गाइड से सम्बंधित कोई सहायता चाहिए तो हमसे कमेंट करके जरूर पूछें। अगर आपको हमारा ये पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें।

Top 5 Highest Paying Jobs In India For Students 2021 In Hindi

Top 5 Highest Paying Jobs In India For Students 2021 In Hindi

Top 5 Highest Paying Jobs In India For Fresher Hindi| Best Career Options For Students In Hindi

Top 5 highest paying jobs in india for fresher in hindi,best career options for students in hindi
Top 5 highest paying jobs in India


आप अपने घर के बाहर निकले और देखा कि सामने एक शेर खड़ा है तो आप क्या करोगे? क्या आप वहाँ खड़े होकर के किसी से कोई शिकायत करोगे,क्या आप जंगल विभाग की बुराई करते रहोगे या फिर आप सबसे पहले बचने की कोशिश करोगे, एक्शन लेने की कोशिश करोगे?


लेकिन क्या आपको पता है कि ऐसे बहुत सारे परिस्थितियों में हम और आप ऐसा नहीं करते हैं? हम काम करने की जगह, समस्या को सुलझाने की जगह बेकार के complain करते रहते हैं।


बात जब career की आती है तो कई सारे लोग ये बहाना ढूंढते हैं कि GDP अच्छी नहीं है, कोरोना वायरस आ गया, इकोनॉमी ठीक नहीं चल रही, मेरे हालात अच्छे नहीं है, बेरोजगारी बहुत है, मेरे टीचर और कॉलेज अच्छे नहीं है लेकिन आपने इस तरह के complain करते समय क्या आपने एक बार भी सोचा कि ऐसा करने से आपका प्रॉब्लम solve हो जाएगा? शायद नहीं!


आपका प्रॉब्लम तब खत्म होगा जब आप solution पर फोकस करोगे, career पर फोकस करोगे, अपने research पर फोकस करोगे। आज आपसे बेहतरीन career से सम्बंधित Top 5 highest paying jobs in india for students/fresher 2021 in hindi शेयर करने वाला हूँ, जो आने वाले समय में सबसे ज्यादा सैलरी देने वाले जॉब होंगे, जो बदलते टाइम में बदलते टेक्नोलॉजी के साथ जो जॉब बहुत तेजी से grow कर रही है उसके बारे में बात करेंगे।


इस पोस्ट में आप details में समझ पाओगे कि कैसे ये जॉब्स आने वाले समय में बदलते टेक्नोलॉजी के साथ सबसे ज्यादा डिमांड में रहने वाली है, कैसे ते जॉब आपको बहुत अच्छी सैलरी दिला सकती है और इन जॉब में नौकरी जाने का खतरा बहुत कम होगा।


तो दोस्तों आइये बात करते हैं इन Top 5  highest paid job in india For 2021 और Best Career Options For Students In Hindi के बारे में।


Top 5 Highest Paying Jobs In India For Students/Fresher 2021 In Hindi


Data Scientist Jobs क्या है | Data Scientist Jobs For Fresher In India

1. Data Scientist:- एक data scientist को आसान भाषा में समझना चाहे तो डेटा साइंटिस्ट एक मूर्तिकार की तरह है। जिसके सामने एक data का पत्थर है, जिसे वो तराशता जाता है, निकालता जाता है, समझता जाता है और कई सारी चीजें वो create कर पाता है।


एक data scientist कम्पनी के अंदर जो कई जगह से डेटा आ रहा है जैसे- मार्केटिंग का data है, sales का data है, social media का data है, production का डेटा है ऐसी ही कई तरह की data कम्पनी के अंदर है। जिसे एक data scientist उसे मैनेज करता है। उस data के आधार पर कई सारे आगे की प्लानिंग करता है।


ये भी पढ़ें:- Top 16 Self Improvement Tips In Hindi For Success.


जिससे वो किसी ऑर्गनाइजेशन को मुनाफे की तरफ ले जाता है, कस्टमर से relation को मजबूत कर पाता है, कम्पनी की ब्रांड वैल्यू increase कर पाता है। अगर हम data scientist के जॉब रोल की बात करे तो उसका काम है structural और unstructure डेटा को organise करना।


Valuable data सोर्सेज को पहचानना की कहाँ-कहाँ से उसे सही डेटा मिल सकता है? पुराने data के आधार पर आगे क्या होगा, आगे की क्या प्लानिंग होगी?


