Translate

ipl 2021 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
ipl 2021 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Chetan Sakariya Biography & Success Life Story In Hindi

Chetan Sakariya Biography & Success Life Story In Hindi

युवा तेज गेंदबाज चेतन सकारिया की जीवनी | Chetan Sakariya Biography & Success Story In Hindi

Chetan sakariya biography in hindi, chetan sakariya success story in hindi
Chetan Sakariya Biography In Hindi

आईपीएल 2021 का सीजन शुरू हो चुका है। उम्मीद है कि हर बार की तरह इस बार भी भारतीय टीम को कुछ नए सितारे मिल सकते हैं। आज हम आपको भारत के एक ऐसे उदीयमान खिलाड़ी के बारे में बताने वाले हैं जो आने वाले समय में निश्चित तौर पर टीम इंडिया का एक अहम हिस्सा होगा।


आईपीएल 2021 के नीलामी के दौरान दुनिया के कई बड़े खिलाड़ियों को रिकॉर्ड पैसों में खरीदा गया तो वहीं इस नीलामी में भारत के कुछ ऐसे उभरते हुए टैलेंट का नाम आया जो आने वाले समय में निश्चित ही भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करते दिखेंगे। उन सभी खिलाड़ियों में से एक नाम चेतन सकारिया का भी है जिसने टैक्सी चालक के बेटे से करोड़पति बनने तक का सपना देखा।


आईपीएल 2021 की नीलामी में राजस्थान रॉयल्स ने चेतन सकारिया को 1 करोड़ 20 लाख में अपने टीम में खरीदा। ये नीलामी चेतन सकारिया के लिए सपने सच होने जैसा था क्योंकि ये आईपीएल उनके कैरियर के लिए मिल का पत्थर साबित हो सकता है और उनको आगे बढ़ने का मौका भी दे सकता है। यहीं से शुरू होता है चेतन सकारिया के सफलता की कहानी की।


कहते हैं कि जिसमें असफलताओं को डंटकर सामना करने की हिम्मत है, उसमें मिलने वाली चुनौतियों को स्वीकार करने की ताकत हो, जिसमें अपने कमियों को दूर करने का जज्बा हो, जब तक सफलता हाथ न लगे तब तक नींद न आता हो। ये सभी बात आईपीएल 2021 में राजस्थान रॉयल्स के नए तेज गेंदबाज चेतन सकारिया की जीवनी पर बिल्कुल फिट बैठता है।


तो आइए चेतन सकारिया की जीवनी के माध्यम से हम जानते हैं कि कैसे एक टेम्पो चालक का बेटा आज पूरी दुनिया में अपने प्रतिभा का धूम मचा रहा है?


Chetan Sakariya Biography In Hindi | चेतन सकारिया का जीवन परिचय


दोस्तों चेतन सकारिया का जन्म 28 फरवरी 1998 को गुजरात के भावनगर में हुआ था।


पूरा नाम- चेतन सकारिया
निकनेम- चेतन
उम्र- 23 वर्ष(2021 के अनुसार)
पेशा- क्रिकेटर
भूमिका- तेज गेंदबाज
हाइट- 5 फीट 8 इंच
वजन- ग्रा
आंख का रंग- काला
बाल- काले रंग का
त्वचा- हल्का भूरे रंग का
राष्ट्रीयता- भारतीय
धर्म- हिन्दू
वैवाहिक जीवन- अविवाहित
कोच- राजेन्द्र गोहिल


चेतन सकारिया का फैमिली | Chetan Sakariya Parents


पिता का नाम- कांजी भाई
माता का नाम- वर्षाबेन
भाई- राहुल सकारिया(मृत)
बहन- जिग्नासा


Chetan Sakariya Struggle Life Story In Hindi


आइये दोस्तों चेतन सकारिया के बचपन के बारे में जानते हैं। चेतन के गरीबी का ऐसा हाल की क्रिकेट खेलने के लिए पांव में जुते तक नहीं थे लेकिन ऐसी हालत में क्रिकेट का जुनून ऐसा की इतनी सारी मुश्किलें भी कम लगती थी।


ये भी पढ़ें:-● यॉर्कर किंग टी नटराजन की जीवनी।

वनडे क्रिकेट के नए बादशाह बाबर आजम की जीवनी।


पांव में पहला जूता तब आया जब एक बल्लेबाज ने चेतन से आउट करने का शर्त लगा दिया। फिर क्या था चेतन ने उसको आउट कर दिया और वो बल्लेबाज ने अपना जूता गिफ्ट में उसे दे दिया।