अब आपको बताते हैं कि Data scientist बनने के लिए क्या qualification होनी चाहिए? देखिये दोस्तों जाहिर सी बात है कि थोड़ा technical एरिया है तो इसमें Computer Science, Programming, Maths, Analytics इस तरह की जानकारी होना जरुरी है।


अगर आपको coading का अनुभव नहीं है, प्रोग्रामिंग का knowledge नहीं है तो Data science का डिप्लोमा करके Data scientist बन सकते हैं। अगर आप इंजीनियरिंग ग्रेजुएट है तो आप data science में पीजी डिप्लोमा कर सकते हैं।


अगर इस जॉब के scope के बारे में बात करें तो बहुत सारे ऐसी ग्लोबल कम्पनियां और भारतीय कम्पनियां भी data scientist को नियुक्त करती रहती है। जैसे- Amazon, Wallmart, Tech Mahindra  इत्यादि ये सारी कम्पनी जिसके पास Data scientist होते हैं।


आप इन कम्पनी के वेबसाइट पर जाकर Career सेक्शन में जाकर Data scientist के अप्लाई कर सकते हैं या फिर ऐसी बहुत सारी जॉब पोर्टल जैसे Naukri.com और भी बहुत सारी वेबसाइट पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं।


Data Scientist Jobs Salary In India In Hindi:

इन Data Scientist की सैलरी की बात करें तो अब तक आपको अंदाजा हो गया होगा कि Data Scientist की डिमांड आज के समय में कितनी है और फ्यूचर में इसका डिमांड कितना बढ़ने वाला है। इसलिए अगर आप Career ऑप्शन के बारे में सोच रहे हैं तो Data Scientist आपके लिए बेस्ट ऑप्शन हो सकता है।

Machine Learning Jobs क्या है | Machine Learning Job Salary In India In Hindi

Machine learning jobs in india for fresher in hindi,machine learning kya hota hai
Machine Learning Jobs In India


2. Machine Learning:- Machine Learning आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का एक ऐसा ब्रांच है जिसमें ऐसे सिस्टम बनाये जाते हैं जो खुद ही data इकट्ठा करें, खुद की learn करें और खुद ही improve करें।


एक Machine Learning एक्सपर्ट का काम है self learning system बनाना। ऐसे सिस्टम बनाना जो खुद ही सीखें। आज के समय में ये बहुत तेजी से ग्रो कर रहा है। हर एक industry का एक अहम हिस्सा बनता जा रहा है। आईटी, रिटेल, हेल्थ केयर, एजुकेशन इत्यादि हर जगह इसका काम है।


इस जॉब के करने का सबसे बड़ा कारण ये है कि इसके ग्रो करने का पैटर्न बहुत मजबूत है। 2018 से 2023 तक 33% ग्रोथ इस सेक्टर में होने वाला है।


अब ये जान लेते हैं कि एक machine learning एक्सपर्ट का क्या काम होता है? machine learning एक्सपर्ट का काम है स्टेटिस्टिक्स को analyzed करना, machine learning  एक्सपेरिमेंट और projects पर काम करना, टेस्ट के जो रिजल्ट आते हैं उसको analyze करना ताकि और बेहतर रिजल्ट्स आ सके इत्यादि और भी बहुत सारे काम है।


ये भी पढ़ें:- Top 10 easiest way to make money online from internet in hindi


अब बात करते हैं कि कौन से skills है जो एक machine learning एक्सपर्ट के अंदर होने चाहिये और उसके बाद क्वालिफिकेशन के बारे में बात करेंगे कि एक Machine Learning एक्सपर्ट कैसे बनें?


एक machine leraning एक्सपर्ट को python और R Language आती है, Statistical नॉलेज मजबूत होती है, Data Modeling और Data Architecture Skills शानदार होती है इसके साथ ही कम्युनिकेशन स्किल भी अच्छी होनी चाहिए ताकि प्रेजेंटेशन, प्रोग्रेस रिपोर्ट और data visualisation बना सके।


अब आपको बताते हैं कि Machine Learning एक्सपर्ट बनने के लिए qualifications क्या होनी चाहिए? अगर आपके पास इंजिनीरिंग की डिग्री है, आईटी प्रोफेशनल हो,Data प्रोफेशनल हो या Mathematicians के डिग्री धारक हो तो आपके लिए ये जॉब बिल्कुल परफेक्ट है।


अगर आप इनमें से कुछ भी नहीं हो तो आप machine learning के ऊपर पीजी डिप्लोमा कर सकते हैं या मास्टर्स कर सकते हैं। अगर बात करें कि machine learning एक्सपर्ट की सैलरी क्या होती है तो इंडिया में एवरेज सैलरी 7 से 8 लाख पर ईयर होता है। जब आपको 5 या 6 साल एक्सपीरिएंस हो जाएगा तो आपकी सैलरी 20 से 25 लाख तक हो सकती है।


Blockchain Developer क्या होता है और कैसे बनें | Salary Of Blockchain Developer In India Hindi


3. Blockchain Developer:- अगला जो जॉब्स है वो बहुत बड़ी क्रांत्ति बनती जा रही है। उसके बारे में ये कह सकते हैं कि ये इंटरनेट के जैसा ही ये जॉब बड़ा क्रांत्ति लाएगा और इसके अंदर जो कैरियर है वो है blockchain developer का।


चलिये हम विस्तार से जानते हैं कि blockchain developer क्या है और कैसे बनें? इसके बारे में बहुत आसान भाषा मे कहें तो जो data की entry है वो किसी एक जगह स्टोर नहीं होती है। दरअसल में वो data हजारों, लाखों, करोड़ों server पर स्टोर हो रही है।


ये भी पढ़ें:-● Best 5 Time Management Tips In Hindi.

Freelancing से पैसे कमाने के 100 तरीके।


उस नेटवर्क के अंदर जितने भी लोग हैं उस entry को रियल टाइम में देख सकते हैं। इससे फायदा ये होता है कि पूरे data को एक आदमी, कोई एक organisation कंट्रोल नहीं कर रही बल्कि ये कंट्रोल अनेकों जगहों से होता है।


ये इतनी प्रभावी टेक्नोलॉजी है कि आज के समय में ये हर क्षेत्र में क्रांत्ति ला रही है। इंटरनेट को, बैंकिंग को, हेल्थकेयर को, education को। अब तो सरकार ने भी नीति आयोग में blockchain टेक्नोलॉजी को जोड़ा है।


आप सोच रहे होंगे कि blockchain developer का क्या काम है तो आपको बता दें कि उसका काम काम है blockchain से सम्बंधित apps और applications को develop करना। नए बदलाव के साथ उनको अपडेट करना, क्लाइंट और सर्वर साइट्स को मेंटेन करना और ग्लोबल blockchain community में भाग लेना।


अब आपको बताते हैं कि एक blockchain developer के लिए क्या qualification होनी चाहिए तो अगर आपने B.E या B.Tech इन कम्प्यूटर साइंस किया हुआ है या फिर Mathematics या Statistics  या Information Technology में ग्रेजुएशन किया हुआ है तो आप एक blockchain developer बन सकते हैं।


आपको एक बताते चलें कि कम्पनी उन कैंडिडेट्स को ज्यादा प्राथमिकता देती है जिनके पास कोडिंग की अच्छी जानकारी होती है जैसे-JAVA,Java script, Python, C, CE++  की लैंग्वेज में।


इसके अलावा आपको blockchain architecture, data structure, distributed system की अच्छी समझ होनी चाहिए। आपको cryptography और decentralized applications में जानकारी होनी चाहिए। इसके अलावा आपको blockchain प्लेटफॉर्म जैसे:- Etheruem, Hyperledger, Fabric, EOS इत्यादि की नॉलेज होनी चाहिए।


इन सबके बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए आप Blockchain प्रॉफेशनल का कोई शॉर्ट टर्म कोर्स कर सकते हैं जो आपके लिए काफी हेल्पफुल हो सकता है। अगर इस जॉब के स्कोप के बारे में बात करें तो आईटी सेक्टर, फाइनेंस सेक्टर इसके अलावा कई सारे सेक्टर में एक blockchain developer की जरूरत होती है।


आपको बता दें कि 2025 तक इस सेक्टर का वार्षिक ग्रोथ 43% तक होगा। अगर हम बात करें कि एक blockchain developer का सैलरी क्या होता है तो इंडिया में एक ब्लॉकचैन डेवेलपर की एवरेज सैलरी 8 लाख पर ईयर है। लगभग सारे organisation को blockchain developer की जरूरत है लेकिन उनको एक अच्छे blockchain developer नहीं मिल पाते।


ये भी पढ़ें:- Telegram App से घर बैठे पैसे कमाने के तरीके।


इसलिए इस सेक्टर में ग्रोथ का स्कोप बहुत ज्यादा है। कुछ सालों में एक्सपीरिएंस के आधार पर 45 लाख सलाना सैलरी तक पहुँच सकते हैं। बस ये इस बात और निर्भर करता है कि आपके अंदर कितनी टैलेंट है, आपने खुद के ऊपर कितना काम किया है।


Full Stack Web Developer Job क्या है और कैसे बनें ? Full Stack Web Developer jobs For fresher in india


4. Full Stack Web Developer:- साथियों Full stack web developer का क्या काम है? साथियों एक Fullstack Web Developer का मतलब बस आप ये समझ लीजिए कि जिसको हर चीज की जानकारी है, हर काम का तुरंत solution दे सकता है, उसको ये जानकारी हो कि वेबसाइट कैसी दिख रही है, user को कैसा एक्सपीरियंस मिल रहा है, डिज़ाइन कैसा है, colour कैसा है?