परिवार के इतने माली हालत होते हुए भी चेतन अपना अभ्यास करना एक दिन भी नहीं छोड़ा। आईपीएल 2021 के नीलामी से दो साल पहले पिता ने टेम्पो चलाना छोड़ किसी दूसरे काम की तलाश में लग गए ताकि वो परिवार के जरूरतों को पूरा कर सकें।


चेतन सकारिया को क्रिकेट का ऐसा खुमार रहता था कि घर पर टीवी न होने के बावजूद अपने दोस्त के घर पर जाकर टीवी देखा करते थे और क्रिकेट के बारीकियों को ध्यान लगाकर समझते थे।


परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छा नहीं होने के चलते चेतन को पिछले कुछ समय से काफी मुश्किल परिस्थितियों से गुजरना पड़ा। जनवरी 2021 में चेतन सकारिया के छोटे भाई ने आत्महत्या कर लिया, जिसके बाद परिजनों में शोक का माहौल छा गया।


भाई के आत्महत्या के दौरान चेतन सकारिया शैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में टीम खेल रहे थे लेकिन उनके परिवार वालों ने इस बात की जरा भी भनक चेतन को नहीं लगने दी। टूर्नामेंट खत्म होने के बाद चेतन सकारिया जब वापस घर लौटे तो अपने भाई के मौत का खबर सुन सन्न रह गए। उनको इस बात का मलाल हमेशा रहता है कि काश! अगर भाई जिंदा होता तो आज सबसे ज्यादा खुश होता।


चेतन सकारिया का क्रिकेट करियर | Chetan Sakariya Success Story In Hindi

Chetan sakariya international cricket career in hindi, chetan sakariya success story in hindi
Chetan Sakariya Cricket Career

आईपीएल ने कई सारे गरीब क्रिकेटरों को सहारा दिया तो कई क्रिकेटर के लिए किस्मत चमकाने के जरिया बन गया। दुनिया के सबसे बड़ी टी-ट्वेंटी लीग में खेलना सारे क्रिकेटरों का सपना होता है और जब ये सपना पूरा होता है तो किसी सपने के सच होने जैसा लगता है।


18 फरवरी 2021 को जब आईपीएल के 14वें सीजन की नीलामी शुरू हुई तो देश-विदेश के कई सारे खिलाड़ियों को करोड़ों रुपये में खरीदा गया तो कुछ क्रिकेटरों को कम पैसों में खरीदा गया। लेकिन युवा क्रिकेटरों के लिए बस आईपीएल में सेलेक्शन हो जाना किसी चमत्कार से कम नहीं होता है।


कुछ ऐसा चमत्कार गुजरात के चेतन सकारिया के साथ भी हुआ जब राजस्थान रॉयल्स ने 1 करोड़ 20 लाख रुपये में अपने टीम में शामिल कर लिया। आज भले ही आईपीएल में अपने प्रदर्शन से धूम मचा रहा है।


चेतन सकारिया ने अपना लिस्ट ए में डेब्यू 2017-18 में सौराष्ट्र के लिए खेलते हुए विजय हजारे ट्रॉफी में किया था। चेतन सकारिया प्रथम श्रेणी में डेब्यू सौराष्ट्र के लिए खेलते हुए 2018-19 में रणजी ट्रॉफी में किया था। जहां उन्होंने अपने ही मैच में जबरदस्त छाप छोड़ते हुए पहली पारी में शानदार 5 विकेट चटकाए थे।


चेतन सकारिया ने टी-ट्वेंटी क्रिकेट करियर की शुरुआत 21 फरवरी 2019 को सैयद मुश्ताक अली ट्राफी में सौराष्ट्र के लिए खेलते हुए किया था।


चेतन सकारिया ने आईपीएल डेब्यू 12 अप्रैल 2021 को पंजाब किंग्स के खिलाफ करते हुए किया। जहाँ उन्होंने अपने शानदार प्रदर्शन करके सभी का ध्यान खींचने में कामयाब रहे। इस मुकाबले में चेतन सकारिया ने 4 ओवरों में कुल 31 रन देकर 3 महत्वपूर्ण विकेट हासिल किए। जिसमें उन्होंने केएल राहुल, मयंक अग्रवाल जैसे धुरंधर बल्लेबाजों को आउट किया।


लेकिन चेतन यहाँ पर भी कहाँ रुकने वाले थे। उसके बाद चेन्नई सुपरकिंग्स के खिलाफ भले ही उनकी टीम को हार का सामना करना पड़ा हो लेकिन उन्होंने इस मैच में भी शानदार प्रदर्शन करते हुए तीन महत्व विकेट चटकाए। इसमें महेंद्र सिंह धोनी जैसे दिग्गज बल्लेबाज का भी विकेट शामिल है। उसके बाद चेतन सकारिया का कोलकता के खिलाफ पकड़े गए बेहतरीन कैच ने तो उनको एक अच्छे फील्डर के रूप में भी शामिल कर लिया।


Chetan Sakriya Love Affairs


अभी हाल ही में बॉलीवुड की नई अभिनेत्री अनन्या पांडेय के साथ लव अफेयर में चेतन सकारिया का नाम जोड़ा जा रहा है। ये बात कितना सच है आने वाले समय में पता चल ही जायेगा। लेकिन इनके प्रदर्शन को देखते हुए कहा जा सकता है कि इनका नाम किसी अभिनेत्री के साथ जुड़ता है तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं होनी चाहिए।


चेतन सकारिया का नेट वर्थ


आइये दोस्तों गरीबी को पीछे छोड़ चुके चेतन सकारिया के नेट वर्थ के बारे में जानते हैं। 2021 के अनुसार चेतन का नेट वर्थ 1 करोड़ रुपये है जो हम उम्मीद करते हैं कि आने वाले समय में अपने प्रतिभा के दम पर इसको और आगे बढ़ाएंगे।


अपनी मेहनत से चेतन ने ये साबित कर दिया कि अगर लक्ष्य को पाने का जुनून हो तो दुनिया की कोई भी मुश्किल रोक नहीं सकती। लगातार मेहनत के दम पर वे अपने साथी खिलाड़ियों से आगे निकलते गए और आज एक जाना पहचाना स्टार बन गए हैं। बचपन से ही सपनों को हासिल करने का जज्बा ऐसा ही उसको हासिल करके ही दम लिया।


दोस्तों उम्मीद करते हैं कि आपको chetan sakariya biography in hindi काफी प्रेरणा देगा और आप भी अपने मुश्किलों को पीछे छोड़ सपनों को पाने के पीछे लग जाएंगे। अगर आपको चेतन सकारिया की जीवनी अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरूर करें।


ये भी पढ़ें:-

● तूफानी हरफनमौला खिलाड़ी हार्दिक पांड्या की जीवनी।

सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर की जीवनी।

किंग कोहली की बादशाहत खत्म करने वाले बाबर आजम की जीवनी।


हार्दिक पांड्या का जीवन परिचय | Hardik Pandya Biography In Hindi

हार्दिक पांड्या का जीवन परिचय | Hardik Pandya Biography In Hindi

Hardik Pandya Biography In Hindi | हार्दिक पांड्या की जीवनी

Hardik pandya biography in hindi,success story of hardik pandya in hindi
हार्दिक पांड्या की जीवनी

हार्दिक पांड्या का जीवन परिचय: एक ऐसा क्रिकेटर जिसके बारे में सचिन तेंदुलकर ने पहले ही भविष्यवाणी कर दी थी कि ये खिलाड़ी एक दिन टीम इंडिया का हिस्सा जरूर होगा। वहीँ वीरेन्द्र सहवाग ने तो यहाँ तक कह दिया था कि अगर टीम इंडिया का सारे बल्लेबाज आउट भी हो जाते हैं तो टेंशन ना लें हार्दिक पांड्या अकेले ही मैच जीता देगा।


130 करोड़ लोगों को निगाहें उन ग्यारह खिलाड़ियों पर टिकी रहती है जो क्रिकेट के मैदान में खेल रहे होते हैं। इस मैदान में खेलने वाले हर एक खिलाड़ी की एक अलग कहानी है, अलग-अलग जिंदगी से वो निकलकर आये हैं।


आज मैं आपको उन्हीं ग्यारह खिलाड़ी में एक ऐसे खिलाड़ी की सुनाऊंगा जो मैगी खाकर पला बढ़ा है। मैगी के बदौलत वो क्रिकेट को जी रहा था। मैगी खाकर वो पैसे बचाता था और क्रिकेट का समान इकट्ठा करता था।