जिसको ये जानकारी हो कि data कैसे काम करेगा,code कैसे काम करेगा,script कैसे काम करेगा? जिसको CSS, HTML, Java Script का भी पता है और जो बिजनेस की जरूरत, उसकी टारगेट ऑडियंस की जरूरत को समझ रखता हो।


आपको बताते हैं कि एक Full stack Web Developer बनने के लिए क्या स्किल्स होनी चाहिए? HTML, CSS और JAVA में उसको एक्सपर्ट होना चाहिए। उसको web architecture की अच्छी जानकारी होती है। http और REST Protocol आदि के बारे में अच्छी जानकारी होती है।


अगर बात करें कि एक Full stack Web Developer बनने के लिए क्या qualifications होनी चाहिए तो अगर आपके पास कम्प्यूटर साइंस में B.Tech, Information Technology की डिग्री हो, BCA, MCA इस तरह की प्रॉफेशनल डिग्री जिनके पास है और साथ में language का एक्सपीरिएंस है उनके लिए ये जॉब बिल्कुल परफेक्ट है।


अगर एक Full stack Web Developer की सालाना सैलरी की बात करें तो अगर आप इस फील्ड में फ्रेशर है तो 4 से 5 लाख सैलरी लग सकती है। एक्सपीरियंस के साथ ये सैलरी बढ़कर 10 से 12 लाख सालाना सैलरी लग सकती है।


इस फील्ड में स्कोप बहुत ज्यादा है और अब बढ़ते ही जा रहा है क्योंकि आज हर कोई डिजिटल हो रहा है, टेक्नोलॉजी को अपना रहा है, हर किसी की जरूरत बनती जा रही है। IT और ITeS 2025 तक 350 बिलियन डॉलर के हो जाएंगे।


App Developer कैसे बनें | App Developer Salary In India Hindi


5. App Developer:- आपको पता है कि इंडिया में स्मार्टफोन का डिमांड कितनी तेजी से बढ़ रहा है शायद आपके पास भी होगा। अगले कुछ सालों में केवल इंडिया में स्मार्टफोन use करने वाले दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ेंगे। कम्प्यूटर, डेस्कटॉप, टीवी स्क्रीन और मोबाइल शायद सबके हाथ मे है।


ये भी पढ़ें:- Instagram से पैसे कमाने के 5 बेहतरीन तरीके।


पर आपने कभी सोचा है कि आपके अंदर जितने apps है वो कैसे काम करते हैं, वो बनते कैसे हैं? हर बिजनेस, हर सर्विस, हर इंडस्ट्री मोबाइल apps के द्वारा ही लोगों तक पहुचना चाहती है। अब जो इन apps को बनाते हैं उनको कहते हैं App Developer. आजकल बहुत सारे organisations को एक अच्छे App Developers की तलाश है।


एक App Developer का जॉब रोल ये होगा कि एक अच्छी App बनाना,डिज़ाइन करना, अच्छे यूजर एक्सपीरिएंस को insure करना, साफ सुथरा और readable कोड्स को लिखना, उन apps के bugs को फिक्स करना और उनको मेन्टेन करना।


अगर बात करें कि App Developer का क्या qualifications होनी चाहिए तो अगर आपके पास टेक्नोलॉजी से रिलेटेड जानकारी है तो आपके लिए इसको करना आसान होगा। साथ ही इसके अलावा बहुत सारे ऐसे शार्ट टर्म  कोर्सेज भी होते हैं जिसमें आप app development सिख सकते हैं।


अगर एक भारत में App Developer की सैलरी की बात करें तो फ्रेशर की सैलरी 4 से 5 लाख सालाना होती है। कुछ ऐसी कम्पनियां भी है जो App Developer को औसतन 10 से 12 लाख सैलरी देती है।


अगर एक App Developer के जॉब स्कोप के बारे में बात करें तो IBM, Oracle  इत्यादि बहुत सारे app developers कम्पनी है। लेकिन कई सारी ऐसी छोटी-छोटू कम्पनी है जो app development का काम करती है। आने वाले समय में इसका डिमांड बहुत बढ़ने वाली है।


दोस्तों अगर आपने मेरे इतने देर तक साथ दे ही दिया है तो मुझे पूरी उम्मीद है कि आप सिर्फ बहाने बनाने वाले में से नहीं हो। आप उन लोगों में से हो जो अपने कैरियर के लिए कुछ भी करने को तैयार है।


दोस्तों उम्मीद करता हूँ कि आपको ये Top 5 Highest Paying Jobs In India For Students/Fresher 2021 in Hindi काफी अच्छी लगी होगी। इन जॉब से रिलेटेड हर एक जानकारी देने की पूरी कोशिश किया हूँ। फिर भी अगर आपके पास कोई queries और suggestion हो तो हमारे साथ जरुर शेयर कीजिये।


साथ ही अगर आप आगे की career के बारे में सोच रहे हैं तो आपको Best Career Options For Students/Fresher In Hindi कितना मदद किया इसकी जानकारी हमें कमेंट करके जरूर दें।


MIT क्या है और इसमें एडमिशन कैसे लें?