आक्रामकता और आत्मविश्वास से लबरेज हार्दिक पांड्या जिसे बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में बराबर की महारत हासिल है। क्रिकेट प्रेमी इसे सिक्सर बॉय कहते हैं। चयनकर्ता उसके अंदर भविष्य की हरफनमौला खिलाड़ी वाली छवि देखते हैं।


हार्दिक पांड्या को भी ये मुकाम बगैर संघर्ष के नहीं मिला है। इसके पीछे की कहानी प्रेरणादायक भी है और प्रशंसनीय भी। तो चलिए दोस्तों प्रतिभावान खिलाड़ी हार्दिक पांड्या की जीवनी को जानते हैं कि कैसे वो गरीबी से लेकर अमीरी की ऊंचाइयों को छुआ।


दोस्तों आप इस मोटिवेशनल बायोग्राफी स्टोरी में बनें रहे। हम आपको अपनी आक्रामक बल्लेबाजी से दुनिया भर में पहचान बनाने वाले हार्दिक पांड्या की जीवनी के बारे में एक-एक बात पूरी विस्तार से बताते हैं।


हार्दिक पांड्या का जन्म और परिवार

हार्दिक पांड्या की शिक्षा

हार्दिक पांड्या का शुरुआती क्रिकेट करियर

हार्दिक पांड्या के संघर्ष की कहानी

हार्दिक पांड्या का आईपीएल करियर

हार्दिक पांड्या का अंतराष्ट्रीय क्रिकेट करियर

हार्दिक पांड्या का वैवाहिक जीवन

हार्दिक पांड्या की कुल सम्पति

हार्दिक पांड्या से जुड़ी 5 रोचक तथ्य


हार्दिक पांड्या का जन्म कब और कहाँ हुआ था | Biography Of Hardik Pandya In Hindi


दोस्तों भारत के धाकड़ बल्लेबाज हार्दिक पांड्या का जन्म 11 अक्टूबर 1993 को गुजरात के सूरत में एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था। बचपन में परिवार की आर्थिक स्थिति बिल्कुल खराब होने के कारण उनको काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा।


ये भी पढ़ें:- स्टार क्रिकेटर केएल राहुल की जीवनी।


उनके पिता क्रिकेट के बहुत बड़े प्रशंसक हैं। वो अक्सर हार्दिक को मैच दिखाने ले जाया करते थे। साथियों अगर हार्दिक पांड्या की हाइट की बात करें तो उनकी हाइट 183 cm है।


हार्दिक पांड्या का परिवार Family


पिता का नाम: हिमांशु पांड्या
माता का नाम: नलिनी पांड्या
भाई का नाम: कुणाल पांड्या
पत्नी का नाम: नताशा स्टेनकोविक
बेटे का नाम: अगस्त्य


हार्दिक पांड्या की शिक्षा | Hardik Pandya Education


इनसे दो साल बड़े भाई कुणाल पांड्या और हार्दिक पांड्या अपने बचपन के दिनों से ही पढ़ाई-लिखाई में कम और क्रिकेट में ज्यादा दिलचस्पी लेने लगे।


हार्दिक पांड्या की शिक्षा में रुचि नहीं रहती थी और वे खेलने में इतने व्यस्त रहने लगे कि वो नौवे क्लास में फेल हो गए और इसके बाद क्रिकेट पर पूरा ध्यान देने के लिए उन्होंने अपना पढ़ाई छोड़ दिया। पढ़ाई का बोझ पूरी तरह कंधों से उतर जाने के बाद दोनों भाई दिन रात क्रिकेट का दिन रात प्रैक्टिस करने लगें।


हार्दिक पांड्या का शुरुआती क्रिकेट करियर | हार्दिक पांड्या की जीवन कहानी


संघर्ष लम्बा था पर सफलता के लिए ये संघर्ष काफी जरूरी था। हार्दिक पांड्या का शुरुआती क्रिकेट करियर भी संघर्ष से भरा रहा। हार्दिक के साथ-साथ कुणाल पांड्या भी बेहतरीन क्रिकेट खेलते थे और पिता ने इन दोनों को क्रिकेट में करियर बनाने के लिए अपना व्यापार सहित पूरा परिवार सूरत से बड़ोदरा शिफ्ट होने का फैसला कर लिया।


उसके बाद वो जिस क्रिकेट अकादमी में वो गए उसका नाम द ग्रेट किरण मोरे की अकादमी। दोनों भाइयों की जबरदस्त प्रतिभा और परिवार की माली हालत को देखते हुए किरण मोरे ने ये फैसला लिया कि इन दोनों भाइयों की कोई फीस नहीं लगेगी।


ये भी पढ़ें:- भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद रावण का जीवन परिचय।


यानी कि इन दोनों भाइयों का करियर बनाने के लिए किरण मोरे का बहुत बड़ा हाथ रहा। एक तरफ दोनों भाई क्रिकेट में ट्रेनिंग लेने लगे तो दूसरी तरफ उनके पिता का व्यापार सिमटता चला गया। पांड्या परिवार को आर्थिक तंगी परेशान करने लगी।


हार्दिक के पिता को संघर्ष को देखते हुए किरण मोरे ने दोनों की ट्रेनिंग के बदले कोई भी शुल्क लेने से इनकार कर दिया। दोनों पांड्या भाई इस दुखद हालात में हिम्मत के साथ मैदान ओर बेहतरीन प्रदर्शन करने लगें।


हार्दिक पांड्या की संघर्ष भरी जीवन कहानी | Hardik Pandya Struggle Story In Hindi


हार्दिक और कुणाल के जीवन में अक्सर एक कहानी ऐसा भी है जिसको लेकर उनको काफी शर्मिंदगी महसूस होती थी। जब भी कोई किसी क्रिकेट मैच खत्म होता था तो उनके पिता किसी दूसरे से कहते थे कि हार्दिक और कुणाल को उनके घर तक ड्राप कर दें।


लेकिन कुछ दिनों तक ऐसे ही चलता देख कुणाल और हार्दिक पांड्या दोनों मिलकर अपने पिता से कहे- पापा हमें किसी की सहानुभूति नहीं चाहिए। हम ये नहीं चाहते कि आने वाले वक्त में कोई आपसे ये कहे कि तुम्हारे बच्चों को मुकाम हासिल करने में हमारा भी योगदान है।


हार्दिक पांड्या के परिवार की स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी। इसके बावजूद उनके पिता ने लोन पर एक कार ले लिया। कार की EMI दस हजार रुपये महीने भरने पड़ते थे।


कुछ समय के बाद उनके परिवार की आर्थिक स्थिति काफी बिगड़ गई जब पूरे परिवार का इकलौते देखरेख करने वाले पिता का हार्ट अटैक आ गया। जिसके चलते उनकी सारी जमा पूंजी खत्म हो गयी और लोन पर ली हुई कार की EMI भी हार्दिक नहीं भर पाते थे।


कार कहीं जब्त न हो जाये इसके लिए हार्दिक पांड्या ने दो साल तक कार को छुपा कर रखा। जिसके बाद बैंक ने उन्हें फ्रॉड घोषित कर दिया। हार्दिक पांड्या अपने संघर्ष के इन तीन सालों में एक-एक रुपये के लिए तरस गए थे।


पांच-दस रुपये भी बचा पाना हार्दिक के लिए मुश्किल हो गया था। यहाँ तक कि हार्दिक और कुणाल पांड्या लोकल टीम के लिए पैसे लेकर मैच खेलने लगे और हर मैच के 500 रुपये लेने लगे। तब जाकर उनका घर का खर्च चल पाता था।


अब क्रिकेट खेलकर ही कमाई करना और घर चलाना उनका एक मात्र जरिया बन गया था। ऐसे में हार्दिक पांड्या ने बेहतरीन खेल दिखाते हुए उस्ताद अली टूर्नामेंट में जबरदस्त प्रदर्शन किया और टूर्नामेंट को जीत लिया।


ये भी पढ़ें:- बॉलीवुड की चहेती सिंगर नेहा कक्कड़ की जीवनी।


उस टूर्नामेंट में हार्दिक पांड्या और कुणाल पांड्या दोनों भाइयों को अपने बेहतरीन प्रदर्शन के लिए लगभग 70-70 हजार रुपये मिले। मगर ये पैसा भी उनके कार की क़िस्त भरने के लिए काफी नहीं था। लेकिन कहते हैं कि पसीने की स्याही से जो लिखते हैं अपने इरादों को,उनके मुक्कदर के पन्ने कभी कोरे नहीं होते। हार्दिक पांड्या का किस्मत भी कुछ इसी तरह पलटा।


हार्दिक पांड्या का आईपीएल क्रिकेट करियर और सफलता की कहानी | Hardik Pandya IPL Career & Success Story in Hindi

Hardik pandya international cricket career in hindi,hardik pandya ipl career
Hardik Pandya Cricket Career


हार्दिक पांड्या का आईपीएल क्रिकेट करियर: जूनियर लेवल पर हार्दिक ने कई मुकाबले अपने दम पर टीम को जिताये और अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर जल्दी ही बड़ोदरा क्रिकेट टीम में शामिल हो गए।


हार्दिक पांड्या की किस्मत ने भी कुछ इसी तरह ही पलटा। कहते हैं न कि संघर्ष ही सफलता की जननी होती है। पांड्या सिर्फ मैगी खाकर मैदान पर प्रदर्शन करते थे। आर्थिक तंगी के कारण हार्दिक भोजन से पैसे बचाकर क्रिकेट का समान इकट्ठा किया करते थे।


2014 में हार्दिक पांड्या के एक क्रिकेट मैच खेलने के दौरान उनके पास खेलने के लिए बैट तक नहीं था। उनके उस बुरे वक्त में भारतीय क्रिकेट के स्टार क्रिकेटर रहे इरफान पठान ने उन्हें दो बैट गिफ्ट में दिए। उस मैच में उन्होंने 80 रनों की शानदार पारी खेली। यहीं से शुरू होती है हार्दिक पांड्या आईपीएल क्रिकेट करियर


उसी मैच के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कोच जॉन राइट की नजर उन पर पड़ गयी। उन्होंने इस खिलाड़ी को मुंबई इंडियंस के साथ दस लाख रुपये की कीमत में जोड़ लिया। यहीं से शुरू हुआ हार्दिक पांड्या के सफलता की कहानी का सिलसिला।


मुश्ताक अली टूर्नामेंट में अपने प्रदर्शन के दम पर 2015 के आईपीएल सीजन में मुंबई इंडियंस ने हार्दिक पांड्या को खरीद लिया। उसी साल मुंबई इंडियंस ने हार्दिक के अच्छे प्रदर्शन के दम पर टूर्नामेंट जीत लिया। जिसके बाद हार्दिक पांड्या को पचास लाख का चेक मिला। जो उनकी जिंदगी को बदलने के लिए काफी था। इसके बाद हार्दिक पांड्या के जिंदगी में जो हुआ वो पूरी दुनिया के सामने है।


मैदान पर दबाव के बाद भी टीम इंडिया के इस स्टार बल्लेबाज की बल्लेबाजी देखते ही बनती है। साल 2015 में हार्दिक पांड्या मुंबई इंडियंस में शामिल हुए। जहाँ उनकी मुलाकात क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर से हुई। सचिन तेंदुलकर ने हार्दिक से मुलाकात के बाद कह दिया था कि टीम इंडिया को एक नया सितारा मिलने वाला है।


टीम इंडिया और मुंबई इंडियंस को हार्दिक पांड्या ने कई मौकों पर अपने खेल के दम पर मैच जिताये और आज वो टीम इंडिया के मुख्य खिलाड़ियों में से एक माने जाते हैं। क्रिकेट के मैदान पर कितनी भी कठिन परिस्थितियां क्यों न हो जब तज हार्दिक पांड्या क्रीज पर रहते हैं दर्शकों को जीत की उम्मीद बनी रहती है।


हार्दिक पांड्या का अंतराष्ट्रीय क्रिकेट करियर | Hardik Pandya International Cricket Career In Hindi


हार्दिक पांड्या अपने क्रिकेट करियर में लगातार कीर्तिमान स्थापित करते जा रहे थे। आईपीएल में तो मानों मुंबई इंडियंस के लिए तुरुप का इक्का साबित हो रहे हैं। उनके अपने दमदार प्रदर्शन का इनाम भी मिला और उनको जनवरी में टी-ट्वेंटी क्रिकेट में भारतीय टीम में शामिल कर लिया गया। ये क्षण हार्दिक पांड्या के अंतराष्ट्रीय क्रिकेट करियर में किसी सपने के सच होने से कम नहीं था।


2016 कि जनवरी महीने में हार्दिक पांड्या ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पर्दापण किया। पांड्या को पहले ही मैच में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दो विकेट मिले। इसके बाद सितंबर 2016 में पांड्या को एकदिवसीय क्रिकेट में अपना पहला मैच खेलने का मौका मिला। अपने पहले ही मैच में न्यूजीलैंड के खिलाफ पांड्या को तीन विकेट मिले।


ये भी पढ़ें:- भारत के नम्बर 1 गायक सोनू निगम के सफलता की कहानी।


सितंबर 2016 में हार्दिक पांड्या ने भारतीय टीम के एकदिवसीय क्रिकेट टीम में भी जगह बना ली। इसके बाद तो आपको चैंपियंस ट्रॉफी में हार्दिक पांड्या का प्रदर्शन तो याद ही होगा। जब पाकिस्तान के खिलाफ भारत फाइनल मुकाबला हार गया था। लेकिन एक खिलाड़ी था जो इस मैच में जीत गया था वो था हार्दिक पांड्या।


उन्होंने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की और लगातार तीन छक्के भी लगाए। इससे पहले भी वो पाकिस्तान के खिलाफ लीग मैचों में भी ऐसा कारनामा कर चुके थे।


आईसीसी 2016 के चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भले ही भारत को पाकिस्तान के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा हो लेकिन हर कोई हार्दिक पांड्या का दीवाना हो गया। संकट में फँसी टीम इंडिया को इस स्टार ने अपने बल्ले से उबारने की कोशिश की तो ऐसा लगा कि जीत ज्यादा दूर नहीं है।


पर संयोग ऐसा ही बल्ले से जोड़ आजमाइश कर रहे पांड्या विकेट के बीच की दूरी को तय करते वक्त उसको पार नहीं कर सकें और रन आउट होकर पवेलियन लौट गए।


टी-ट्वेंटी और वनडे टीम का हिस्सा बनने के बाद हार्दिक पांड्या जुलाई 2017 में टेस्ट टीम का भी हिस्सा बनें। गाले में उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ टेस्ट मैच में पर्दापण किया और इसी सीरीज में उन्होंने अपने टेस्ट मैच का पहला शतक जड़ा।


स्वभाव से शांत हार्दिक पांड्या के चेहरे पर दबाव वाले मैचों में भी ये शांति झलकती है। ड्रेसिंग रूम में उनके मस्ती के बारे में कप्तान विराट कोहली भी कई बार इसके बारे में चर्चा कर चुके हैं।


पांड्या क्रिकेट से लेकर बाहरी दुनिया तक हर पल को एन्जॉय करने से नहीं चूकते तो वहीं वो इरफान पठान, यूसुफ पठान और केएल राहुल के अच्छे दोस्त भी माने जाते हैं।


हार्दिक पांड्या के खेल में लगातार निखार आ रहा है और गेंद के साथ बल्ले से भी उन्होंने गेंदबाजों को डरा रहे हैं। इतनी कम उम्र में ही उनकी तुलना भारत के महान क्रिकेटर कपिलदेव के साथ किया जा रहा है। इससे बड़ी बात उनके लिए क्या हो सकती है?


उम्मीद है कि हार्दिक पांड्या आने वाले दिनों में ऐसे ही शानदार क्रिकेट खेलते रहेंगे। हार्दिक पांड्या आगे चलकर क्रिकेट में बहुत ज्यादा नाम कमाएंगे या फिर क्रिकेट में नया इतिहास रचेंगे ये तो आने वाला वक्त ही बताएगा।


लेकिन इतना तो जरूर है कि कपिलदेव के बाद भारतीय क्रिकेट को जिस हरफनमौला खिलाड़ी की जरूरत थी वो हार्दिक पांड्या ने पूरी कर दी है।


हार्दिक पांड्या के बेटे का नाम | Hardik Pandya Wife History In Hindi

Hardik pandya marriage life story in hindi,hardik pandya wife name
Hardik Pandya Marriage


दोस्तों क्रिकेट के मैदान के अलावा हार्दिक पांड्या पर्सनल लाइफ में काफी खुलकर जीते हैं। आपको बता दूं कि हार्दिक पांड्या की शादी का कहानी भी किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है।


उन्होंने गुपचुप तरीके से पिछले कुछ दिनों से चली आ रही लव अफ़ेयर को विराम देते हुए दुबई में समुंदर के किनारे अपने दोस्त नताशा स्टेनकोविक को फिल्मी अंदाज में प्रोपोज किया था। नताशा ने भी बिना देर किए उनके साथ शादी के लिए तैयार हो गई।


ये भी पढ़ें:- यूपी के दबंग सीएम योगी आदित्यनाथ की कहानी।


आगे चलकर हार्दिक पांड्या ने 1 जनवरी 2020 को नताशा स्टेनकोविक से सगाई कर ली। इस तरह हार्दिक पांड्या का वैवाहिक जीवन काफी रोचक रहा। फिर 27 जुलाई 2020 को हार्दिक पांड्या की पत्नी ने एक बेटे को जन्म दिया, जिसका नाम अगस्त्य है।


आपको बता दें कि हार्दिक पांड्या की पत्नी नताशा का जन्म 4 मार्च 1992 को सर्बिया में हुआ था। वो पहले एक मॉडल और एक बेहतरीन डांसर थी और अब बॉलीवुड फिल्मों में काम करती है।


साल 2014 में आई सुपरहिट फिल्म सत्याग्रह से अपने बॉलीवुड कैरियर की शुरुआत करने वाली नताशा आज हार्दिक पांड्या के साथ एक सुखमय जीवन व्यतीत कर रही है।


हार्दिक पांड्या का नेट वर्थ | Hardik Pandya Lifestyle In Hindi


दोस्तों गरीबी की जंगल से निकलकर अमीरी तक का मुकाम हासिल करने वाले हार्दिक पांड्या का लाइफस्टाइल भी काफी शानदार है। ये जितना पैसा कमाते हैं उतना ही अपने लाइफस्टाइल पर खर्च भी कर डालते हैं। इनके पास एक से बढ़कर महंगी कार है।


हार्दिक पांड्या के कार कलेक्शन की बात करें तो इनके बस एक मर्सिडीज बेंज और बीएमडब्ल्यू है। वही हार्दिक पांड्या के कुल सम्पति की बात करें तो इनके पास लगभग 13 करोड़ रुपये से भी ज्यादा की सम्पति है।


हार्दिक पांड्या से जुड़ी 5 रोचक तथ्य Top 5 Interesting Facts About Hardik Pandya In Hindi


दोस्तों अब आपको हार्दिक पांड्या से जुड़ी 5 ऐसी रोचक तथ्य बताने जा रहे हैं जिसके बारे में आप शायद नहीं जानते होंगे।


● क्या आप जानते हैं हार्दिक पांड्या दुनिया के एक मात्र ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने आईपीएल के किसी एक ओवर में दो बार चार छक्के लगाने का कारनामा किया है।
● क्या आप जानते हैं हार्दिक पांड्या को शरीर पर टैटू बनवाने का बहुत शौक है। अक्सर आपने इनके टैटू मैदान पर भी देखा होगा।
● क्या आप जानते हैं हार्दिक पांड्या घर का खर्च चलाने के लिए 400 से 500 रुपये भाड़ा लेकर क्रिकेट खेला करते थे।
● क्या आप जानते हैं हार्दिक पांड्या के नाम ICC चैंपियंस ट्रॉफी में सबसे तेज अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड है। उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ मात्र 32 गेंदों में अपने पचास रन पूरे किए थे।
● क्या आप जानते हैं हार्दिक पांड्या शैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में एक ओवर में 39 रन जड़ दिए थे जो आज भी एक रिकॉर्ड है।

● इन्होंने हाल ही में ऑस्ट्रेलिया में सम्पन्न टी-ट्वेंटी सीरीज में भारत के नए यॉर्कर किंग टी नटराजन के साथ अपना मैन ऑफ सीरीज अवार्ड शेयर करके खूब सुर्खियां बटोरी थी। 

आप भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाजी के भविष्य टी नटराजन के ठेले पर चिकेन बेचने से लेकर टीम इंडिया का स्टार तेज गेंदबाज बनने तक कि कहानी यहाँ पढ़ सकते हैं।


 >यॉर्कर किंग के नाम से मशहूर टी नटराजन की जीवनी।


तो दोस्तों ये थी हार्दिक पांड्या की संघर्ष से भरी जीवन कहानी। जिसे हमें ये सिख मिलती है कि जिंदगी का सफर जितना अधिक कठिनाइयों से भरा होगा लक्ष्य को हासिल करने के बाद सफलता का मजा भी उतना ही ज्यादा होगा।


उम्मीद करता हूँ कि आपको हार्दिक पांड्या की जीवनी काफी पसंद आई होगी। अगर आपको ये जीवनी अच्छी लगी हो तो इसको शेयर जरूर करें। साथ ही आपको हार्दिक पांड्या का जीवन परिचय से क्या सिख मिली कमेंट करके जरूर बताएं।